संजय लीला भंसाली का नाम जब हिन्दुस्तानी आवाम में लिया जाता है तो दो ही बातें सामने आती हैं- ‘फिल्में और विवाद’। संजय लीला भंसाली की फिल्म की स्टोरी दमदार होती है, सेट बड़े-बड़े होते हैं, स्टार कास्ट भी बड़ी होती है। लेकिन इस सबसे इतर उनकी फिल्मों की खास बात होती है विवादों में रहना। वही विवादों में रहने वाले फिल्म डायरेक्टर का आज जन्मदिन है।

उनकी विवादित फिल्मों की बात करें तो उदाहरण पद्मावत का है। जिसने ऐसा उत्पात मचाया कि सुप्रीम कोर्ट को बीच में आना पड़ा। ऐसा पहली बार हुआ था कि किसी फिल्म का विरोध पूरे देश में हो रहा था। जिस पर राजनीति भी बड़ी फक्कड़ तरीके से हुई। किसी पार्टी ने अपना हिंदुत्व चमकाया तो किसी ने अपना वोट बैंक। लेकिन भंसाली साहब अपने बिजनेस में लगे रहे, वो अपनी फिल्म का बचाव करते रहे। पद्मावत भंसाली साहब की पहली फिल्म नहीं थी जो विवादों में रही हो। इससे पहले 2013 में ‘गोलियों की रासलीला-रामलीला’ भी विवादों में आई थी। जिसका पहले नाम रामलीला था, जिसे विरोध के चलते बदलना पड़ा था। बाद में उसका नाम ‘गोलियों की रासलीला-रामलीला’ कर दिया गया। विवादों में रहने वाले संजय लीला भंसाली जो आज फिल्म इंडस्ट्री के बड़े नाम हैं, उनका फिल्मी सफर भी सबके तरह ही जैसा स्ट्रगल वाला था।

संजय लीला भंसाली ने अपने कैरियर की शुरूआत एक सहायक के रूप में की थी। उन्होंने विधु विनोद चोपड़ा के साथ काम किया। जिन्होंने परिंदा, करीब और अनिल कपूर अभिनीत ‘1942ः ए लव स्टोरी’ बनाई है। ये फिल्में परदे पर सफल नहीं हो पाई थी, लेकिन संजय लीला भंसाली को फिल्म इंडस्ट्री में एक स्टार्ट मिल गया था। बाद में संजय लीला भंसाली ने विनोद चोपड़ा का साथ छोड़ दिया।

Image result for sanjay leela bhansali

संजय लीला भंसाली की फिल्मों में असल शुरूआत 1996 में हुई। जब उन्होंने खुद ‘खामोशी-द म्यूजिकल’ को अपने निर्देशन में बनाया। जिसमे सलमान खान, नाना पाटेकर और मनीषा कोईराला ने अभिनय किया था। हालांकि यह फिल्म कमाई अधिक नहीं कर पाई लेकिन इसकी सराहना की गई। इस फिल्म को उसी साल के फिल्मफेयर और स्टार स्क्रीन अवाॅर्ड में बेस्ट फिल्म से नवाजा गया। इसके बाद संजय लीला भंसाली की वो फिल्म जिससे वह एकदम नामचीन निर्देशनों में गिने जाने लगे। फिल्म थी ‘हम दिल दे चुके सनम’। वही फिल्म जिसमें सलमान, अजय देवगन और ऐश्वर्या राय थीं। जिसकी लव स्टोरी बड़ी मजेदार थी, भंसाली ने ट्राइंगल लव स्टोरी बनाकर अपने को एक अलग ही श्रेणी मे ला दिया था। फिल्म ने कई अवाॅर्ड भी अपने नाम किये और दर्शकों ने भी इसको सराहा।

संजय लीला भंसाली की अगली फिल्म ‘देवदास’ थी। जिसमें शाहरूख खान, ऐश्वर्या राॅय और माधुरी दीक्षित मुख्य भूमिका में थे। जितनी अच्छी फिल्म दिलीप कुमार अभिनीत रही, उसी श्रेणी में इस ‘देवदास’  को भी रखा जाता है । यह 2002 की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म भी बनी। भारत की तरफ से यह फिल्म बेस्ट फाॅरेन लैंग्वेज फिल्म के अकेडमी अवार्ड के लिए गई। टाइम मैग्जीन ने इसे दशक की 10 बेहतरीन फिल्मों में आठवें स्थान पर रखा।

Image result for sanjay leela bhansali

इसके बाद ब्लैक, सांवरिया, गुजारिश ये सभी फिल्में संजय लीला भंसाली के निर्देशन को दिखाती हैं। कुछ चली और कुछ नहीं, लेकिन वो आगे बढ़ाती रही।

अवाॅर्ड

संजय लीला भंसाली ने अपनी फिल्मों के जरिये कई अवाॅर्ड अपने नाम किये। उन्हें पांच बार राष्ट्रीय पुरस्कार मिल चुका है। उन्होंने कई बार फिल्मफेयर अवाॅर्ड जीते। 2015 में उन्हें पद्मश्री से भी नवाजा गया। उनकी ऐतहासिक फिल्मों में से एक बाजीराव मस्तानी भी रही।

दीपिका-रणबीर हिट फैक्टर

आज के समय में संजय लीला भंसाली के हिट फैक्टर दीपिका पादुकोण और रणबीर सिंह हैं। ‘गोलियों की रासलीला-रामलीला, बाजीराव मस्तानी और अब पद्मावत’ तीनों में यह जोड़ी उनकी फिल्म का हिस्सा रहे और तीनों ने अवाॅर्ड भी जीते और पैसे भी।

संजय लीला भंसाली का आज जन्मदिन है। आज के दिन वो कम से कम सोचें कि अब जो भी हो फिल्मों का हाल पद्मावत जैसा नहीं होनें देंगे। बाकी हमारी तरफ से उनको जन्मदिन की खूब-खूब बधाई।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here