साल 2019, देश में बदलाव की संभावना का साल माना जा रहा. बदलाव का बड़ा पैमाना है लोकसभा चुनाव. किसकी सरकार आएगी और किसकी जाएगी इसका पता तो चुनाव के बाद ही चलेगा. पर सरकारों का क्या, सरकारें तो होती ही हैं बदलने के लिए. भाई, देश में लोकतंत्र है. तानाशाही तो है नहीं. इसलिए कौन सी पार्टी के मुखिया देश संभालेंगे, जनता की सेवा करेंगे या देश में राज करेंगे ये तो मार्च के महीने में ही पता लगेगा.

प्रतीकात्मक तस्वीर, फोटो साभार – गूगल

फिलहाल माहौल ये है कि सत्ता में आने के लिए सभी पार्टियां अपने-अपने तरीके से प्लानिंग कर रही हैं. सबकी अपनी-अपनी रणनीति है. अब कांग्रेस को ही देख लीजिये. ख़बर है कि कांग्रेस पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव में करीना कपूर को टिकट दे रही है. सच्ची? वेट.. ये अंतिम सत्य नहीं है.

पूरा माजरा कुछ यूं है –

बात ये है कि ‘विधानसभा चुनाव में जीत के बाद कांग्रेस पार्टी में दौड़ी ख़ुशी की लहर’ वाली हेडलाइन अखबारों के पहले पन्ने में छपने के बाद पार्टी के नेताओं से लेकर कार्यकर्ता तक लोकसभा चुनाव के लिए भी तैयारी में जुट गए है. मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कांग्रेस पार्टी के पार्षदों ने एक मीटिंग के दौरान लोकसभा में पार्टी की जीत का आइडिया दिया है. आइडिया ये कि अबकी बार भोपाल की संसदीय सीट पर बॉलीवुड अभिनेत्री करीना कपूर खान को टिकट दी जाये. क्यों? क्योंकि करीना कपूर की युवाओं के बीच अच्छी फैन फॉलोइंग है. जिसके चलते पार्टी के जीतने की संभावना बढ़ जाएगी. ये रणनीति अपनाने का आइडिया दिया है पार्षद गुडडू चौहान और अनीस खान ने.

दोनों का कहना है कि करीना कपूर पटौदी खानदान की बहू हैं और पटौदी खानदान का भोपाल से पुश्तैनी रिश्ता है. ऊपर से करीना कपूर खान महिला अभिनेत्री हैं तो इस लिहाज से उनको युवाओं और महिलाओं के वोट बड़ी आसानी से मिल जाएंगे.

प्रतिकात्मक तस्वीर, फोटो साभार- गूगल

भई वाह! काफी उम्दा रणनीति है. पर हम क्या कह रहे थे कि एक बार करीना कपूर खान और पटौदी परिवार से भी पूछ लिया जाता कि वो खुद भी चुनाव के मैदान में उतारने के लिए तैयार है क्या?

नहीं, मतलब बात ये है कि कई सालों पहले सैफ के पापा नवाब पटौदी साहब भी कांग्रेस पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़े थे. पर, सिर्फ लड़े थे; जीत नहीं पाये थे. खैर, वो बीते जमाने की बात है. हो सकता है करीना कपूर इसी बात पर चुनाव लड़ने को तैयार हो जाये कि अबकी जीत कर पटौदी साहब के हार की भरपाई करनी है.

कांग्रेस के बड़े लोग दोनों पार्षदों के इस आइडिया पर विचार-विमर्श के लिए तैयार हो गए है. कहा जा रहा कि जल्द ही मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिलकर इस पर सीरियसली कदम उठाने की कोशिश की जाएगी. देखिये क्या होता है! करीना कपूर कांग्रेस का हाथ थामेंगी या नहीं इसकी ख़बर जैसे ही आएगी एचएम आपको आपको बता देंगे.