भारतीय वायुसेना द्वारा जिस तरह से पाकिस्तान में बमबारी कराया गया उससे पाकिस्तान पूरी तरह से सहमा हुआ है। एक तरफ जहां पाकिस्तान की आवाम भी चाहती थी कि अब किसी तरह की जंग न हो तो वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का कहना था कि अगर भारत किसी तरह की कार्रवाई करने की कोशिश करेगा तो पाकिस्तान के तरफ से भी इसका जवाब दिया जाएगा।

प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो साभार: गूगल

शायद इस बयान के बाद पाकिस्तानी आर्मी अभी कुछ सोचती कि उसके पहले ही भारतीय वायुसेना ने 12 मीराज-2000 लड़ाकू विमान के साथ पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) और पख्तूनख्वाह प्रांत में काफी अंदर घुसकर एयर स्ट्राइक को अंजाम दे दिया। इस घटना के बाद जहां भारतीय वायुसेना की चारों तरफ वाहवाही हो रही है। वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान सदमे में है। यहां यह भी जान लिजीए कि सोमवार को पाकिस्तान आर्मी ने अपने देश के अस्पतालों को अगाह किया था कि और विस्तर बढ़ा ले ताकि सैनिको को सही से इलाज कराया जा सके लेकिन शायद उन्हे इस बात की बिल्कुल खबर नहीं था कि भारतीय वायुसेना कुछ इस तरह की प्रतिक्रिया देगा।

यह तो बात हो गई एयर स्ट्राइक की लेकिन जिस तरह से भारतीय वायुसेना ने अपने ट्विटर पर रामधारी सिंह दीनकर की लिखी हुई एक कविता की कुछ पंक्तियां ट्वीट की है।

 


भारतीय वायुसेना की इस कर्रवाई की गूंज आज पूरी दुनिया में गूंज रही है। लेकिन साथ ही साथ ट्वीट किया गया यह लाइन ‘क्षमाशील हो रिपु-समक्ष तुम हुए विनीत जितना ही, दुष्ट कौरवों ने तुमको कायर समझा उतना ही…।’ काफी चर्चा का विषय बना हुआ है।

यह पंक्ति ‘राष्ट्रकवि’ रामधारी सिंह दिनकर द्वारा लिखी गई है जिसका अर्थ है जब जब इंसान क्षमाशिल होता है उसके शत्रु उतना ही उसे कमजोर समक्षते हैं और जब दुश्मन से विनती करो तो वो कायर समझ लेते हैं। आपको बता दें कि 23 सितंबर 1908 को जन्मे कवि रामधारी सिंह दिनकर हिन्दी के महान कवियों में से एक हैं। दिनकर को आधुनिक युग के श्रेष्ठ कवियों में से एक माना जाता है। दिनकर अपनी क्रांतिपूर्ण कविताओ के लिए हमेशा से लोगों के बीच लोकप्रिय रहे हैं।

इस पंक्ति को शेयर करने के बाद इंडियम आर्मी ने अपने इरादे साफ स्पष्ट कर दिये हैं कि और पाकिस्तान को भी अगाह कर दिया है कि अगर आतंकी हमें कमजोर समझने की गलती कर रहे हैं तो यह उनकी सबसे बड़ी भुल है और कुछ नहीं। इंडियन आर्मी के इस ट्वीट के बाद लोगों के प्रतिक्रियाएँ भी आने शुरु हो गए हैं। कई लोग इसे भारत की जय बता रहे हैं तो कई लोग इस जीत को पुलवामा हमले का सही मायने में बदला बोल रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here