देहरी

महिलाओं का अगर शोषण हो रहा है तो उसके पीछे सोशल मीडिया का सबसे बड़ा हाथ है

सोशल मीडिया जब से अस्तित्व में आया है, तब से लोगों के लिए बहुत सारे काम आसान

अविंशु ने ख़ुदकुशी कर ली क्योंकि लोग उसे हिजड़ा बुलाते थे

पिछले साल 6 सितंबर को भारतीय सुप्रीम कोर्ट ने एक ऐतिहासिक फैसला सुनाया। अंग्रेजों के जमाने से

वो मजदूर जो 110 डिग्री सेल्सियस के तापमान में काम करने के लिए मजबुर हैं

जब ज़िंदगी में तकलीफ़ें हों तब, हर इंसान तपती ज़मीन पर खुद को झोंकने निकल पड़ता है।

मनाली जहां पर्यटकों का जमावड़ा रहता है आज वो कूड़े के ढे़र में तब्दील हो रखा है

मनाली, भारत का वो खूबसूरत शहर हैं जहां आप कभी भी जाकर अपनी दौड़ती-भागती ज़िंदगी को कुछ

10-11 साल के बच्चों के भीतर एक 5 साल की बच्ची का रेप करने की बात आई कैसे?

बलात्कार और क़त्ल जैसी घटनाएँ जब भी हमें सुनने को मिलती हैं तो हम सबसे पहले बलात्कारी या क़ातिल को ढूंढते है ताकि हम उसे जिम्मेदार ठहरा सकें।

जाति से बाहर शादी की तो तीन महिने की प्रेग्नेंट लड़की को पति सहित मार डाला गया

अभी कुछ साल पहले एक मराठी फिल्म आई थी "सैराट"। जिसमें जातिगत भेदभाव, हिंसा, माँ-बाप का उनके

विभिन्न भाषाओं वाले इस देश में इनके लिए हम कायदे का एक शब्द तक नहीं बना पाए हैं

पहले शब्द हुए 'मर्द' और 'औरत', फिर शब्द आया 'मर्दानगी'। इस श्रेणी में औरतों के लिए कोई

इस महिला के अनुसार लड़कियों का बलात्कार उनके छोटे कपड़ों की वज़ह से होता है

कहते हैं कि एक महिला की सबसे बड़ी दुश्मन एक महिला ही होती है। इसके लिए तरह-तरह