8 मार्च महिला दिवस. आज का दिन दुनियाभर की सभी महिलाओं के लिए है. आप कहने को ये कह सकते हैं कि महिलाओं का साल में एक ही दिन क्यों,  साल का हर एक दिन महिलाओं का होता है. साल का हर दिन महिलाओं का जरूर होता है पर आज का दिन हर उस पल को मनाने का दिन होता है जिससे एक महिला अपने रोजाना ज़िंदगी मे रूबरू होती है.

दुनियाभर की महिलाएं जो संघर्ष करती हैं. हारती हैं, उठती हैं, खड़ी होती हैं और फिर से संघर्ष करना शुरू कर देती हैं. महिलाएं जो घरों की मर्यादाएं बना दी गई, उन मर्यादाओं के नए पैमाने बनाती, आगे बढ़ती हुई महिलाओं का ये आज का एक दिन. जिन्होने घर की रसोईयां भी संभाली और ऑफिस की मीटिंग्स भी. जिन्होने सृष्टि को चलाने के क्रम में बच्चे भी जने और नौकरी में प्रमोशन भी पाए. जो चूल्हें के आगे भी बैठी और दरांती लेकर खेतों में भी गईं.

फोटो सोर्स-गूगल

महिलाएं जो पुरूषों के मज़ाकों का विषय रहीं और माउंट एवरेस्ट चढ़ कर वर्ल्ड रिकॉर्ड भी रच आईं. जिन्होने समाज के बताए सुंदरता के ढांचे को तोड़, गढ़ीं सुंदरता की नई परिभाषाएं. जो महबूब की बाहों में रोईं भी और जिन्होने अपने प्रेमी के आंसू भी पोछें. जिन्होने अपने परिवार का सिर भी ऊंचा किया और जो अपने सपनों के लिए बागी भी हो गई.

फोटो- द कच्चा चिट्ठा 

सभी खास हैं. आप सभी खास हैं. आप से ही जीवन है, आपसे ही दुनिया है. आज महिला दिवस के मौके पर हम आपको बताना चाहते हैं, आप जो इसे पढ़ रही हैं. आप बेहद खास हैं आपका होना इस दुनिया को पूरा करता है. हां आप को पूरा अधिकार है कमज़ोर पड़ने का भी. आप कमज़ोर पड़िए लेकिन और भी ज़्यादा मज़बूत हो जाने के लिए. दुनियाभर की सभी महिलाओं को महिला दिवस की शुभकामनाएं. जो सशक्त होने के लिए लड़ रही हैं उनके लिए खूब सराहना, जो अभी अपने मूलभूत अधिकारों के लिए लड़ रही हैं उनके लिए शक्ति. आप सभी कामयाब होगीं.

सभी पुरूषों से निवेदन है कि अपने जीवन की महिलाओं के लिए आज कुछ खास करें. उन्हें बताएं कि वो अहम हैं. उनके काम की तारीफ करें.

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here