किस्मत बहुत ही बेकार चीज होती है मालिक! अगर अच्छी न हो तो मुंह तक आई हुई पारले-जी बिस्कुट भी चाय के प्याले में गिर जाती है. किस्मत अच्छी न हो तो जिसको आप पूरी परीक्षा में चीटिंग करवाओ उसके नंबर आपसे ज्यादा आ जाते हैं. किस्मत अच्छी न हो तो आप भले ही देशहित की बात करें लेकिन आपको सब देशद्रोही बुलाने लगते हैं.( लास्ट वाली लाइन द कच्चा चिटठा अपने पर्सनल एक्सपीरियंस से बोल रहा है.)

ऐसी ही किस्मत के लाले नॉएडा में दो लूटेरों को पड़ गए. इंडियाटाइम्स की एक खबर के अनुसार नॉएडा के सेक्टर 82 में दो लूटेरे एक एटीएम लूटने के इरादे से घात लगा के बैठे हुए रहते हैं. जैसे ही एटीएम में कैश भरने वाली गाडी वहां आती है. दोनों लूटेरे हरकत में आ जाते हैं. देसी कट्टा निकाल हवा में लहराते हैं और 40 लाख कैश से भरे हुए एक बैग को लूट कर बाइक से भाग निकलते हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर. फोटो साभार: गूगल

यहाँ तक कानून के हिसाब से सब गलत और लूटेरों के हिसाब से सब सही चल रहा था. पर कहानी में अभी ट्विस्ट आना बाकी था. अभी लूटेरे बाइक से भाग ही रहे थे कि उनकी बाइक एक गाडी से टकरा जाती है. लूटेरे गिर जाते हैं और उनका लूटा हुआ पैसा रोड पर बिखर जाता है और आपको पता ही है कि पैसा देख कर हम भारतीयों की आँखें डबल एक्सएल साइज़ की हो जाती है. यही बात नॉएडा वाले लोगों पर फोलो हो गयी. आसपास की पब्लिक ने नोटों की गद्दी पर झपटा मार दिया. जिससे जितना बन पड़ा उतना बटोर कर वहां से भाग निकला.

मज़ा आया पढ़ कर? आया तो होगा. पर किस्मत की पनौती वाली कहानी अभी और बाकी है. पैसा लूटते देख एक लूटेरा वहां जमा लोगों को भगाने के लिए हवाई फायर करने की कोशिश करने लगा. गोली तो नहीं चली पर बाइक जरुर चल गयी और उसका साथी उसे अकेला छोड़ बाइक पर सवार होकर भाग निकला.

प्रतीकात्मक तस्वीर. फोटो सोर्स: गूगल

बेचारा अकेला लूटेरा पुलिस के हत्थे लग चुका है. पुलिस वालों का कहना है कि पकडे गए लूटेरे का नाम ‘नन्हे’ है. ‘नन्हे’ साहब बुलंदशहर के रहने वाले हैं. उनके पास से एक पिस्टल, दो देसी कट्टे और लगभग साढ़े 19 लाख रुपये बरामद हुए हैं.

तो इस कहानी से यह बात तो साफ़ हो जाती है कि नन्हे साहब की किस्मत भी नन्ही ही थी. इसी वजह से उनका प्लान सक्सेसफुल नहीं हो पाया. खैर, बुरे काम का बुरा नतीजा वाली बात भी यहाँ सटीक बैठती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here