साउथ अफ्रीका के खिलाफ चल रहे पहले टेस्ट मैच का पहला दिन पूरी तरह से रोहित शर्मा के नाम रहा था। रोहित शर्मा ने शतक क्या लगाया चारो ओर केवल ‘हिट मैन’ ही छाए रहे। ऐसा लगा कि क्रिकेट फैंन्स रोहित शर्मा के आगे मयंक अग्रवाल को भूल गए। जबकि मयंक अग्रवाल ने पहले दिन नाबाद 84 रनों की पारी खेली थी। लेकिन, चर्चा में रहे थे सिर्फ रोहित शर्मा। इसके पीछे एक कारण यह भी था कि रोहित शर्मा पहली बार टेस्ट मैच में सलामी बल्लेबाज के तौर पर भारत के लिए खेल रहे थे और पहले ही मैच में शतक जड़ दिया। रोहित शर्मा ने उन सभी लोगों को जवाब भी दे दिया था, जो यह कह रहे थे कि रोहित टेस्ट के लिए सलामी बल्लेबाज के तौर पर फिट नहीं बैठेंगे।

विशाखापट्टनम में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच का पहला दिन पूरी तरह से भारतीय बल्लेबाजों के नाम रहा। भारत ने बिना कोई विकेट गंवाए 202 रन बनाए थे। 59.1 ओवर का खेल हुआ ही था कि बारिश ने मैच में बाधा डाली और खेल को पहले दिन के लिए समाप्त कर दिया गया। लेकिन, खेल जब दूसरे दिन शुरु हुआ तो रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल ने पारी को वहीं से शुरु किया जहां से खत्म किया था। मयंक अग्रवाल ने पहले सेशन में अपना शतक पूरा किया। पारी के 69वें ओवर में केशव महाराज की गेंद पर एक सिंगल लेकर शतक पूरा किया।

दूसरे दिन के खेल शुरु होने पर बल्लेबाजी के लिए जाते रोहित-मयंक, फोटो सोर्स: गूगल
दूसरे दिन के खेल शुरु होने पर बल्लेबाजी के लिए जाते रोहित-मयंक, फोटो सोर्स: गूगल

इसके बाद दोनों सलामी बल्लेबाजों ने रन गति को तेजी से आगे बढ़ाने का जिम्मा उठाया और देखते ही देखते दोनों ने पहले विकेट के लिए 317 रनों की साझेदारी कर डाली। रोहित शर्मा ने 176 रनों की पारी खेली और केशव महाराज के पहले शिकार बने। इसके बाद मयंक एक छोर पर खेलते रहे और पारी के 115वें ओवर की पहली गेंद पर मयंक अग्रवाल ने अपने करियर का पहला दोहरा शतक लगाया। केशव महाराज की गेंद पर ही दो रन लेकर मयंक ने यह काम किया। मयंक ने दोहरा शतक लगाते ही वीरेंद्र सहवाग के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली।

मयंक अग्रवाल, फोटो सोर्स: गूगल
मयंक अग्रवाल, फोटो सोर्स: गूगल

सहवाग इकलौते भारतीय सलामी बल्लेबाज हैं जिन्होंने साउथ अफ्रीका के खिलाफ दोहरा शतक लगाया हो। भारतीय टीम के लिए किसी सलामी बल्लेबाज ने लगभग 10 साल बाद दोहरा शतक लगाया है। मयंक अग्रवाल का भारत में यह पहला टेस्ट मैच है और अपने पहले ही टेस्ट में दोहरा शतक लगाने वाले मयंक चौथे बल्लेबाज बन गए हैं। मयंक से पहले दिलीप सरदेसाई, विनोद कांबली और करुण नायर ये करानामा कर चुके हैं।

फोटो सोर्स: गूगल
फोटो सोर्स :गूगल

भारत ने अपनी पहली पारी घोषित कर दी है। 502 रनों पर 7 विकेट खोने के बाद जैसे ही इनिंग ब्रेक हुई, भारत ने अपनी पहली पारी घोषित कर दी। इस पारी में मयंक अग्रवाल और रोहित शर्मा के अलावा कोई भी भारतीय बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर पाया लेकिन, मयंक और रोहित की जोड़ी 317 रनों की साझेदारी करके एक खास क्लब में शामिल हो गई है। एक ऐसा क्लब जिसमें दोनों सलामी बल्लेबाजों ने 150 से अधिक रन बनाए हों।

रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल से पहले वीनू मांकड़-प्रणव रॉय की जोड़ी ने यह कारनामा एक बार किया है जबकि मुरली विजय-शिखर धवन की जोड़ी दो बार यह करानामा कर चुकी है। एक और इंटरेस्टिंग बात मयंक-रोहित की जोड़ी ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ भारत की तरफ से सबसे बड़ी साझेदारी भी कर डाली। इसके पहले यह रिकॉर्ड राहुल द्रविड़-वीरेन्द्र सहवाग के नाम था, जिन्होंने साल 2008 में चेन्नई टेस्ट मैच में 268 रनों की साझेदारी की थी।

ये भी पढ़े:- जब हरभजन सिंह के लिए पूरी भारतीय टीम ने क्रिकेट खेलने से कर दिया था इंकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here