हमारे देश में क्रिकेटर तब तक ही फेमस है जब तक वो लाइमलाइट में है। इंडियन टीम में कोई खिलाड़ी नहीं खेल रहा है तो उसको लोग याद नहीं रखते। अगर बात घरेलू क्रिकेट की बात हो तो वो अखबार पर ही आती है, वो भी पेज भरने के लिये। घरेलू क्रिकेट तब ही ज्यादा चलता है जब उस मैच में कोई बड़ा खिलाड़ी खेल रहा हो। लेकिन एक खिलाड़ी है जो कभी भारतीय टीम में खेला करता था। फिर टीम से बाहर हो गया लेकिन उसने क्रिकेट नहीं छोड़ा। 23 साल से वो क्रिकेट खेले जा रहा है और रन बना रहा है। आज वो खिलाड़ी 41 साल का हो गया लेकिन जज्बा आज भी वही बना हुआ है। वो खिलाड़ी है वसीम जाफर।

Image result for wasim jafferवसीम जाफर 41 साल के हो गये हैं लेकिन आज भी बल्ला उनका खूब रन बना रहा है। उन्होंने हाल ही में एक दोहरा शतक लगाया है। 40 साल के पार दो दोहरे शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी हैं वसीम जाफर। जाफर का जुनून देखते बनता है। जहां उम्र आड़े आने लगी अपनी फिटनेस ऐसी बनाई कि सब दंग रह गये।

रन मशीन जाफर

वसीम जाफर बचपन से ही क्रिकेट खेल रहे हैं। 15 साल की उम्र में उन्होंने 400 रनों की नाबाद पारी खेली। अपने दूसरे ही फर्स्ट क्लास मैच मे जाफर ने 300 रनों की पारी खेली। इस वक्त वे फर्स्ट क्लास क्रिकेट के सचिन तेंदुलकर हैं। फर्स्ट क्लास मैच में उनके नाम 56 सेंचुरी और 88 फिफ्टी हैं। फस्र्ट क्लास में वे 19000 रन बना चुके हैं। ऐसा करने वाले वे 5वें भारतीय खिलाड़ी हैं।

Image result for wasim jafferवसीम जाफर ने भारत की ओर से अच्छी पारियां खेलीं। वे भारत की रीढ़ माने जाते थे। भारत की ओर से खेलते हुये उनके नाम दो दोहरे शतक हैं। पहला दोहरा शतक उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 2006 में लगाया। उस मैच में वे 500 मिनट से ज्यादा तक क्रीज पर टिके रहे थे। उन्होंने उस मैच में 212 रन बनाये थे। अगले ही साल 2007 में उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ दोहरा शतक लगाया। उसके बाद वसीम जाफर कब भारतीय टीम से बाहर हो गये पता ही नहीं चला। वे फिर भी खेलते रहे। जाफर ने भारत के लिए 33 टेस्ट और वनडे मैच खेल हैं।

वसीम जाफर रणजी में 11000 रन बना चुके हैं। इतने रन बनाने वाले वे एकमात्र भारतीय है। उनके पीछे कोई दस हजारी खिलाड़ी भी नहीं है। 2014 तक वे मुंबई से घरेलू क्रिकेट खेलते रहे हैं। लेकिन उसी समय वे चोटिल हो गये। चोट इतनी गहरी थी कि एक साल तक वे क्रिकेट ही नहीं खेल पाये। उसके बाद वे मुंबई टीम में नहीं जा पाये। तब वे विदर्भ टीम का हिस्सा बन गये और अब उसी टीम से खेल रहे हैं।

Image result for wasim jafferवसीम जाफर क्रिकेटरों के लिए एक आदर्श हैं कि आपके पास जुनून होना चाहिये और खेलते रहना चाहिये। उसी जुनून की बदौलत वे घरेलू क्रिकेट में खूब रन मार रहे हैं। वे 40 साल पार कर चुके हैं लेकिन रन बनाने की भूख कम नहीं हुई है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here