राफेल एक बार फिर से सियासत के गलियारे में डोलने लगा है। कांग्रेस के लिये तो राफेल तुरूप का इक्का बन गया है। इसी राफेल डील पर राहुल गांधी सरेआम प्रधानमंत्री को चोर कहकर संबोधित करते हैं। रैलियों में जमकर बरसते हैं। जैसे ही सुप्रीम कोर्ट में सरकार की तरफ से बयान आया कि राफेल डील के कागज गायब हो गये हैं। सियासी गलियारों में आरोपों का दौर शुरू हो गया और इसी कड़ी में राहुल गांधी ने प्रेस काॅन्फ्रेंस की।

Image result for rahul gandhiप्रेस काॅन्फ्रेंस में राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर आरोप लगाये और दस्तावेज चोरी होने पर उनकी मौज ली। उन्होंने दावा किया है कि ये भ्रष्टाचार का मामला है और इसकी कार्रवाई होनी चाहिये।

राहुल गांधी ने प्रेस काॅन्फ्रेंस में सवाल किया कि अगर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पाक साफ हैं तो वे जांच से क्यों भाग रहे हैं? दस्तावेज गायब होने पर राहुल गांधी ने निशाना साधते हुये कहा, ‘एक नई लाइन सामने आई है। दो करोड़ रोजगार गायब हो गया। किसानों के बीमा का पैसा गायब हो गया, 15 लाख रुपये गायब हो गए और अब राफेल की फाइलें गायब हो गईं।’

 


राहुल गांधी आगे बोले, कोशिश यह की जा रही है कि किसी भी तरह से नरेन्द्र मोदी का बचाव करना है। इस सरकार का एक ही काम है चौकीदार का बचाव करना। न्याय सबके के लिये एक जैसा होना चाहिये। एक तरफ आप कह रहे हैं कि कागज गायब हो गये हैं और दूसरी तरफ आप कह रहे हैं कि आप सच्चे हैं। इन कागजों में साफ है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गलत हैं और उन पर कार्रवाई होनी चाहिये। राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि राफेल की आपूर्ति समय पर नहीं हुई क्योंकि मोदी जी अनिल अंबानी को पैसा देना चाहते थे।

सुप्रीम कोर्ट में इस मामले पर 6 मार्च 2019 को सुनवाई हो रही थी। तब सरकार ने बताया कि राफेल डील के दस्तावेज रक्षा मंत्रालय से चोरी हो गये हैं। इसके बाद से सोशल मीडिया पर मौज ली जा रही है और विपक्ष मोदी सरकार को घेरने की कोशिश कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here