कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को चेन्नई के स्टेला मैरिस कॉलेज में छात्रों को संबोधीत करते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की गलत नीतियों के चलते ही जम्मू-कश्मीर में हालात बिगड़े. उन्होंने कहा कि कांग्रेस हमेशा जम्मू-कश्मीर के हालात सुधारने की कोशिश करती रही, लेकिन वाजेपयी की गलत नीतियों के चलते आज वहां हालात बिगड़े हैं.

यह पूछे जाने पर कि अगर कांग्रेस सत्ता में आई तो कश्मीर समस्या का समाधान कैसे करेगी? राहुल गांधी ने कहा कि 2004- 2014 के बीच की यूपीए सरकार आतंकवाद पर लगाम लगाने में कामयाब रही। उन्होंने कहा कि जब यूपीए सत्ता में थी तब कश्मीर में लगभग कोई समस्या नहीं थी।

छात्रों से बातचीत करते राहुल गांधी

छात्रों के साथ बातचीत में उन्होंने राफेल सौदे का मुद्दा भी उठाया और विमान की कीमतों एवं खरीद प्रक्रिया को लेकर अपने आरोप दोहराए. राहुल गांधी ने कहा, ‘मैं यह कहने वाला पहला शख्स हूंगा कि रॉबर्ट वाड्रा की जांच करें लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी करें.’ उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस सत्ता में आती है तो वह महिला आरक्षण विधेयक को पारित करेगी. उत्साहित भीड़ से उन्होंने कहा, ‘नेतृत्व के पदों पर पर्याप्त महिलाएं नजर नहीं आतीं. आप सत्ता में महिलाओं को तब तक नहीं देख सकते जब तक कि उनके प्रति नजरिए में बदलाव नहीं आता.’

उन्होंने सभा से पूछा, “क्या आपको नोटबंदी पसंद आया ?” जब दर्शकों ने जवाब दिया, “नहीं”, तो उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि यह बहुत स्पष्ट है कि नोटबंदी ने क्षति किया है। प्रधानमंत्री को आपसे सलाह लेनी चाहिए

राहुल गांधी ने छात्राओं से कहा कि वे उन्हें चुनौती दें और “असहज करके दिखाएं.” साथ ही उन्होंने पूछा कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतनी बड़ी भीड़ के बीच खड़े होकर लोगों के सवालों का जवाब दे सकते हैं.

ज्ञात हो कि अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के दौर में ही साल 1999 में कारगिल युद्ध हुआ था, जिसमें भारतीय सेना ने पाकिस्तान को पटखनी दी थी. हालांकि इसके बाद भी वाजपेयी पाकिस्तान के साथ संबंध सुधारने के लिए हमेशा प्रयास करते रहे. उन्हीं के दौर में पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के लिए बस सेवा शुरू की गई थी. इसके अलावा दोनों देशों के बीच रिश्ते सुधारने के लिए समझौता एक्सप्रेस ट्रेन सेवा की शुरुआत की थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here