चुनाव आयोग द्वारा जैसे ही चुनाव की तारीख की घोषणा की गई उसके बाद सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपनी-अपनी कमर कसनी शुरु कर दी है। इस लोकसभा की बात करें तो पूरे देश में दो तरह से चुनाव होने वाला हैं या ये कहें कि इस बार बीजेपी और कांग्रेस का सीधा मुकाबला है। किसी राज्य में ये दोनों पार्टियां आमने-सामने हैं तो किसी राज्य में ये पार्टियां अपनी सहयोगी पार्टियों की मदद से चुनावी अखाड़े में एक दूसरे को पटखनी देने के लिए तैयार हैं। इन सब के बीच एक और बात जो गौर करने वाली है कि इस लोकसभा चुनाव में देश के बडे-बड़े दिग्गज नेताओं के चुनाव के क्षेत्रों पर सबकी नज़र रहेगी। आइए जानते है कुछ ऐसे ही हाई प्रोफाइल क्षेत्रों के बारे में जिस पर केवल पार्टी की ही नहीं बल्कि देश की भी नज़र हैं।

वाराणसी

Image result for narendra modi and arvind kejriwal
फोटो सोर्स – गूगल

इस लोकसभा चुनाव में अगर किसी क्षेत्र को सबसे ज्यादा हॉट सीट कहें तो वह वाराणसी ही है। इस साल भी इस क्षेत्र से प्रधानमंत्री ही चुनाव लड़ने वाले है। हालांकि यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि इस साल ‘आप’ प्रमुख अरविन्द केजरीवाल यहां से चुनाव लड़ेंगे या नहीं। लेकिन प्रधानमंत्री ने यहां से लड़ने का संकेत दे दिया है।

अगर बात करें 2014 की तो प्रधानमंत्री ने अरविन्द केजरीवाल को 371784 वोटों से हराया था। वहीं कांग्रेस, बसपा और सपा के प्रत्याशियों का हाल काफी बुरा था क्योंकि वे अपनी जमानत भी नहीं बचा पाए थे। तो इस बार भी बीजेपी को इस सीट से जीत की उम्मीद रहेगी। वाराणसी सीट पर चुनाव आखिरी चरण में यानि के 19 मई को होगा।

अमेठी

Related image
फोटो सोर्स: गूगल

वैसे तो इस सीट पर साल 2004 से लगातार कांग्रेस ही जीतती आई है क्योंकि इस सीट से राहुल गांधी 2004 से लगातार सांसद है। तो कांग्रेस यही चाहेगी कि इस बार भी चुनाव में जीत का सिलसिला बरकरार रखें। वहीं अगर देखा जाए तो 2014 में बीजेपी ने स्मृति ईरानी को राहुल गांधी के खिलाफ मैदान में उतारकर चुनाव को दिलचस्प बना दिया था लेकिन राहुल गांधी को एक बार फिर इस लोकसभा क्षेत्र ने स्वीकार किया यानि अमेठी ने एक बार फिर ‘हाथ का साथ’ दिया। आप के कुमार विश्वास भी राहुल के सल्तनत को नहीं हिला सके और राहुल गांधी ने स्मृति ईरानी को 1,07,903 वोट से हरा दिया था। यहां पांचवें चरण में 6 मई को वोट डाले जाएंगे।

रायबरेली

Image result for SONIA gandhi
फोटो सोर्स: गूगल

कांग्रेस का गढ़ कहे जाने वाले इस सीट पर एक बार फिर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जनता से रुबरु करते नज़र आएगी। प्रियंका के राजनीति में प्रवेश करने के बाद ऐसी संभावनाएं जताई जा रही थी कि रायबरेली से सोनिया गांधी की जगह प्रियंका गांधी चुनाव लड़ेंगी लेकिन इन सभी अटकलों के बीच सोनिया गांधी ने यहां से एक बार चुनावी रण के लिए बिगुल फुंक दिया है। अगर बात करें पिछले चुनाव की तो सोनिया गांधी को टक्कर देने के लिए बीजेपी ने अजय अग्रवाल को चुनावी मैदान में उतारा था लेकिन वे कुछ खास नहीं कर पाए। 2014 में सोनिय़ा को जहां 526434 वोट मिले थे तो वही बीजेपी के अजय अग्रवाल मात्र 173721 वोट लेने में कामयाब रहें थे। 2004 से लगातार यहा सांसद रही सोनिया को एक बार फिर प्रबल दावेदार के रुप में देखा जा रहा है। रायबरेली लोकसभा सीट पर पांचवे चरण में 6 मई को वोट डाले जाएंगे।

