विश्व कप का 32वां मैच, ऑस्ट्रेलिया और मेजबान इंग्लैंड जैसी मज़बूत टीम, जगह क्रिकेट का मक्का कहे जाने वाला लंदन का लॉर्ड्स मैदान। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को 64 रन से हरा दिया। इस जीत के साथ ऑस्ट्रेलिया के 12 प्वाइंट्स हो गए हैं और वह विश्व कप के सेमीफाइनल में जगह बनाने वाली पहली टीम बन गई है।

वॉर्नर की फिफ्टी तो फिंच ने लगाया शतक

इंग्लैंड की टीम ने टॉस जीतकर ऑस्ट्रेलिया को पहले बैटिंग करने का न्योता दिया। ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत काफी बढ़िया रही। फिंच-वार्नर की जोड़ी ने ऑस्ट्रेलिया को 173 रनों की बेहतरीन शुरुआत दी।

इंगलैंड के खिलाफ शतकीय साझेदारी के दौरान वॉर्नर और फिंच, फोटो सोर्स: गूगल
इंगलैंड के खिलाफ शतकीय साझेदारी के दौरान वॉर्नर और फिंच, फोटो सोर्स: गूगल

वॉर्नर ने 61 गेंदों पर 53 रनों की पारी खेली। फिंच ने 100 रनों की पारी खेली और टीम को 285 रनों तक पहुंचाने में सफल रहे। लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने 173 रनों पर पहला विकेट गिरने के बाद 86 रन के अंदर पांच विकेट गंवा दिए। ऑस्ट्रेलिया का कुल स्कोर शुरुआत में 300 पार जाता दिखाई दे रहा था लेकिन, अंतिम ओवरों में बल्लेबाजी कुछ ख़ास नहीं हो पाई और पूरे 50 ओवर में 7 विकेट पर 285 रन ही बने।

इंग्लैंड की शुरुआत बेहद खराब

285 रनों का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम की शुरुआत ही बेहद खराब रही। पारी की दूसरी बॉल पर ही इंंग्लैंड ने सलामी बल्लेबाज जेम्स विन्स का विकेट खो दिया। 

प्रतीकात्मक तस्वीर, फोटो सोर्स: गूगल
प्रतीकात्मक तस्वीर, फोटो सोर्स: गूगल

विन्स ने बेहरनडोर्फ की इन स्विंग गेंद को बिना समझे खेल दिया और आउट हो गए। रुट भी इसके बाद कुछ खास नहीं कर पाए और वो भी बेहरनडोर्फ के अगले शिकार बने। बेन स्टोक्स ने एक बार फिर फाइटिंग इंनिंग खेली। स्टोक्स ने 115 गेंदों पर 89 रनों की पारी खेली लेकिन, वो भी अपनी टीम को हार से नहीं बचा पाए। पूरी टीम 44.4 ओवर में 221 पर सिमट गई।

बेहरनडोर्फ और स्टार्क की घातक गेंदबाजी

इस मैच में सबसे ज्यादा चर्चा हुई ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क के सटीक यॉर्कर की। स्टार्क ने मैच के दौरान इंग्लैंड की आखिरी उम्मीद बेन स्टोक्स को एक ऐसा यॉर्कर फेंका जिससे इंग्लैंड की पूरी उम्मीद खत्म हो गई।

बेन स्टोक्स, मिशेल स्टॉर्क के इस यॉर्कर को नहीं समझ पाए और बोल्ड हो गए। यही मैच का टर्निंग प्वाइंट था। बेहरनडोर्फ ने भी काफी अच्छी गेंदबाजी की। बेहरनडोर्फ ने करियर का सबसे अच्छी स्पेल डाली और कुल पांच विकेट झटके। बेहरनडोर्फ ने दोनों ही सलामी बल्लेबाज को पवेलियन भेजा। स्टार्क को चार विकेट मिला।

सोशल मीडिया पर छाया स्टार्क का यॉर्कर

पारी के 37वें ओवर में स्टार्क द्वारा फेके गए यॉर्कर की चर्चा सोशल मीडिया पर खूब हो रही है। स्टार्क द्वारा फेंकी गई इस यॉर्कर को लोग ‘बॉल ऑफ द टूर्नामेंट’ बताना शुरु कर चुके हैं। हर्षा भोगले ने तो इसे स्टार्क के पूरे करियर की सबसे अच्छी गेंद बता दिया। बेन स्टोक्स को फेकी गई यह एक ऐसी गेंद थी जिसने ऑस्ट्रेलिया को सेमीफाइनल में पहुंचा दिया।

स्टार्क की यॉर्कर पर कुछ ऐसे आउट हुए बेन स्टोक्स, फोटो सोर्स: गूगल
स्टार्क की यॉर्कर पर कुछ ऐसे आउट हुए बेन स्टोक्स, फोटो सोर्स: गूगल

ऑफ़ स्टंम्प को निशाना लेकर डाली गई इस तेज़ यॉर्कर की गति और स्विंग दोनों को परखने में बेन स्टोक्स मात खा बैठे और गेंद सीधे ऑफ़ स्टंम्प की जड़ से जा टकराई। स्टोक्स अपना विकेट खोने से इस कदर निराश हुए कि उन्होंने बल्ला हाथ से छोड़ दिया और खीझ में बल्ले को लात मार दी।

ऑस्ट्रलिया के इस मैच से कुल 12 प्वाइंट्स हो गए हैं और वह वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बन गई है। इस जीत से पाकिस्तान टीम को काफी राहत मिली होगी क्योंकि उसके अभी भी सेमीफाइनल में जाने की उम्मीद बाकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here