कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नागरिकता को लेकर एक बार फिर से सवाल उठने शुरु हो गए हैं। जिसके बारे में गृह मंत्रालय ने नोटिस जारी कर राहुल गांधी से इसपर जवाब मांगा है। राहुल गांधी को इस बारे में जवाब देने के लिए 15 दिनों का समय दिया गया है। मंत्रालय ने यह कदम बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम् स्वामी के शिकायत पर उठाया है। सुब्रह्मण्यम् काफी समय से आरोप लगा रहे हैं कि राहुल गांधी के पास ब्रिटिश नागरिकता है। इस बारे में सुब्रह्मण्यम् स्वामी ने ट्वीट करते हुए पुछा,

‘क्या गृह मंत्रालय ने आज मेरी शिकायत पर नोटिस जारी किया है?’ 

अपने इस ट्वीट में हालांकि सुब्रह्मण्यम् स्वामी ने राहुल गांधी का नाम नहीं लिया है। गृह मंत्रालय के बाद बीजेपी का भी कहना है कि नागरिकता मामले में राहुल गांधी को सफाई देना चाहिए।

इस बारे में भाजपा नेता और प्रवक्ता सांबित पात्रा ने बयान दिया है,

आखिर कौन राहुल सच्चे हैं- लंदन वाले राहुल या लुटियंस वाले।

लंदन जो ब्रिटेन की राजधानी है वहीं लुटियंस जो उस जगह को कहते हैं जहां सांसद होने की वजह से नेताओं को सरकारी आवास मुहैया कराया जाता है।

क्या लिखा है गृह मंत्रालय के खत में?

गृह मंत्रालय ने जो पत्र लिख कर राहुल गांधी को नोटिस जारी किया है उसमें लिखा है,

गृह मंत्रालय द्वारा राहुल गांधी के नागरिकता पर जारी किया गया नोटिस, फोटो सोर्स: गूगल

भाजपा नेता सुब्रह्मण्यम् स्वामी के तरफ से अर्जी मिली है जिसमें कहा गया है कि राहुल गांधी ब्रिटेन में 2003 में पंजीकृत कंपनी बैकऑप्स लिमिटेड के डायरेक्टर्स में शामिल थे। मंत्रालय के अनुसार, स्वामी का कहना है कि ब्रिटिश कंपनी के 10 अक्टूबर 2005 और 31 अक्टूबर 2006 को भरे गए वार्षिक टैक्स रिटर्न में गांधी की जन्म तिथि 19 जून, 1970 बताई गई है। उसमें गांधी को ब्रिटिश नागरिक बताया गया है। इसके अलावा 17 फरवरी, 2009 को इस कंपनी की अर्जी में भी आपकी नागरिकता ब्रिटिश बताई गई है। आपसे अनुरोध किया जाता है कि इस संबंध में आप एक सप्ताह के भीतर अपना तथ्यात्मक रूख मंत्रालय के समक्ष स्पष्ट करें।

इससे पहले भी लग चुका है आरोप

यह पहला मौका नहीं है जब राहुल गांधी के नागरिकता को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं। इसके पहले भी अमेठी में नामांकन के दौरान राहुल गांधी के नागरिकता और डिग्री पर सवाल उठाते हुए निर्दलीय प्रत्याशी ध्रुव लाल कौशल ने नामांकन रद्द करने की मांग की थी। उस समय बताया गया था कि राहुल गांधी का असली नाम राउल विंची है साथ ही उनके पास ब्रिटिश नागरिकता है। अमेठी में नामांकन दाखिल करने के दौरान उनपर आरोप लगाया गया था कि राहुल गांधी के दस्तावेजों में इंग्लैंड की अपनी कंपनी का जिक्र नहीं किया है। लेकिन निर्दलीय उम्मीदवार के इस आरोप को चुनाव आयोग ने खारिज कर दिया था।

सुब्रह्मण्यम् स्वामी, फोटो सोर्स: गूगल

गृह मंत्रालय के इस तरह के नोटिस जारी करने के बाद कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला का कहना है कि सब दुनिया जानती है कि राहुल गांधी जन्मजात भारतीय नागरिक हैं। मोदी जी के पास बेरोजगारी, कृषि संकट और कालेधन के मुद्दों पर कोई जवाब नहीं है इसलिए लोगों का ध्यान भटकाने के लिए अपनी सरकार के माध्यम से फर्जी विमर्श गढ़ रहे हैं।

इस मामले में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा कि राहुल गांधी को गृह मंत्रालय के तरफ से नोटिस जारी किया गया है इस मामले को चुनाव से जोड़कर ना देखें। यह एक प्रक्रिया के तहत हो रहा है। यदि कोई सांसद इस तरह के सवाल उठा रहा है तो उससे संबंधित व्यक्ति को नोटिस भेजा जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here