पुलवामा हमले के बाद से पूरा देश पाकिस्तान पर कार्यवाई करने की लगातार मांग कर रहा था। भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनावी रैलियों में दिये गए भाषणों से यह साफ झलक रहा था कि पाकिस्तान पर भारतीय फौज कोई न कोई कार्यवाई करेगी लेकिन यह कब और कैसे होना था इसकी किसी को कोई खबर नहीं थी।

आज सुबह साढ़े तीन बजे भारतीय वायुसेना ने एलओसी पार कर आतंकी संगठन के कैंपों को पूरी तरह से तबाह कर दिया। न्यूज़ एजेंसी एएनआई के सूत्रों से खबर आई है कि भारतीय वायुसेना द्वारा किए गए इस कार्यवाई में बालाकोट, चकोठी और मुजफ्फराबाद में मौजूद आतंकी लॉंचपैड पूरी तरह से नष्ट कर दिये गए हैं।

 


अभी तक भारतीय सेना की तरफ से कोई आधिकारिक बयान इस कार्यवाई को लेकर नहीं आई है पर अलग-अलग भारतीय मीडिया चैनल्स के माध्यम से यह खबर आ रही है कि कुल 12 मिराज विमान इस ऑपरेशन में शामिल हुए थे। पुलवामा हमले में शामिल आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद को इस कार्यवाई में बहुत नुकसान पहुंचा है। वायुसेना के इस हमले में जैश-ए-मोहम्मद के कई आतंकी कैंप ध्वस्त हो गए और वायुसेना ने जैश के कंट्रोल रूम को पूरी तरह तबाह कर दिया।

इस कार्यवाई के बाद से नेताओं के बयान भी आने शुरू हो गए हैं। कॉंग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले पर ट्वीट करते हुए भारतीय वायुसेना को सलाम किया है। इससे पहले भी राहुल गांधी ने पुलवामा में हुए आतंकी हमले को लेकर सरकार का साथ देने की बात कही थी।

 


अरविंद केजरीवाल ने भी इस मामले को लेकर ट्वीट किया है। उन्होने कहा है कि वे भारतीय वायुसेना के हौसले को सलाम करते हैं।

 


आपको बता दें कि यह पहला मौका है जब भारतीय वायुसेना ने एलओसी को पार किया हो। इससे पहले ऐसा कभी भी नहीं हुआ था। यहाँ तक कि कारगिल युद्ध के दौरान भी भारतीय वायुसेना ने एलओसी को पार नहीं किया था।

वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान में इस मामले को लेकर इमरजेंसी बैठक बुला ली गयी है। पाकिस्तान ने भी भारत की ओर से हुए इस कर्रवाई को माना है। पाकिस्तानी मीडिया और सेना के प्रवक्ता ने कहा है कि भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने एलओसी क्रॉस की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here