12 मार्च 2006 क्रिकेट इतिहास का एक ऐसा दिन जिसे न ही कभी भुलाया जा सकता है और न ऑस्ट्रेलिया कभी इसे याद रखना चाहेगी। ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच हो रहे एकदिवसीय श्रृंखला का पांचवा और अंतिम मैच, जगह जोहान्सबर्ग। जब ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पोंटिंग टॉस जीते तो उन्हें भी इस बाद का एहसास नहीं था कि आज क्या होने वाला है। लेकिन उसके बाद जो हुआ वो इतिहास बन गया। क्रिकेट इतिहास में अगर सबसे ज्यादा स्कोर की बात हो तो इस मैच का नाम सबसे पहले आता है।

क्या थी मैच की रिपोर्ट?

Aus vs south Africa 12 march 2006 one day match
फोटो सोर्स : गूगल

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पोंटिंग ने टॉस जीता और पहले बैटिंग करने का फैसला किया जो की सही भी था उस समय अपने तेज तर्रार खेल के लिए मशहूर ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट और साइमन कैटीच ने ऑस्ट्रेलिया को शानदार और तेज शुरुआत दिलाई। सलामी जोड़ी ने 15.2 ओवर में ही 97 रन जोड़ दिए थे। गिलक्रिस्ट(55) के रन आउट होने के बाद क्रीज़ पर कप्तान रिकी पोंटिंग ने कदम रखा और फिर एक के बाद एक शॉट्स का पिटारा खुल गया। देखते ही देखते ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 434 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया। रिकी पोंटिंग ने इस मैच में 164 रनों की शानदार पारी महज़ 105 गेंदो में खेली जिसमें 13 चौके और 9 छक्के शामिल थे। माइक हसी ने भी 81 रनों की पारी के दौरान 9 चौके और 3 छक्के लगाए। इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई खेमा काफी खुश नज़र आ रहा था। लेकिन इसके बाद जो हुआ वह शायद ही किसी ने सोचा होगा।

दक्षिण अफ्रीका ने जब पारी की शुरुआत की तो कप्तान ग्रीम स्मिथ और डिपेनार ने पारी का आगाज़ किया लेकिन 1 के स्कोर पर डिपेनार के आउट होने के बाद दक्षिण अफ्रीका के फैन और पूरी टीम ने आशा छोड़ दी थी। लेकिन किसी को क्या पता कि पिक्चर का आना तो अभी बाकी था। डिपेनार के बाद हार्शल गिब्स ने कदम रखा और आते ही गेंदबाजों पर भूखे शेर की तरह टूट पड़े। गिब्स और स्मिथ के बीच दूसरे विकेट के लिए 187 रनों की साझेदारी हुई। और सबसे खास बात स्मिथ (90 रन, 55 गेंद, 13 चौका, 2 छक्का) के आउट होने तक इन दोनों ने मिलकर टीम का कुल स्कोर 22.1 ओवर में 190 रन तक पहुंचा दिया था। फिर जब तक गिब्स आउट होते तब तक टीम 31.5 ओवर में 299 तक पहुंच चुकी थी। जिसके बाद विकेट कीपर बल्लेबाज मार्क बाउचर (50 रन) ने टीम को जीत तक एक गेंद बाकी रहते पहुंचा दिया। इस तरह से साउथ अफ्रीका ने एक मुश्किल लक्ष्य को आसान बना दिया।

एक नज़र इस मैच में बने रिकॉर्ड पर

  • इस मैच में दक्षिण अफ्रीका द्वारा बनाया गया 438 रन का स्कोर एक दिवसीय मैच में किसी भी टीम द्वारा बनाया गया सबसे बड़ा टोटल है।
  • ऑस्ट्रेलिया द्वारा बनाये गए कुल 434 रन उसका वन डे में सबसे बड़ा टोटल है।
  • वन डे इतिहास में पहली बार किसी टीम ने 400 प्लस स्कोर टोटल बनाया था।
  • इस मैच में 87 चौके और 25 छक्के लगे जो वन डे के इतिहास में विश्व रिकॉर्ड है।
  • ऑस्ट्रेलिया के मिक लुईस ने 10 ओवर में 113 रन लुटाए जो वन डे में किसी भी गेंदबाज द्वारा दिये गए सबसे ज्यादा रन थे।

 कैलिस के बातों का हुआ असर

इस मैच के बाद हार्शल गिब्स के द्वारा खेली गई पारी पर सवाल उठाने शुरु हो गए। बताया जाता है कि इस मैच के पहले गिब्स ने जमकर शराब पी थी। जिसका खुलासा उन्होंने खुद अपनी ऑटोबायोग्राफी में किया हैं। इस मैच के पीछे एक और कहानी सामने आती है जब ऑस्ट्रेलिया द्वारा 434 रनों का विशाल स्कोर बनाया तो दक्षिण अफ्रीका के सभी खिलाड़ी कैलिस के पास गए और कहा कि इसना बड़ा स्कोर कैसे चेज होगा।

इस पर कैलिस ने गुस्से में कहा  –

“तुम लोग तो ऐसे पूछ रहे हो जैसे मै रोज 434 रन चेज करता हूँ।”

इतना कहने के बाद कैलिस आगे आए और कहा कि हमने बढ़िया बॉलिंग की है। ऑस्ट्रेलिया ने 15 रन कम बनाए। यह पिच 450 रन बनाने लायक थी। वो पिछड़ गए है। कहने के लिए तो यह महज़ एक मज़ाक था लेकिन इस शब्द के बाद जो हुआ वो आगे इतिहास बन गया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here