11 अप्रैल, लोकसभा चुनाव 2019 में वोटिंग का पहला दिन. पहले ही दिन ईवीएम पर सवाल? एक बार फिर…. ‘ईवीएम मशीन की मंशा पर शक।’ कई जगहों से शिकायत आई. पर बिजनौर में सीधा आरोप लगा कि ईवीएम में बटन किसी और का दबाओ लेकिन वीवीपैट में पर्ची किसी और पार्टी की दिखाई दे रही थी। बिजनौर में बसपा समर्थकों का कहना है कि मतदाता बसपा के लिए बटन दबा रहा है लेकिन वोट कमल को जा रहा है. और एक बार फिर… कहा जा रहा है, कथित रूप से, अंदेशा लगाया जा रहा है, संभावना जताई जा रही है, आरोप लगाए जा रहे हैं इत्यादि कि बीजेपी ने सारी ईवीएम मशीनों को खरीद लिया है।

कुछ इसी तरह की शिकायत आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने भी की है। उन्होंने चुनाव आयोग को एक पत्र लिखकर शिकायत करते हुए कहा कि जिन बूथों पर ईवीएम सही से काम नहीं कर रही थी, वहां मतदाता लौट कर घर चले आए। इन बूथों पर ईवीएम ठीक होने के बाद भी वोटर दोबारा नहीं आए इसलिए चुनाव आयोग इन बूथों पर दोबारा वोटिंग कराए।

चंद्र बाबु नायडू , मुख्यमंत्री , आंध्र प्रदेश, फोटो सोर्स : गूगल

चंद्रबाबू ने कहा है- ‘प्रदेश के 157 बूथों पर ईवीएम खराब है। आंध्र प्रदेश में कुल 3,93,45,717 मतदाता हैं, जिनमें 1,94,62,339 पुरुष, 1,98,79,421 महिलाएं और 3,957 ट्रांसजेंडर शामिल हैं। इनमें से 18-19 वायु वर्ग के 10.5 लाख मतदाता पहली बार मतदान करने वाले थे।’

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में जब ईवीएम को लेकर शिकायत की गई तो आनन-फानन में जिला मजिस्ट्रेट बूथ पर पहुंचे। उन्होंने मामले की जांच करवाई तब जाकर वोटिंग शुरु हो पाई। बिजनौर के लोगों का कहना है कि वोटिंग मशीन में आई खराबी के कारण वोटिंग काफी देर बाद शुरु हुई जो लोग बूथ पर आए थे, वे गुस्से से घर चले गए और फिर दोबारा बूथ पर वोट करने के लिए नहीं आए।

कुछ इसी तरह की घटना का ज़िक्र उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से बीजेपी प्रत्याशी संजीव बालियाना ने किया। बालियाना का आरोप है कि मुजफ्फरनगर में फर्जी वोटिंग हो रही है। हालांकि चुनाव आयोग ने इस आरोप को नकार दिया है। चुनाव आयोग का कहना है कि इस तरह का कोई भी घटना मुजफ्फरनगर में नहीं हुई है।

लोकसभा चुनाव के पहले चरण की सबसे दिलचस्प तस्वीर जम्मू-कश्मीर से आई। जहां पर वोट डालने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। जम्मू-कश्मीर में कुल 2 सीटों पर मतदान हुआ, जहां 54.49 फीसदी मतदान हुआ। इस दौरान बारामूला में पोलिंग बूथ के बाहर एक शख्स के नाचते हुए तस्वीर सामने आई।

https://twitter.com/sakshamsharmaIN/status/1116221542688534529

पहले चऱण में हुए कुल 20 राज्यों में सबसे कम बिहार में 50% और सबसे ज्यादा पश्चिम बंगाल में 81% मतदान हुए। लेकिन इस बार के लोकसभा चुनाव में सबसे ज्यादा चौंकाने और खुश करने वाली बात ये रही कि इस बार कश्मीर में पिछले चुनावों के मुकाबले मतदान करने के लिए लोगों की गिनती काफी अच्छी रही। वहीं आंध्र प्रदेश की 25 सीटों पर कुल 71.43 फीसदी, अरुणाचल प्रदेश में 66, असम में 68, छत्तीसगढ़ में 56, महाराष्ट्र 56 और त्रिपुरा में 81.30 फीसदी मतदान हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here