एक पिच्चर आई थी बहुत पहले। नाम था ‘लक’। ज्यादा चली नहीं थी क्योंकि लोगों को पसंद नहीं आई। पर गाने खूब चले थे। इस पिच्चर की खास बात ये थी कि इस फिल्म में हीरो की किस्मत काफी बुलंद रहती है। इसका फायदा वो लॉटरी वगेरह खरीद कर उठाता था।

खैर, फिल्म में किस्मत वाली बात लोगों को पची नहीं। पिच्चर फ्लॉप हो गयी। पर, इतना किस्मत-किस्मत करने के पीछे एकै मकसद है हमारा। रानू मण्डल के लिए भूमिका बांधना। काहे कि देश में रानू मण्डल के किस्मत का सितारा कितना बुलंद है, इसके बारे में बच्चे-बच्चे को पता चल चुका है। एक महिला का स्टेशन पर भीख मांग कर गुजारा करने से लेकर बॉलीवुड के लिए कोई गाना गाना। किस्मत की बुलंदी ही कहलाएगी न। वैसे इतनी भूमिका काफी है, अब बारी खबर की।

रानू मण्डल। फोटो सोर्स: गूगल
रानू मण्डल। फोटो सोर्स: गूगल

क्या हुआ है?

ऐसा है कि रानू मण्डल को जब हिमेश रेशमिया ने “तेरी मेरी..” गाने में सिंगिंग का मौका दिया तब, चारो ओर इसकी चर्चा हुई। देश के छोटे से छोटे और बड़े से बड़े लोगों से रानू मण्डल के सिंगिंग टैलेंट को लेकर प्रतिक्रिया ली गयी। इन सभी रिएक्शन्स यानि के प्रतिक्रिया में सबसे ज्यादा बवाल कटा, वो था लता मंगेशकर के प्रतिक्रिया के ऊपर।

लता मंगेशकर ने मीडिया को दिये अपने बयान में रानू मण्डल को नसीहत दी थी कि कोई भी कलाकार किसी की नकल कर के ऊंचाइयों को नहीं छू सकता। हर कलाकार को कोशिश करनी चाहिए अपनी एक अलग पहचान बनाने की। इसके बाद लोगों ने लता मंगेशकर को ट्रोल करना शुरू कर दिया। ये ट्रोल करने वाले वही लोग थे जिनको रानू मण्डल के अंदर दूसरी लता मंगेशकर दिखाई देने लगी थी। खैर, ट्रोलर्स का कोई दीन-धर्म तो होता नहीं इसलिए उनकी बात रहने देते हैं।

लता मंगेशकर के इस बयान के बाद कई लोगों ने सोशल मीडिया पर अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दी। लेकिन, सबको इंतज़ार था रानू मण्डल को मौका देने वाले हिमेश रेशमिया के लता मंगेशकर के इस बयान पर प्रतिक्रिया का। तो, अब हिमेश रेशमिया ने भी अपनी प्रतिक्रिया दे दी है। हिमेश ने कहा:

मुझे लगता है कि कलाकारों के लिए किसी अन्य से प्रेरणा लेनी जरूरी है। मुझे लगता है कि हमें देखना होगा कि लता जी ने किस मायने में यह बयान दिया है। मेरा मानना है कि जब आप किसी अन्य सिंगर की नकल करते हैं तो वह इतना अच्छा काम नहीं करता। लेकिन मैं यह भी मानता हूं कि दूसरों से प्रेरणा लेना काफी महत्वपूर्ण है।

हिमेश रेशमिया ने आगे रानू के लिए कुमार सानू का एक्जाम्पल देते हुए कहा,

कुमार सानू हमेशा कहते हैं कि वह किशोर कुमार से प्रेरित हैं। ऐसे ही हम लोग भी किसी दूसरे से इन्सपायर्ड होते हैं। इसी तरह से हम सब लोग किसी न किसी से प्रेरणा लेते हैं।

हिमेश ने अपना एक्जाम्पल भी दिया:

जब मैंने हाई पिच में गाना शुरू किया था, तब लोगों ने क्रिटिसाइज़ किया था। ये कहा था कि नाक से गाता है। लेकिन अगर आप इंटरनेशनली इसे देखोगे तो, आपको दिखेगा कि ये एक कॉमन ट्रेंड बन चुका है। मुझे लगता है कि रानू जी टैलेंट के साथ पैदा हुई हैं और वो लता जी से इन्सपायर्ड हैं। लता जी जैसा लीजेंड कोई नहीं हो सकता, वो बेस्ट हैं। रानू जी ने अपना खुद का प्यारा सा सफर शुरू किया है। मुझे लगता है कि लोगों ने लता जी का बयान गलत तरीके से समझा है। मेरे हिसाब से लता जी ने रानू जी से ये कहा था कि किसी से इन्सपायर्ड होना अच्छी बात है लेकिन, किसी की आवाज़ को कॉपी नहीं करना चाहिए। मुझे नहीं लगता कि रानू जी ने किसी की आवाज़ कॉपी की है।

बस यही बात थी, खबर समाप्त।