गुज़रते हर दिन, हर पल के साथ हमारा समाज जिस संवेदनशील मुद्दे पर अपनी संवेदनाओं को खोता जा रहा है, उसमें से एक गंभीर मुद्दा ‘रेप’ है। हम ऐसा क्यों कह रहे है कि आज का समाज और खास कर यंग कहलाने वाला तबका, जो खुद कुछ भी कर गुज़रने का दम-खम रखता है। वह अब संवेदनहीन होता चला जा रहा है। इस खबर को जानने के बाद आपको वो कारण समझ आ जाएगा।

हुआ क्या है?

रेप, मानो जैसे ये शब्द आम सा होता चला जा रहा है। अब अखबारों में, टीवी पर या कहीं भी ऐसी किसी घटना को सुन कर हम विचलित नहीं होते। क्योंकि हमारा समाज रोज इसको सुनते-सुनते अब संवेदनहीन सा होता चला जा रहा है। उसे तब तक कोई फ़र्क नहीं पड़ता जब तक वो लड़की खुद उसके घर या परिवार की न हो।

Image result for रेप
प्रतीकात्मक तस्वीर, फोटो सोर्स- गूगल

कर्नाटक के मेंगलुरु में एक जाहिलाना हरकत को अंजाम दिया गया है। मार्च महीने में 5 लड़के, 1 लड़की को मिलने के बहाने बुलाते हैं और अपनी नीले रंग की कार में अगवा कर जंगल में ले जाते हैं। वहाँ पाँच लड़के उस लड़की के साथ रेप करते हैं और उसका वीडियो बनाते हैं।

यह घटना मार्च में हुई और तभी उस लड़की को बुरी तरह धमका दिया गया कि अगर किसी को बताया तो ये वीडियो वायरल कर दी जाएगी। लड़की डर के मारे खामोश रह जाती है, किसी से कुछ भी नहीं कहती है। पर इसके बाद भी उन लड़कों ने लड़की के साथ रेप का वीडियो वायरल कर दिया।

ये वीडियो वायरल होते-होते कर्नाटक पुलिस के हाथ लग गई। पुलिस ने मामले में कार्यवाही करते हुए वीडियो में दिख रहे पांचों लड़कों की पहचान कर गिरफ़्तार कर लिया है।

ये सभी लड़के और पीड़िता एक ही कॉलेज में पढ़ते हैं। ये सभी लड़के महज़ 19 साल के हैं।

फिलहाल इन पांचों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जिसके बाद इन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा। यहां पर कर्नाटक के पुटुर महिला पुलिस थाने ने इस मामले पर तुरंत कार्यवाही करते हुए। इन आरोपियों को पकड़ने के लिए दो टीमें बनाई और बड़ी समझदारी के साथ इन्हें धर दबोचा। दक्षिण कन्नड़ जिला पुलिस अधीक्षक बीएम लक्ष्मी प्रसाद ने सभी लोगों से ये अपील भी की है कि इस वीडियो को फॉरवर्ड न करें, न ही अपने फोन में सेव रखे और जो भी ऐसा करेगा उसके खिलाफ सख़्त से सख़्त कार्रवाई की जाएगी।

एसपी बीएम लक्ष्‍मी प्रसाद ने इन दोषियों की पहचान भी उजागर की और बताया कि, प्रख्‍यात शेट्टी बंटवाल तालुक के बारीमार गांव का रहने वाला है। आरोपी सुनील गौडा, पुत्‍तूर के अर्यापू गांव का रहने वाला है। आरोपी किशन, बंटवाल के पेरने गांव का रहने वाला है। आरोपी प्रज्‍ज्‍वल नाइक, पेरने गांव का निवासी है और गुरुनंदन, पुत्‍तूर के बजाथूर गांव का रहने वाला है। इन सभी पर आईपीसी के अलावा एससी/एसटी एक्‍ट की भी विभिन्‍न धाराएं लगाई गईं हैं। पीड़िता दलित जाति की बताई जा रही हैं।

घटना की जानकारी मिलने के बाद कॉलेज ने भी एक्शन लिया है और पांचों छात्रों को सस्पेंड कर दिया है। फिलहाल पुलिस इस बात की तफ्तीश कर रही है, वह यह है कि आखिर ये वीडियो किसने और कहां से वायरल की?

ये भी जान लीजिए…

इस पूरे मामले की जब पोल खुली और सभी के सामने यह मामला आया तो कॉलेज के एक संगठन पर भी आरोप लगे। कहा गया कि यह सभी दोषी छात्र बीजेपी की छात्र राजनीति की इकाई एबीवीपी से हैं। आरोप लगा तो जवाब भी आ गया। जिसमें एबीवीपी की पुत्‍तूर इकाई ने ऐसी सभी ख़बरों का खंडन किया है।

इस लेख के इनपुट the news minute से लिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here