भारत में जियो आने के बाद से ही डिजीटल इंडिया का हल्ला है. हां वो मोदी जी वाला ही. जियो के आने के बाद से ही हर घर की देहरी तक इंटरनेट ने दस्तक दे दी. भले ही लोग पढ़ना न जानते हो, पर इंटरनेट पर वीडियो देखना ज़रूर जानते हैं और वीडियो देखेंगे कहा ? हां वही जो आप सोच रहे हैं. यूट्यूब पर. यूट्यूब ऑनलाइन वीडियो का सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म है. करोड़ो लोग दुनिया के हर कोने से इसका इस्तेमाल करते हैं. अभी हाल में यूट्यूब ने एक फैसला लिया है. अपने प्लेटफॉर्म से सभी आपत्तिजनक वीडियो को हटाने का. माने वो सभी वीडियो जो मानवता को नुकसान पहुंचाते हैं, जिन्हें लोगो ने सबसे ज़्यादा ना पसंद किया हो और या फिर जिन्हें किसी ने देखा ही न हो.
यूट्यूब ने 78 लाख वीडियो हटा दिए हैं. इन वीडियो को डिलिट करने के बाद यूट्यूब ने इस मामले में अपना बयान जारी किया जिसमें उन्होने कहा-

‘जब हमने एक वीडियो को हमारी गाइंडलाइन्स का उल्लंघन करते हुए पाया तो हमने उसे डिलीट कर दिया और चैनल पर कार्रवाई की. हम पूरे चैनल को ही बंद कर देंगे अगर वे हमारी गाइंडलाइन्स के विरुद्ध कुछ भी पोस्ट करेंगे या बाल यौन उत्पीड़न जैसे गंभीर मुद्दे को लेकर एक भी बार इसका उल्लंघन करेंगे।’

यूट्यूब इस तरह की चीज़ो से लड़़ने के लिए आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल कर रही है. 2017 में इनकी टीमों ने इस तरह की लर्निक तकनीक की शुरूआत की थी.

यूट्यूब ने आगे कहा-

‘सितंबर में 90 फीसदी से ज्यादा अपलोडेड वीडियो को वॉयलेंट होने और बाल सुरक्षा के खिलाफ होने के कारण हटा दिया गया, जिन्हें 10 से भी कम लोगों ने देखा था।’

बंधु, अभी तो हमने कम कहा है, ज़्यादा समझना हो तो  यूट्यूब पर वीडियो अपलोड करते हुए पहले ज़रा जांच-पड़ताल करना कि कहीं वो यूट्यूब के गाइडलाईंस का उल्लंघन तो नहीं करता औऱ लोग उसे देखना पसंद करेंगे भी या नहीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here