‘क्या हुआ तेरा वादा’

सोचिए क्या हो जब अभिनेता, नेतागिरि करने लगे। वो भी बगैर संवेधानिक मूल मंत्र याद किए। यही कि अगर आप नेतागिरि करेंगे तो, आपको जवाबगिरी भी आनी चाहिए। लेकिन बड़े अफसोस की बात है कि हमारी आज की न राजनीति ऐसी रही, न राजनेता। क्योंकि अब तो दौर-ए-राजनीति का हाल कुछ ऐसा है कि चोर उल्टा कोतवाल को डांटता है। तो फिर क्या किया जाए? क्योंकि ऐसे तो काम नहीं चलने वाला। लोकतंत्र के इसी मूल और ज़रूरी सवाल का जवाब चंडीगढ़ के इस शख़्स ने ढूंढ निकाला है और लगे हाथ आज़मा भी डाला हैं। वो कहते है न ‘चट मंगनी पट ब्याह’

तो फिर क्या किया जाए? इस रोचक अंदाज़ मे मिला जवाब!

हर घटना बुरी नहीं होती, कुछ अच्छी भी होती हैं। असल में बात ये हुई कि हमारी भारतीय सिनेमा के एक अच्छे अभिनेता का गंदा वाला मज़ाक बन गया। वो भी तब जब ये बेचारे अपने लिए नहीं बल्कि, अपनी पत्नी के लिए लोगों से उनकी सबसे क़ीमती चीज़ मांगने निकले थे। अब कोई भी इंसान अपनी सबसे क़ीमती चीज़ यूं ही तो दे नहीं देगा। वो भी तब जब हर 5 साल में अलग-अलग लोगों से उम्मीद लगाकर दे चुका हो और खुद को ठगा सा महसूस कर रहा हो। तो इसलिए इस बार मोदी-सरकार या राहुल-सरकार सब को छोड़कर, इसने कहा ‘इस बार सिर्फ मेरे सवाल’। लोकतन्त्र में इसे जनता कहते हैं और उस बेश-क़ीमती चीज़ को ‘वोट’ कहते हैं। इसलिए अपनी इस क़ीमती चीज़ को आप भी किसी को यूं ही न दे। बहरहाल घर वापसी करते हुए मुद्दे पर आते हैं।

तो मुद्दे की बात यही है कि इस अभिनेता का भी बीवी की वजह से ज़्यादातर लोगों जैसा ही हाल हुआ पड़ा है। असल में चंडीगढ़ लोकसभा सीट पर आखरी चरण में यानि 19 मई को वोटिंग होना है। जिसके लिए सभी उम्मीदवारों की तरह अभिनेता अनुपम खेर भी हर दरवाजे जाकर वोट मांग रहे हैं।

तो घर-घर वोट मांगने की नियत से वो कल एक दुकान पर जा पहुँचे। फिर उन्होंने दुकानदार से वोट देने की अपील जारी की। इस क़ीमती चीज़ के मांगने पर दुकानदार ने उन्हें 2014 का बीजेपी का मैनीफेस्टो दिखा कर सवाल दाग दिया। अब आप ही बताइए ऐसे मौक़े पर भला किसे सवाल अच्छे लगेंगे। सवाल ये था कि 2014 मे किए गए वादों मे से आपकी पत्नी ने कौन-कौन से वादे पूरे किए हैं।

जिस तरह अनुपम अपनी एक्टिंग में हार नहीं मानते, इसी तरह यहाँ भी नहीं मानी। उन्होंने जवाब दिया और चलते बने। उनका जवाब ये था कि ‘इस बार पूरे हो जाएंगे सभी वादे’। इसे कहते हैं शानदार जवाब। लेकिन, इस मौके पर कुछ ऐसा हुआ जो उन्हें बाद में अच्छा नहीं लगा। असल में वहाँ खड़े किसी आदमी ने इस घटना की विडियो बना कर सोशल मीडिया पर डाल दिया। यह है वो विडियो:

इस विडियो के वायरल होने पर लोगों ने अनुपम खेर और उनकी पत्नी को बहुत सी अशुभ बातें कही। जैसे एक ट्वीटर यूज़र ने लिखा कि, ‘किरण खेर इस क्षेत्र कि सबसे बेक़ार एमपी हैं’। इसी से मिलता जुलता एक और ट्वीट ये दिखा कि ‘किरण खेर का काम एमपी के तौर पर बिलकुल भी अच्छा नहीं रहा है’। लेकिन एक और ट्वीट किया गया जो इन सबसे थोड़ा अलग हैं। इस यूज़र ने लिखा कि ‘अंकल शायद भूल गए कि भारत माता की जय बोलकर निकालना था’। कुछ यूज़र्स ने चंडीगढ़ को बधाई देते हुए लिखा कि ‘वैल्डन चंडीगढ़ इतने बड़े स्टार को उसकी मार्केट वैल्यू बताने के लिए’

इस किरकिरी के बाद अनुपम खेर ने भी अपनी सफाई देते हुए एक ट्वीट किया जिसमें लिखा कि

“कल किरण खेर के चुनाव प्रचार के दौरान विपक्ष ने दो लोगों को एक दुकान में प्लांट किया था। मुझसे बीजेपी के 2014 मेनिफेस्टो पर सवाल पूछने के लिए। मैंने पीछे खड़े आदमी को वीडियो बनाते देखा इसलिए मैं आगे बढ़ गया। आज उन्होंने वीडियो जारी किया। दाढ़ी वाले की हरकतें देखिए।’’

पता नहीं क्यों लेकिन इस बार अनुपम खेर का जादू पिछले 2014 लोकसभा चुनाव की तरह नहीं चल रहा। जबकि 2014 में उनको सुनने के लिए काफी भीड़ उमड़ रही थी। असल में अनुपम खेर की चुनावी रैली में इस बार लोगों के न आने से भी उनका काफी मज़ाक बना और उनकी रैली तक कैंसिल कर दी गई।

एक बात है कि अनुपम खेर हर बात का जवाब ज़रूर देते हैं, भले ही ट्वीट कर के दें। रैली कैंसिल होने पर उन्होंने ट्वीट किया कि,

“पहली तस्वीर बिल्कुल सही है। मैं रैली स्थल पर समय से पहले पहुंच गया और वहां कोई नहीं था। इसलिए मैं दूसरी जगह चला गया। लेकिन दूसरी जनसभा की तस्वीर सच्चाई बयां कर रही है।”

उनका ये भी कहना है कि “मैंने अब तक 515 फिल्में की जिसमें कई हिट नहीं हुईं। जो कल की रैली भीड़ न होने के चलते रद्द होने की बात कर रहे थे, उन्हें आज की यह तस्वीर दिखानी चाहिए”

अनुपम खेर जिस पत्नी के लिए इतनी मेहनत से चुनाव प्रचार कर रहे हैं, उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनाव मे एक अच्छी जीत हासिल की थी। किरण खेर को 2014 में 42.20 फीसदी मत शेयर के साथ 1,91,362 वोट मिले थे। जबकि कांग्रेसी उम्मीदवार पवन कुमार बंसल को 26.84% मत शेयर के साथ 1,21,720 वोट हासिल हुए थे। तीसरे नंबर पर आम आदमी पार्टी की उम्मीदवार अभिनेत्री गुल पनाग रही थीं।

इस बार फिर किरण खेर बीजेपी और पवन कुमार बंसल कांग्रेस के टिकट पर आमने-सामने हैं। देखिए 23 मई को नतीजों में क्या होता है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here