पूरे विश्व में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। दिन-प्रतिदिन संक्रमित लोगों और मौत के आंकड़े बदल रहे हैं. भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या का आंकड़ा 700 पार कर चुका है और 20 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. वर्ल्डोमीटर के आंकड़ों के मुताबिक देश में फिलहाल 745 मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से 659 मरीजों का इलाज चल रहा है और 66 मरीज अस्पताल से ठीक होकर अब घर जा चुके हैं. पिछले 2 दिनों में भारत में मामले तेज़ी से बढे़ हैं.

अगर हम विश्व की बात करें तो 199 देश कोरोना की चपेट में आ गए हैं. अमेरिका में गुरुवार को एक ही दिन में 16,000 कोरोना के मामले दर्ज किए गए और अब वहां कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 85,594 हो गई है, जो दुनिया में फिलहाल सबसे ज्यादा है. चीन के वुहान से शुरू हुए कोरोना वायरस का कहर अब सबसे ज्यादा अमेरिका में बरस रहा है. पीटीआई ने बताया है कि अमेरिका में एक सप्ताह पहले 8,000 कन्फर्म केसेज थे, अब ये आंकड़े हैरान करने वाले हो गए हैं. एक सप्ताह में केसेज 10 गुना बढ़े हैं. इस आंकड़े से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि कोरोना कितनी तेजी से फैल रहा है. नीचे दिए गए आंकड़े देखिए –

देश/संक्रमित लोगों की संख्या

अमेरिका – 85,594

चीन – 81,340

इटली – 80,589

अमेरिका में पिछले 24 घंटे में हुई 263 लोगों की मौत

सोर्स:गूगल

सोर्स:गूगल

यह आंकड़ा एक दिन में अमेरिका में कोरोना वायरस से हुई मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा है. अमेरिका में अभी तक कुल 1,300 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है. वहीं करीब 2,000 लोगों की हालत अभी भी गंभीर है. ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में अमेरिका में कन्फर्म केसेज और मौत के आंकड़ों में इजाफा होगा.

आज तक की एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में कन्फर्म केसेज की संख्या चीन से भी ज्यादा होने पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि मुझे लगता है कि यह हमारी जांच का नतीजा है. कोई नहीं जानता कि चीन में यह संख्या क्या है. मैं चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से बात करूंगा.

अगर हम चीन के हालिया आंकड़ों की बात करें तो अब तक 81,340 लोगों के कोरोना केसेस कन्फर्म हैं और 3,292 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है. हालांकि इटली में 80,589 कन्फर्म केसेज है और 8,215 लोगों की मौत हो चुकी है. ये आंकड़े डराने वाले हैं क्योंकि तीनों देशों में कोरोना के मामले रुकने का नाम ही नहीं ले रहे. स्थिति बद से बदतर होती जा रही है. हर देश में इसका डर बढ़ता जा रहा है.