हर तरफ हर कोई इरफ़ान खान को याद कर रहा है. कोई उनसे जुड़े किसी वाकये को शेयर कर रहा है तो कोई इरफ़ान खान के साथ बिताए उनके सबसे बेहतरीन लम्हे को याद कर रहा है.

 

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी ने भी इसी क्रम में एक वाकये को शेयर करते हुए कहा कि इरफान खान ने हीं उन्हें डैनी बोयल से मिलवाया था. यह बात तब की है जब डैनी बोयल अपनी फिल्म स्लमडॉग मिलिनियर की कास्टिंग कर रहे थे.

इरफान खान और नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी ने फिल्म लंचबॉक्स में साथ काम किया है.

नवाज़ ने बताया कि इरफ़ान खान उन्हें रोल भी सजेस्ट किया करते थे और काफी कुछ सिखाया भी करते थे. उन्होंने बताया कि कई लोगों को इस बात का पता नहीं होगा कि इरफ़ान खान ने हीं मुझे साल 2000 में आई फिल्म अलविदा में सबसे पहले डायरेक्ट किया था. यह लीड एक्टर के रूप में मेरी पहली फिल्म थी और उनकी डायरेक्टर के रूप में. मुझे फिल्म में लेने का आइडिया उनका ही था. यह बीबीसी के लिए बनाई गयी एक घंटे की फिल्म थी. उन्होंने उसके बाद डायरेक्शन में कुछ खास हाथ नहीं आजमाया. अगर उन्होंने किया होता तो शायद वो एक बेहतरीन फिल्मकार भी होते.

जब उन्हें यह पता चला कि डैनी बोयल अपनी फिल्म के लिए मुंबई में कास्टिंग कर रहे हैं तो उन्होंने मुझे फोन किया और पुछा कि “तू चलेगा?” उन्होंने मुझे सन-एंड-सैंड होटल आने को कहा. नवाज़ ने बताया कि मुझे याद है हम सुबह हीं पहुँच गए थे और लॉबी में इंतज़ार कर रहे थे. जब इरफ़ान डैनी बोयल से मिलें तो उन्होंने मुझे कहा कि “जाओ जाकर मिलो उनसे”.

नवाज़ ने कहा कि इरफान और उनमें कोई कम्पटीशन हीं नहीं है. उनकी जगह कोई ले हीं नहीं सकता?

फिल्मकार कबीर खान भी अपनी फिल्म न्यू यॉर्क को याद करते हुए कहते हैं कि फिल्म के किसी सीन में नवाज़ के परफोर्मेंस को देखकर इरफान रोने लगे थे. उन्होंने बताया कि जब वह सीन शूट हो रहा था तब इरफ़ान सेट पर मौजूद नहीं थे. लेकिन बाद में उस परफोर्मेंस को देखने के बाद उनकी आँखों में आंसू थे.