कहावत तो सुनी होगी आपने, मुफ्त के चंदन घिस रघुनंदन। लेकिन, अफसोस अब तक एक जगह अप्लाई होने वाली यह कहावत अब कुछ दिन बाद किसी काम की नहीं रह जाएगी। क्योंकि मुफ्त में रेलवे स्टेशन पर वाई-फाई सेवा का जम कर प्रयोग करने वालों के लिए एक दु:ख खबरी है।

जी हां, सही पढ़ा आपने। दरअसल हमें फ्री वाई-फाई सुविधा प्रदान करने वाले गूगल ने सोमवार को कहा कि उसने 2020 तक भारत सहित पूरी दुनिया में अपने ‘स्टेशन’ प्रोग्राम को बंद करने का फैसला किया है। गूगल का कहना है कि पिछले पांच वर्षों में इंटरनेट और ऑनलाइन सेवा पहले की तुलना में अधिक आसान और सस्ती हो गई है। रेलवे स्टेशनों पर फ्री वाई-फाई सुविधा को इस साल के अंत तक बंद करने का गूगल ने ऐलान किया है।

साल 2015 में गूगल ने इस सुविधा की शुरुआत की थी। भारत के करीब 400 रेलवे स्टेशनों पर गूगल यह सुविधा मुहैया कराती है।

source: google

source: google

अमेरिकी कंपनी ने कहा है कि वह मौजूदा साइटों से हटने के लिए अपने साझेदरों के साथ काम कर रही है, ताकि ये बाद में भी उपयोगी बनी रहे। गूगल ने साल 2015 में भारतीय रेल और रेलटेल के साथ मिलकर ‘स्टेशन’ प्रोग्राम शुरू किया था, ताकि 2020 के मध्य तक देश में 400 रेलवे स्टेशनों पर लोगों के लिए मुफ्त वाई-फाई सुविधा मुहैया कराई जा सके।

गूगल के वाइस प्रेसिडेंट (पेमेंट्स एंड नेक्स्ट बिलियन यूजर्स) ने अपने ब्लॉग में लिखा है,

‘हमने तय संख्या को जून 2018 में ही पार कर लिया। सेनगुप्ता ने भारत का उदाहरण दिया, जहां मोबाइल डेटा पूरी दुनिया में सबसे सस्ती है। उन्होंने कहा, ‘इसीलिए हमने 2020 तक धीरे-धीरे स्टेशन प्रोग्राम को बंद करने का फैसला किया है।’ (साभार: NBT)

फिलहाल तो यही खबर है। अब देखना है कि कब से यह फाइनली लागू हो जाता है। बाकि इसमें कुछ भी नया आता है तो हम आपको जरूर बताएंगें। तब तक पढ़ते और पढ़ाते रहिए कच्चा चिट्ठा।