Thursday, June 27, 2019
Home Authors Posts by Mridul Kumar Srivastava

Mridul Kumar Srivastava

70 POSTS 0 COMMENTS
लखनऊ की गलियों से ले कर दिल्ली की सड़कों तक का सफर बड़ी दिलचस्पी से तेह किया है। घाट-घाट का पानी पी कर आए हैं तो जो बात करते हैं वो डंके की चोट पर करते हैं। दूसरों के बताये रास्ते पर चलने से बेहतर खुद के बनये गड्ढे में गिरना पसंद आता है। लखनऊ में पले-बढ़े हैं तो नवाबी खून में हैं अब ये साबित करने के लिए खून देंगे नहीं। बाकी असुविधा के लिए खेद है। काल्पनिक दुनिया में खुशी है।



Privacy Policy I agree to the terms of the privacy policy