लखनऊ

Image result for RAJNATH
फोटो सोर्स: गूगल

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ भी हाई प्रोफाइल सीटों में शुमार है क्योंकि इस सीट का प्रतिनिधित्व गृहमंत्री राजनाथ सिंह कर रहें हैं। इस लोकसभा सीट की बात करें तो 1999 से लेकर 2014 तक यह सीट बीजेपी के साथ रहा है मतलब साफ है कि राजनीति मामले में लखनऊ का अगर कोई ‘नवाब’ है तो वो बीजेपी ही है। साल 2014 में राजनाथ सिंह को 561106 वोट मिले थे तो वही कांग्रेस की रीता बहुगुणा को 288357 वोट ही मिले थे। इसलिए इस बार फिर यह प्रश्न है कि क्या बीजेपी लखनऊ में अपने सांसद के चुनावी प्रदर्शन को बरकरार रख पाएंगी। इस सीट पर पांचवें चरण में यानि 6 मई को चुनाव होने वाला है।

वडोदरा

Image result for MODI
फोटो सोर्स: गूगल

इस सीट की अहमियत इसी से समझी जा सकती है कि इस पर 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री मोदी ने चुनाव लड़ा था लेकिन वाराणसी और वडोदरा दोनों जगह से चुनाव जीतने के बाद नरेन्द्र मोदी ने इस सीट को छोड़ दिया था जिसके बाद यहां उपचुनाव हुआ। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी की अगर बात करें तो उन्हें 2014 में 8,45,454 वोट प्राप्त हुए थे वहीं उनके विपक्षी मधुसुदन देवराम को 275536 वोट मिले थे। एक बार फिर इस सीट को लेकर चर्चाएं शुरु हो गई है। इस सीट के लिए चुनाव तीसरे चरण में 23 अप्रैल को होगा।

गांधीनगर

Image result for lal krishna advani
फोटो सोर्स: गूगल

हाई प्रोफाइल लोकसभा सीट के कड़ी में गुजरात का गांधीनगर भी शामिल है। इस लोकसभा सीट पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण अडवाणी चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहें हैं। 2014 में इस सांसदीय क्षेत्र से लगातार 5वीं बार लोकसभा सांसद चुने गए अडवाणी इस बार भी चुनाव में जीत के प्रबल दावेदार हैं। 2014 की अगर बात करें तो लाल कृष्ण अडवाणी को 773539 वोट मिले थे जबकी उनके विपक्षी कृतिभाई ईश्वर भाई पटेल को 290419 वोट मिले थे। इस सीट पर तीसरे चरण में 23 अप्रैल को वोटिंग होगी।

पीलीभीत

Image result for MENKA GANDHI
फोटो सोर्स: गूगल

इस सांसदीय क्षेत्र की प्रतिनिधित्व केन्द्रिय मंत्री मेनका गांधी कर रही हैं। 2014 में जहां मेनका गांधी को 546934 वोट मिले थे तो वहीं सपा के नेता बुधसेन वर्मा को 239882 वोट से ही संतोष करना पड़ा था। यह सीट काफी हद तक मेनका गांधी के इर्दगिर्द घुमता रहता है क्योंकि 1984 के बाद इस सीट पर मेनका ने कांग्रेस से अलग होकर चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। फिर दो बार बीजेपी ने यहां जीत दर्ज किया और बाद में साल 1996 से लेकर 2004 तक मेनका लगातार चार बार सांसद रही। साल 2009 में उन्होने अपने बेटे को चुनाव के लिए उतारा और जीत हासिल की लेकिन फिर 2014 में मेनका वापस आई और जीत दर्ज कर छठी बार सांसद बनी। इस वजह से एक बार फिर यहां मेनका गांधी को जीत के प्रबल दावेदार के रुप में देखा जा रहा हैं। इस सीट पर तीसरे चरण में 23 अप्रैल को वोटिंग होगी।

सुल्तानपुर

Image result for VARUN GANDHI
फोटो सोर्स: गूगल

इस सीट के लिए केन्द्रिय मंत्री मेनका गांधी के बेटे वरुण गांधी प्रबल दावेदार के रुप में देखें जा रहें हैं। बात करें अगर 2014 की तो वर्तमान सांसद वरुण गांधी ने बसपा के पवन पांडेय को हराया था। बताया जा रहा है कि 2014 में वरुण गांधी को 410348 वोट मिला था तो वहीं दूसरे स्थान पर रहे पवन पांडेय को 178902 वोट मिल पाया था। इस सीट के लिए एक और खास बात सामने आ रही है कि कांग्रेस प्रियंका को इस सीट से चुनाव में खड़ा कर सकती है। हालांकि इस बात की अधिकारिक घोषणा अभी तक नहीं हुई है। इस सीट के लिए वोटिंग छठे चरण में 12 मई को होगी।

