मोदी है तो मुमकिन है. ये बात अब साबित हो गई है. घबराइए मत, अब ये मत सोचना कि राहुल गांधी बीजेपी में शामिल हो गए हैं. दरअसल जो खबर हम आपको पढ़ाने वाले हैं वो इससे भी ज्यादा मारक है. इस बार कुछ ऐसा हुआ है जो पिछले 70 सालों में नहीं हुआ था. ये मोदी लहर का असर ही है कि येति भी चुनावों में वोट देने आ गए हैं.

सोमवार को भारतीय सेना ने सुबह-सुबह ट्वीट किया. रुको-रुको इस बार ये नहीं बताया कि कहीं स्ट्राइक कर दी है क्योंकि सेना का कोई भरोसा नहीं है कि कब क्या ही कर दे. जब से मोदी जी ने सेना के हाथ खोले हैं तब से कुछ ना कुछ होता रहता है.

भारतीय सेना की तरफ से एक ट्वीट किया गया, जिसमें जानकारी दी गई थी कि सेना की एक टुकड़ी को हिमालयी क्षेत्र में ‘हिममानव’ या ‘येति’ के चरण पदचिह्न मिले हैं.

वैसे पूरी दुनिया में अभी तक ऐसा कोई पुख्ता प्रमाण नहीं है कि जिसमें ये साबित होता हो कि हिमालय के क्षेत्रों या दूसरे बर्फीले क्षेत्रों में ‘हिममानव’ जैसी कोई प्रजाति पाई जाती है. जैसे ही सेना ने ये ट्वीट किया उसके बाद सोशल मीडिया पर बेरोजगारों को काम मिल गया. कोई सेना का समर्थन कर रहा है तो कोई शर्मिंदा करने वाली बात.

वरिष्ठ पत्रकार प्रवीण स्वामी ने ट्वीट किया है, ‘यह बहुत ही शर्मिंदा करने वाली बात है… भारतीय सेना में जो कोई भी प्रचार का जिम्मा संभालता है, उसने (यह ट्वीट करके) भारत में ही नहीं पूरी दुनिया में सेना का नाम खराब किया है.’

अगर आप मुझसे पूछेंगे तो मुझे लग रहा कि मोदी जी ने 2014 में पब्लिक से एक वादा किया था कि अच्छे दिन आएंगे. हो ना हो ये कहीं अच्छे दिन ही ना हो जो बिना किसी को दिखे चले गए.

ये भी हो सकता है कि मोदी जी ने अच्छे दिन मँगवाए हों और हिममानव (येति) आ गया हो गया. कुछ भी हो सकता है.

ये जो हिममानव था ना, जिसको लोग येति कह रहे हैं. ये बंदा था तो बड़ा हिम्मत वाला था. ये बंदा आया भी तो बर्फ के रास्ते और बिना इन्फॉर्म किया नौ-दो ग्यारह हो गया और पीछे छोड़ गया सिर्फ अपने चरण चिन्ह.

अब पार्टियों और नेताओं को ये समझ नहीं आ रहा है कि कौन से चरणों पे ध्यान दें. हिममानव के या चुनाव. वो क्या है ना चुनाव के भी 3 चरण बाकी हैं अभी.

मुझे तो ये लग रहा है कि येति ‘चौकीदार येति’ था क्योंकि वो आया और बिना किसी को बताए चले भी गया. ऐसा तो रात को चौकीदार ही करता है.

जो भी हो लास्ट में एक बात साफ़ है कि मोदी है तो मुमकिन है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here