सोनिया गांधी का आज 73वां जन्मदिन है. दुनिया भर से उन्हें जन्मदिन की बधाइयाँ दी जा रही हैं. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें जन्मदिन की बधाई देते हुए कहा है कि ‘सोनिया गांधी जी को जन्मदिन की शुभकामनाएं. उनकी दीर्घायु और अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना करता हूँ’ पर सोनिया गांधी ने खुद अपना जन्मदिन नहीं मनाने का फैसला किया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोनिया गांधी देश भर में महिलाओं के साथ हो रहे रेप को लेकर आहत हैं. वो महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं. इतना ही नहीं पार्टी कार्यकर्ताओं को भी हिदायत दी गई है कि सोनिया गांधी के जन्मदिन पर किसी तरह का कार्यक्रम न रखा जाए.

सोनिया गांधी हमेशा से कांग्रेस पार्टी की बैकबोन बन कर खड़ी रही हैं. राजीव गांधी की हत्या के बाद वो सोनिया गांधी ही थीं, जिन्होंने कांग्रेस पार्टी को संभाला था. उन्होंने ही अपनी अध्यक्षता में मनमोहन सिंह को भारत का प्रधानमंत्री चुना था. उन्हीं के नेतृत्व में कांग्रेस ने अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार को हराकर सत्ता में वापसी की थी और देश पर 10 सालों तक लगातार राज किया था.

कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी, फोटो सोर्स: गूगल

कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी, फोटो सोर्स: गूगल

वो सोनिया गांधी ही हैं जिनके लिए मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने लिखा है कि

रुख़स्ती होते ही मां-बाप का घर भूल गई

भाई के चेहरों को बहनों की नज़र भूल गई

घर को जाती हर रह गुज़र भूल गई

मैं वो चिड़ियाँ हूँ जो अपना शजर भूल गई

मैं तो भारत में मुहब्बत के लिए आई थी

कौन कहता है हुकूमत के लिए आई थी

नफ़रतों ने मेरे चेहरे का उजाला छीना

जो मेरे पास था वो चाहने वाला छीना

सर से बच्चों के मेरे बाप का साया छीना

मुझसे गिरजा भी लिया, मुझसे शिवाला भी छीना

अब तो ये तकदीर बदली भी नहीं जा सकती

मैं वो बेवा हूँ जो इटली भी नहीं जा सकती