मेरे प्यारे देशवासियों, आपके लिए एक खुशखबरी है. पानी के अंदर से गुजरती हुई ट्रेन मे बैठकर सफर करने का सपना हर किसी ने देखा होगा. देखा है कि नहीं? अब आपका वो सपना बहुत जल्द हकीकत में बदलने वाला है. बधाई हो.

खबर है कि भारत ने पानी के नीचे चलने वाली अपनी पहली मेट्रो रेललाइन का काम लगभग पूरा कर लिया है. अब बहुत जल्द अपने ही देश में पानी के अंदर चलती मेट्रो दिखाई देगी.

भारत का पहला अंडर वाटर मेट्रो प्रोजेक्ट, फोटो सोर्स – गूगल

सिटी ऑफ जॉय’ के नाम से मशहूर पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में देश की पहली ‘अंडर वाटर मेट्रो’ चलने वाली है. कोलकाता के लोगों के लिए ये ख़बर सबसे ज्यादा रोमांचित करने वाली है. बहुत जल्द वो इस अंडर वाटर मेट्रो का लुफ्त उठा सकेंगे.

कोलकाता में बनी मेट्रो की एक खूबसूरत तस्वीर, फोटो सोर्स – गूगल

कोलकाता में चलने वाली यह मेट्रो ट्रेन अपने शुरुआती दौर में 16 किलो मीटर का सफर तय करेगी. यह मेट्रो सॉल्ट सेक्टर 5 मेट्रो स्टेशन से हावड़ा मैदान स्टेशन के बीच दौड़ेगी. पहले फेस के लिए बनकर तैयार हो चुकी कोलकाता मेट्रो को जल्द ही लोगों के लिए खोल दिया जाएगा.

कुछ इस तरह दिखेगी पानी के अंडर दौड़ती कोलकाता मेट्रो , फोटो सोर्स – गूगल

चुकी यह मेट्रो हुगली नदी के अंदर से होती हुई गुजरेगी. इसलिए पानी के रिसाव से मेट्रो को सुरक्षित रखने के लिए सुरंग के भीतर चार लेयर की हाई टेक सुरक्षा कवच लगाए गए हैं. 16 किलोमीटर के सफर में इस मेट्रो का 10.8 किलोमीटर हिस्सा भूमिगत होगा और 502 मीटर हिस्सा हुगली नदी के नीचे से पानी के बीच में से होकर गुजरेगा.

कोलकाता मेट्रो , फोटो सोर्स – गूगल

गुरुवार को रेल मंत्री पियूष गोयल ने अपने ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट करके इसकी जानकारी दी.
ट्वीट में उन्होंने लिखा,

कोलकाता में हुगली नदी में जल्द ही भारत की पहली अंडरवाटर मेट्रो दौड़ती हुई नजर आएगी. यह मेट्रो भारत के बेजोड़ इंजीनियरिंग कौशल और रेलवे क्षेत्र में हुई प्रगति का उदाहरण बनेगी. इससे न सिर्फ कोलकाता निवासियों को आरामदायक सफर मिलेगा, बल्कि देश भी गौरवान्वित महसूस करेगा

पीयूष गोयल द्वारा शेयर किए गए इस वीडियो में पीएम नरेंद्र मोदी भी दिखाई देते है. वीडियो में पीएम मोदी मेट्रो की सुरंगों के निर्माण में प्रयोग की गयी बेजोड़ इंजीनियरिंग के बारे में बता रहे हैं. भारतीय रेलवे द्वारा जारी किए गए इस वीडियो में मेट्रो में पानी के रिसाव को रोकने के लिए चार आवरण के बारे में बात की गई है.

पानी के बना मेट्रो टनल , फोटो सोर्स – गूगल

मीडिया सूत्रो से मिली जानकारी के मुताबिक, इस मेट्रो को नदी के नीचे बनी सुरंग को पार करने में सिर्फ एक मिनट का वक्त लगेगा. यह मेट्रो देश की हाईटेक तकनीक की मिशाल बनेगी क्योंकि इससे पहले देश में कोई ट्रेन किसी नदी के नीचे से नहीं गुजरती थी. बता दें कि आने वाले समय में भारत उड़ने वाली बसों को बनाने की तैयारी कर रहा है. इस कड़ी में भारत ने पानी के अंदर मेट्रो चलाकर एक कीर्तिमान रच दिया है