टी-20 में 2-0 से सीरिज अपने नाम कर चुकी ऑस्ट्रेलियाई टीम अब एकदिवसीय सिरीज भी अपने नाम करने के इरादे से उतरेगी। वही भारत यह जरुर कोशिश करेगा कि टी-20 सिरिज में हुई गलती को ना दोहराया जाए। भारत औऱ ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रहे पहले एकदिवसीय मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला तो किया लेकिन उसके इस फैसले को बुमराह ने गलत साबित कर दिया और भारत को एरॉन फिंच के रुप में पहली सफलता दिला दी।

महेंद्र सिंह धोनी, फोटो सोर्स- इंटरनेट

राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में खुशी से दर्शक झुमने लगे क्योंकि ऑस्ट्रेलिया के स्कोरबोर्ड में अभी एक भी रन नहीं था। फिंच के आउट होने के बाद उस्मान ख्वाजा और मार्कस स्टोइनिस ने मिलकर पारी को आगे बढ़ाया। लेकिन इस बीच ऑस्ट्रेलिया को 87 के स्कोर पर दूसरा झटका लगा जब मार्कस स्टोइनिस 37 के व्यक्तिगत स्कोर पर पवेलियन वापस लौट गए। लेकिन इस बीच ख्वाजा ने अपने करियर का 6वां अर्द्धशतक जड़ा। पिछले टी-20 मैच के हिरो रहे ग्लेन मैक्सवेल एक बार फिर खतरनाक नजर आ रहे थे लेकिन 40 के व्यक्तिगत स्कोर पर शमी की एक शानदार गेंद को समझने में गलती कर गए और बोल्ड हो गए।

इसके बाद कोई भी खिलाड़ी भारतीय गेंदबाजो के सामने ज्यादा देर तक नहीं रुक सका औऱ निर्धारित 50 ओवरों मे 7 विकेट खोकर 236 रन ही बना पाई। अब भारत को जीत के लिए 237 रनों की आवश्यकता है। वही भारत की तरफ से मोहम्मद शमी, कुलदिप यादव और जसप्रित बुमराह ने शानदार गेंदबाजी करते हुए दो-दो विकेट हासिल किए। जबकी केदार जाधव को एक विकेट हासिल हुआ।

वही अगर भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच वनडे मैचों के बारे में देखा जाए तो 2010 के बाद से केवल एक बार भारत ऑस्ट्रेलिया से तीन मैच लगातार हारा है। 2015 में दक्षिण अफ्रीका ने भारत को पहले दो टी- 20 में हराया फिर पहले वनडे में मात दी। वही जहां तक इस मैदान का सवाल है तो राजीव गांधी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम, हैदराबाद में खेले गए दोनों मैचों में ऑस्ट्रेलिया ने जीत हासिल की है।

वही कप्तान एरॉन फिंच अपने 100वें मैच को यादगार नहीं बना पाए औऱ एक बार फिर से फ्लॉप रहें। अक्टूबर 2018 में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट डेब्यू करने के बाद से एरॉन फिंच का बल्लेबाजी औसत 11.59 है। पिछली 22 अंतरराष्ट्रीय पारियों में फिंच ने एक अर्द्धशतक के साथ केवल 225 रन बनाए हैं। पिछली सात पारियों में से फिंच छह पारियों में दहाई के स्कोर तक भी नहीं पहुंचे हैं। इन सात पारियो में फिंच ने 6.43की औसत से 45रन बनाए हैं।

आज भारतीय पारी का आगाज शिखर धवन करेंगे जो कि 2019 में खेले 12 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 29.18 की औसत से केवल 321 रन बनाए हैं। इनमें दो अर्द्धशतक शामिल हैं। इससे पहले 14 वनडे पारियों में उन्होंने 28.46 की औसत से 370 रन बनाए थे। इनमें दो अर्द्धशतक थे।

रोहित शर्मा, फोटो सोर्स- इंटरनेट

टी-20 में आराम फरमा रहे रोहित शर्मा का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बल्लेबाजी औसत 88.05 है। वहीं, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे में रोहित शर्मा ने 31 मैचों में 65.85 की औसत से 1778 रन बनाए हैं। 31 पारियों में उन्होंने 66 छक्के भी लगाए हैं।

टीम इंडिया के ओपनर रोहित शर्मा अगर इस मैच में एक छक्का जड़ते हैं तो वह महेंद्र सिंह धोनी के एक स्पेशल रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे। रोहित इंटरनेशनल क्रिकेट में महेंद्र सिंह धोनी के 350 छक्कों के रिकॉर्ड से केवल एक कदम दूर हैं। एक छक्का लगाते ही वह इस इलीट ग्रुप में शामिल हो जाएंगे।

विराट कोहली ने आरजीआईसीएस, हैदराबाद में खेले सात मैचों में 469 रन बनाए हैं। विराट कोहली ने सभी मैचों में 30 से अधिक स्कोर बनाया। 2017 में बांग्लादेश के खिलाफ उन्होंने दोहरा शतक बनाया था।

 

 

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here