विवार की शाम हरियाणा के लिए खास रहा। दंगल गर्ल बबीता फोगाट और भारत केसरी पहलवान विवेक ने शादी कर ली। दोनों ने अपनी शादी बेहद ही खास और सधारण तरीके से की। बरातियों की तरफ से केवल 21 मेहमान ही शादी में शामिल हुए। आज यानि सोमवार को दिल्ली में दोनों पक्षों की तरफ से एक शानदार पार्टी जरुर रखी गई है। जिसमें देश- विदेश के पहलवानों के आने की ख़बर है। खबर यह भी है कि इस पार्टी में पीएम नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी शामिल होने वाले हैं।

फोटो सोर्स: ट्विटर

फोटो सोर्स: ट्विटर

इस शादी की चर्चा इसलिए भी ज्यादा हो रही है क्योंकि बबीता फोगाट और विवेक ने अपनी शादी में 7 नहीं बल्कि, 8 फेरे लिए हैं। दोनों परिवारों ने बिना दहेज के ही शादी कर मिसाल भी पेश की। बबीता फोगाट ने 8वां फेरा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के साथ दहेज को खत्म करने के लिए लिया। बबीता का कहना था कि जिस तरह से आज समाज में बेटियों की स्थिति है उसे, देखते हुए हमें खुद आगे आना होगा।

फोटो सोर्स: ट्विटर

फोटो सोर्स: ट्विटर

रविवार शाम साढ़े सात बजे बारात बलाली गांव पहुंची जहां बबीता के घरवालों ने खास कर बरातियों के लिए हरियाणवी खाना तैयार करवाया था। खाने की लिस्ट में देशी घी का हलवा, सरसों का साग, खीर-चूरमा, बाजरा रोटी, चटनी सहित सभी व्यंजन थे। साधारण रीति-रिवाज और तमाम हिंदू रस्मों के साथ शादी हुई।

रविवार को दिल्ली में होने वाली पार्टी के लिए बबीता और विवेक ने खुद सभी बड़ी हस्तियों से मिलकर उन्हें न्योता दिया है। शादी के बारे में बात करते हुए बबीता का कहना था कि बचपन में जब कभी भी हम सारी बहनें किसी की शादी में जाते थे तो, दूसरी लड़कियों को देख कर चूड़िया और अंगूठी  पहन लेते थे। लेकिन, पिताजी मना कर देते थे। उनका कहना था कि तुम्हारा लक्ष्य सिर्फ रेसलिंग है। जब रेसलिंग में लक्ष्य पा लेना तो, मेकअप भी कर लेना। आज मैं दुल्हन की जोड़ा पहनकर बहुत खुश हूं।

फोगाट परिवार, फोटो सोर्स: ट्विटर

फोगाट परिवार, फोटो सोर्स: ट्विटर

हरियाणा विधानसभा चुनाव में बबीता फोगाट दादरी से बीजेपी की प्रत्याशी थी लेकिन, निर्दलिय उम्मीदवार सोमबीर से हार गई थी। बबीता ने राजनीति को लेकर भी बातें की। उनका कहना था कि वह शादी जरुर कर रही है लेकिन, राजनीति नहीं छोड़ रही है। वह दादरी से जुड़ी रहेंगी। सरकार के साथ मिल कर यहां के विकास को गति दिलाने के प्रयास करती रहेगी। लोगों से उन्होंने जो वादे किए थे, उनके लिए पूरा प्रयास करेंगी।

करीब 5 साल से चरखी दादरी जिले के बलाली गांव में रहने वाली बबीता फोगाट और दिल्ली के नजफगढ़ में रहने वाले विवेक के बीच दोस्ती थी। बताया जाता है कि दोनों की मुलाकात दिल्ली के ताज होटल में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान हुई थी। उसके बाद उनकी यह मुलाकात प्यार में बदल गई। द्रोणाचार्य अवार्ड से सम्मानित महाबीर फोगाट ने अपनी दूसरी बेटी का रिश्ता एक रुपये में तय किया। जब शादी संपन्न हो गई, उसके बाद दोनों ने एक-एक पौधा लगा कर पर्यावरण को बचाने का भी मैसेज दिया।