14 फरवरी को पुलवामा में भारतीय सैनिकों पर हुए हमले के बाद देश भर के मीडिया चैनलस इस खबर पर ज़ोर शोर से खबर बना रहे हैं और लोगों को दिखा रहे हैं। हर पल की खबर आप तक पहुंचाई जा रही है। लोगों को इमोश्नल टच देने के लिए हर मीडिया चैनल सैनिकों के परिवार की रोती-बिलखती तस्वीर लगातार एयर कर रहे हैं।

अब इस मामले को लेकर सरकार के बाद सीआरपीएफ और सेना ने भी एडवाइजरी जारी किया है। इस एडवाइजरी में सारी मीडिया संस्थानों से अनुरोध किया गया है कि पुलवामा हमले के बाद देश में जो निराशा, गम और तकलीफ का माहौल है, ऐसे में शहीदों के परिवार की रोती बिलखती तस्वीरें न दिखाएँ या फिर ऐसा करने से परहेज करें।

प्रतीकात्मक तस्वीर। तस्वीर साभार- गूगल

सेना ने कहा है कि मीडिया संस्थान अनजाने में वही कर रही है जो आतंकवादी चाहते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि आतंकवादी हमेशा यही चाहते हैं कि देश में दहशत का माहौल बने और मीडिया के द्वारा दिखाये जाने वाली इन तसवीरों से ऐसा ही कुछ हो रहा है। ऐसी तस्वीरें आतंकवादियों का दुस्साहस बढ़ाती हैं। इसके अलावे सेना ने मीडिया चैनल से यह भी अनुरोध किया है कि बिना आधिकारिक पुष्टि के बाद ही शहीद कर्मियों के नाम फ्लैश किए जाएँ। सेना और सीआरपीएफ ने सभी मीडिया चैनल से इस एडवाइजरी के पालन करने का अनुरोध किया है।

प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो सोर्स: गूगल

एनडीटीवी के अनुसार इससे पहले मोदी सरकार ने भी मीडिया चैनल द्वारा पुलवामा आतंकी हमले की ताबड़तोड़ कवरेज को लेकर और मीडिया के आक्रामक रवैये को देखते हुए संज्ञान लिया था। मोदी सरकार ने सभी निजी मीडिया चैनल को ऐसी किसी भी खबर को प्रसारित करने से बचने को कहा है जो देश की अखंडता के लिए खतरा बन जाये या फिर देश में हिंसा भड़क उठे। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है,

‘‘हालिया आतंकवादी हमले को देखते हुए टीवी चैनलों को सलाह दी जाती है कि वे ऐसी किसी भी ऐसी सामग्री के प्रति सावधान रहें जो हिंसा को भड़का अथवा बढ़ावा दे सकती हैं अथवा जो कानून व्यवस्था को बनाने रखने के खिलाफ जाती हो या देश विरोधी रुख को बढ़ावा देती हो या फिर देश की अखंडता को प्रभावित करती हो.”

मोदी सरकार ने सभी निजी चैनल को इसका कड़ाई से पालन करने का अनुरोध भी किया है।

हम भी आपसभी से अनुरोध करते हैं कि यही समय है जब देश एक साथ खड़ा होकर इस गम का सामना करे, ऐसे में किसी भी प्रकार की हिंसा उस गम को बढ़ाने का ही काम करेगी बजाय इसके कि कम हो। आतंकवादी यही चाहते हैं कि देश का माहौल खराब हो और ऐसा कुछ कर के हम उनके इस मकसद को सफल कर देंगे। पूरे देश का गम और गुस्सा जायज है, ऐसे में हमें अपनी चुनी हुई सरकार और सेना पर भरोसा रखना चाहिए।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here