लापता विमान की खबर की पुष्टि करते हुए चिली की वायुसेना ने बताया कि 38 लोगों के साथ उड़ान भरने वाला हरक्यूलिस c-130 सैन्य विमान सोमवार को लापता हो गया. चिली के दक्षिण से अंटार्कटिका के एक पूर्ण निर्धारित ठिकाने के लिए उड़ान भरने के बाद शाम 6.13 बजे विमान का रेडियो संपर्क टूट गया.

चिली वायुसेना का सैन्य विमान हरक्यूलिस c-130 , फोटो सोर्स - alliance 

चिली वायुसेना का सैन्य विमान हरक्यूलिस c-130 , फोटो सोर्स – alliance

चिली वायुसेना की ओर जारी बयान में कहा गया है कि,

एक C-130 हरक्यूलिस विमान ने 4:55 (19:55 GMT) बजे राजधानी सैंटियागो से करीब 1,860 मील दूर स्थित पंटा एरेनास शहर से राष्ट्रपति एडुआर्डो फ्रेई अंटार्कटिक बेस के लिए उड़ान भरी थी जिसमें कुल 38 लोग यात्रा कर रहे थे. वायुसेना के मुताबिक, विमान में मौजूद 38 लोगों में 17 क्रू मेंबर्स थे जबकि, बाकी 21 यात्री थे.

बता दें कि वायुसेना ने लापता होने से पहले विमान का अनुमानित स्थान दिखाते हुए ट्विटर पर एक मैप पोस्ट किया है. फिलहाल, विमान के बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिल पाई है.

चिली वायुसेना का विमान हुआ लापता , फोटो सोर्स - गूगल

चिली वायुसेना का विमान हुआ लापता , फोटो सोर्स – गूगल

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, लापता विमान का पता लगाने के लिए एक रेस्क्यू टीम गठित की गई है. एयरक्राफ्ट रूटीन सपोर्ट और मेंटीनेंस मिशन पर निकल चुके हैं. हालांकि, अभी तक यात्रियों के बारे में जानकारी नहीं दी गई है.

अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़ चैनल BCC से बात करते हुए चिली वायुसेना ने बताया कि, 770 मील की यात्रा करने के लिए उड़ान भरने वाला सैन्य विमान करीब 450 मील की दूरी तय कर चुका था जब विमान से संपर्क टूटा था. उस समय विमान ड्रेक जलमार्ग के दायरे में उड़ान भर रहा था.

बता दें कि ड्रेक जलमार्ग दक्षिण अटलांटिक और दक्षिण प्रशांत महासागरों को जोड़ता है जो, अस्थिर मौसमी परिस्थितियों के लिए पहचाना जाता है.

ड्रेक जलमार्ग जहां से लापता हुआ है चिली का सैन्य विमान , फोटो सोर्स - गूगल

ड्रेक जलमार्ग जहां से लापता हुआ है चिली का सैन्य विमान , फोटो सोर्स – गूगल

चिली वायुसेना ने बताया,

विमान के लापता होने के समय स्थानीय मौसम काफी अच्छा था. वायुसेना के जनरल एडुआर्डो मस्जिदिरा ने स्थानीय मीडिया को बताया कि विमान ने किसी भी मुसीबत के संकेतों को सक्रिय नहीं किया है. वहीं चिली के राष्ट्रपति सेबेस्टियन पिनेरा ने कहा कि वह इस घटना से बहुत निराश हैं. इसके साथ ही वो राजधानी नी सैंटियागो से स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं.

हालांकि, इससे पहले भी दुनिया के अलग-अलग देशों से इस तरह की सैन्य विमान गायब होने की घटनाएं सामने आती रही हैं जब विमान अचानक रडार से लापता हो गया हो. फिर चाहे वो हादसा मलेशिया का हो, इंडोनेशिया का हो या खुद भारत का.

जून में लापता हुआ था भारतीय वायुसेना का एक विमान, फोटो सोर्स - गूगल

जून में लापता हुआ था भारतीय वायुसेना का एक विमान, फोटो सोर्स – गूगल

गौरतलब है कि इसी साल जून में भारतीय वायुसेना का विमान A-32 रहस्यमयी तरीके से अचानक लापता हो गया था. उत्तर पूर्व भारत के राज्य असम के जोरहाट एयरबेस से उड़ान भरने के बाद सैन्य विमान अरुणाचल की मेनचुका एयरफील्ड में विमान का संपर्क टूट गया था. तब उस विमान में 13 लोग सवार थे.

ये भी पढ़ें- लापता विमान AN-32 का मलबा भारतीय वायुसेना को मिल गया है