मैनपूरी

Image result for MULAYAM
फोटो सोर्स: गूगल

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के लिए यह सीट काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। सपा का गढ़ कहे जाने वाले इस सीट पर साल 2014 में मुलायम सिंह यादव ने दो सीटों से चुनाव जीता था जिसके बाद उन्होंने मैनपूरी लोकसभा सीट छोड़कर आजमगढ़ सीट को चुना था। जिसके बाद मुलायम यादव के परिवार के ही सदस्य तेज प्रताप यादव जो यादव परिवार की तीसरी पीढ़ी है, राजनीति सफर की शुरुआत में ही बड़े अंतर से जीत भी हासिल की। मैनपुरी संसदीय सीट पर तीसरे चरण में 23 अप्रैल को मतदान होगा।

कन्नौज

Related image
फोटो सोर्स: गूगल

इस सीट की बात करें तो सपा के लिए यह सीट भी मैनपुरी जैसा महत्वपूर्ण है क्योंकि यहां मुलायम सिंह यादव की बहू और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नि डिंपल यादव मुख्य दावेदार थी लेकिन अखिलेश यादव ने इस बार खुद कन्नौज से चुनाव लड़ने के संकेत दे दिए हैं। सत्ता में रहने के बाद भी डिंपल यादव को जीत के लिए काफी कड़ी टक्कर मिली थी। मात्र 19,907 वोट को अंतर से जीतने में वो तब कामयाब हो पायीं थी। कन्नौज में मतदान चौथे चरण में 29 अप्रैल को होगा.

गुना

Image result for jyotiraditya scindia
फोटो सोर्स: गूगल

इस बार उत्तरप्रदेश की बागडोर कांग्रेस के लिए दो लोगों ने संभाला है जिसमें पहला नाम प्रियंका का है तो वहीं दूसरा ज्योतिरादित्या का। गुना लोकसभा सीट से ज्योतिरादित्या चुनाव के मैदान में बिगुल फुंकेंगे। पिछली लोकसभा चुनाव में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने प्रतिद्वंदी को 1.20 लाख वोटों से करारी शिकस्त दी थी। लेकिन वहीं विधानसभा में कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा था। इस नज़रिये से देखा जाए तो ज्योतिरादित्य के लिए इस बार का लोकसभा चुनाव काफी मुश्किल होने वाला है। इस सीट के लिए मतदान छठे चरण में 12 मई को होगा.

अमृतसर

Image result for arun jaitley
फोटो सोर्स: गूगल

इस सीट का भी महत्व काफी है क्योंकि इस सीट से अरुण जेटली चुनाव लड़ने वाले हैं। पंजाब की अमृतसर लोकसभा सीट इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में इस सीट से अरुण जेटली ने चुनाव लड़ा था। हालांकि, वह चुनाव हार गए थे. इस सीट पर कांग्रेस के कैप्टन अमरिंदर सिंह ने जीत हासिल की थी. बाद में पंजाब के मुख्यमंत्री का पद संभालने के बाद उन्होंने ये लोकसभा सीट छोड़ दी थी। उपचुनाव में भी ये सीट कांग्रेस के हिस्से ही आई थी। अब देखना यह होगा कि इस सीट पर इस बार कौन-सी पार्टी फ़तह हासिल कर पाती है। अमृतसर लोकसभा सीट के लिए मतदान सातवें चरण में 19 मई को होगा।

झांसी

Image result for UMA BHaRTI
फोटो सोर्स: गूगल

उत्तर प्रदेश लोकसभा के नज़रिय से देखा जाए तो यह सीट जितना सुर्खियों में रहता है उससे कहीं ज्यादा सुर्खियां इस सीट की प्रतिनिधित्व करने वाली बीजेपी की नेता उमा भारती रहती हैं। बीजेपी की फायरब्रांड नेता कही जाने वाली उमा भारती ने सपा प्रत्याशी को 190467 वोटों से पराजित कर एक बड़ी जीत हासिल की थी। इस बार भी बीजेपी नेता का बोलबाला है। इस सीट के लिए मतदान चौथे चरण में 29 अप्रैल को होगा।

कानपुर

Image result for MURALI MANOHAR JOSHI
फोटो सोर्स: गूगल

इस सीट से  भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी प्रबल दावेदार माने जा रहे है। इस सीट पर जोशी ने अपने कांग्रेस प्रतिद्वंदी को भारी मतो से हराया था। जोशी को जहां 474712 वोट मिले तो वहीं कांग्रेस नेता श्री प्रकाश जयसवाल को 251766 वोट ही मिल पाएं। अब इस बार देखने वाली बात ये होगी कि क्या जोशी फिर से अपनी जीत को बरकरार रख पाएंगे।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here