27 फरवरी को पाकिस्तान की ओर से किए गए हवाई हमले और पुलवामा हमले को लेकर 21 राजनीतिक दलों ने आज एक बैठक की. सभी 21 राजनीतिक दलों ने पाकिस्तान द्वारा किए गए हवाई हमले की कड़ी निंदा की है जोकि एक सराहनीय कदम है.

हम ऐसा मानते हैं कि सभी विपक्षी पार्टियों का एक साथ निंदा करना बहुत साहस का काम है. इसके साथ ही शहीद हुए जवानों को सभी दलों ने श्रद्धांजली भी अर्पित की. सत्ता के लालच के अलावे निंदा और श्रद्धांजलि दो ऐसे पदार्थ हैं जोकि सभी राजनीतिक पार्टियों के पास भरपूर मात्रा में होती है क्योंकि इसके फायदे बहुत हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि आप कहीं भी और कभी भी इन दोनों चीजों का दान कर सकते हैं. भारत की ओर से पाकिस्तान पर की गयी जबाबी हवाई हमले का सभी राजनीतिक पार्टियों ने समर्थन किया है.

प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो सोर्स गूगल

एक अहम बात और है जिसे नोट करने की ज़रूरत है. प्रेस से बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि हमें इसपर राजनीति नहीं करनी चाहिए.

पाखंड का मतलब जानते हैं आप? अगर नहीं जानते तो गूगल भाई साहब की मदद ले लीजिये. सभी दलों ने इसपर राजनीति न करने की बात कही है और कहा है कि ऐसे संवेदनशील समय में हमको और आपको दोनों को साथ में खड़ा होना होगा. राजनीतिक पार्टियों ने प्रधानमंत्री की आलोचना करते हुए कहा है कि नरेन्द्र मोदी को पुलवामा हमले के बाद एक सर्वदलिय बैठक करना चाहिए था जो उन्होने नहीं किया.

यही तो पाखंड है भाईसाहब! एक तरफ विपक्षी पार्टियां समर्थन करने की बात कहती है और दूसरे ही पल वह सरकार की आलोचना में लग जाती है. अगले ही पल फिर कहती है कि हमे राजनीति नहीं करनी चाहिए.

प्रतिकात्मक तस्वीर। फोटो सोर्स गूगल

सभी ने पाकिस्तान की कड़ी निंदा की है और उसके करतूत पर भी खेद जताया है. इसके साथ ही पाकिस्तान में फंसे हमारे एक पायलट के बारे में भी इस बैठक में सभी दलों ने चर्चा की. यह सारी बातें मीडिया से राहुल गांधी ने कहा जिसका बाद में हिन्दी में सुरजेवाला ने अनुवाद किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here