लोकसभा चुनाव के बीच में कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है. केरल से आने वाले कांग्रेस के दिग्गज नेता टॉम वडक्कन ने कांग्रेस का हाथ छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया. टॉम बडक्कन ने बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद, सांसद अनिल बलूनी की मौजूदगी में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की.

बीजेपी की सदस्यता ग्रहण करते टॉम वडक्कन

इस मौके पर रविशंकर प्रसाद ने कहा, ”बीजेपी और पीएम मोदी की नीतियों से प्रभावित होकर और कांग्रेस की नीतियों से परेशान होकर टॉम वडक्कन ने बीजेपी में आने का फैसला किया. हम उनका स्वागत करते हैं.” बता दें कि केरल से आने वाले वडक्कन कांग्रेस पार्टी में महासचिव और सीनियर प्रवक्ता रहे हैं.

बीजेपी में शामिल होने के बाद टॉम वडक्कन ने कहा, ”जब भारत पर पाकिस्तानी आतंकियों ने हमला किया तो मेरी पार्टी (कांग्रेस) की प्रतिक्रिया बहुत निराश करने वाली थी, इससे मुझे बहुत दुख पहुंचा. अगर एक राजनीतिक पार्टी देश के खिलाफ पोजीशन लेती है तो मेरे पास पार्टी छोड़ने के अलावा और कोई विकल्प नहीं बचता. आपको बता दें कि टॉम वडक्कन को सोनिया गांधी का काफी करीबी माना जाता है. दिल्ली में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की मौजूदगी में बीजेपी ज्वाइन करने वाले टॉम वडक्कन ने कहा कि उन्होने वंशवाद की राजनीति से परेशान होने के कारण ही पार्टी छोड़ने का निर्णय लिया. आपको बता दें कि दो दिन पहले ही महाराष्ट्र में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा था. कांग्रेस नेता सुजय विखे पाटिल मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए. सुजय महाराष्ट्र विधानसभा में नेता विपक्ष राधाकृष्ण विखे पाटिल के बेटे हैं और पेशे से न्यूरोसर्जन हैं. बताया जा रहा है कि वह अहमदनगर सीट से चुनाव लड़ना चाहते थे, लेकिन कांग्रेस ने उन्हें वहां से उम्मीदवार नहीं बनाया.

सुजय विखे पाटिल और देवेंद्र फड़नविस

एक तरफ कांग्रेस नेता भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो रहे हैं तो अब कांग्रेस ने भी बीजेपी के घर में सेंध लगाई है. सूत्रों की माने तो वरिष्ठ बीजेपी नेता और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बीसी खंडूरी के बेटे मनीष खंडूरी कांग्रेस में शामिल होंगे. मनीष पौढ़ी गढ़वाल से चुनाव लड़ सकते हैं. 16 मार्च को देहरादून में होने वाली राहुल गांधी की रैली में इसका ऐलान होगा.

आपको बता दे कि टॉम वडक्कन का तीन फरवरी का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जिसमें उन्होंने एक ट्वीट के जवाब में कहा था- एक बार जब आप भाजपा में शामिल हो जाते हैं तो आपके सारे अपराध साफ हो जाते हैं. अब संयोग देखिए, एक महीने बाद वह खुद बीजेपी में शामिल हो गए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here