पूरे देश में लोग सड़कों पर उतरे हुए हैं, हर जगह नारेबाज़ी और विरोध प्रदर्शन चल रहे हैं। इसी के चलते CAA, NRC से जुड़ी कई वीडियोज़ सोशल मीडिया पर भी वायरल हुईं। हाल ही में एक वीडियो वायरल हुई जिसमें बुर्के में एक महिला आज़ादी के नारे लगा रही है। इस वीडियो में सुना जा सकता है, ‘भारत माता की जय, हम आजादी लेंगे, राहुल गांधी से आजादी, अखिलेश से आजादी, माया (मायावती) दीदी से आजादी’

वीडियो को इस कैप्शन के साथ साझा किया गया कि ‘अबे नई चीज़ हो गई राहुल गांधी से आजादी चाहिए इन लोगों को इनकी मदद की जाए’। इसे पहले फ़ेसबुक पर शेयर किया गया और ये स्टोरी करते वक़्त इस वीडियो को 7 लाख 96 हज़ार व्यूज़ मिल चुके थे। कई लोगों ने इसे धड़ल्ले से शेयर भी किया। नीचे आप वीडियो देख सकते हैं, साथ ही इसका archive link भी हमने दे दिया है।

अबे नई चीज हो गई राहुल गांधी से आजादी चाहिए इन लोगों को 😂😂😂 इनकी मदद की जाए

Dikirim oleh Bhanu Pratap Singh pada Jumat, 10 Januari 2020

फ़ेसबुक के बाद ये वीडियो ट्विटर पर फैलाई गई और लोग इसे यह कहकर शेयर करने लगे कि अब मुसलमानों को राहुल गांधी से आज़ादी चाहिए। तो बस, इस वीडियो का ट्रेंडिंग लिस्ट में आना तो बनता ही था। लेकिन, सवाल ये उठता है कि ये वीडियो आखिर कब की है? क्या इसका अभी के चल रहे विरोध से कोई लेना-देना है?

सोर्स-ट्विटर

सोर्स-ट्विटर

जानिए क्या है सच्चाई?

जब इस वीडियो के बारे में हमने सर्च किया तो पता चला कि यह नकली या फिर फ़र्ज़ी नहीं है। लेकिन, ये भी पता लगा कि यह पुरानी वीडियो है, जिसे लोग अभी शेयर करने में लगे हुए हैं। इस वीडियो में दिख रही महिला का नाम निघत अब्बास है। ये बीजेपी की मीडिया पैनलिस्ट हैं और ट्विटर पर काफी एक्टिव भी हैं।

सोर्स-ट्विटर

सोर्स-ट्विटर

इस वीडियो की बात करें तो यह मई 2019 की है। जिसे शेयर करते वक़्त कैप्शन दिया गया था, ‘मेरे साथ मुस्लिम समाज ने कांग्रेस व केजरीवाल से आज़ादी मांगने की आवाज़ उठाई’। इसे अब्बास ने खुद अपने ट्विटर हैंडल से अपलोड किया था। नीचे इसका स्क्रीनशॉट भी अटैच कर दिया है, एक बार नज़र डाल लीजिए।

सोर्स-ट्विटर

सोर्स-ट्विटर

जब लोग इसे अभी का वीडियो कहकर शेयर करने लगे तो इस पर अब्बास ने एक ट्वीट भी किया। जिसमें इन्होंने कहा कि वीडियो 2019 के लोकसभा चुनावों की है जहां उन्होंने विपक्षी नेताओं के खिलाफ नारे लगाए थे। इस वीडियो में तमाम मुसलमान भाजपा से मुहब्बत करने वाले हैं।

इस जांच के बाद साफ़ है कि यह वीडियो 2019 के प्रचार चुनाव की है, जिसमें लोग कांग्रेस और बाकी विरोधी पार्टियों के खिलाफ़ नारे लगा रहे हैं। इसका हाल-फ़िलहाल में हो रहे विरोध प्रदर्शनों से कोई लेना-देना नहीं हैं।

असली-नकली के लिए आप हमारे इस सेक्शन को फॉलो कर सकते हैं। आपको भी अगर किसी ख़बर या फोटो पर संदेह होता है कि ये असली है या नकली इसके लिए हमें आप hello@kachchachittha.com पर मेल करके सूचित कर सकते हैं। हम पूरी कोशिश करेंगे कि आप तक उस खबर की सही जानकारी जल्द से जल्द पहुंचा सकें।