ISIS आतंकी संगठन के आतंकवाद को कौन नहीं जानता है, इसके जुल्मों की गूंज हर सुकुन पसंद देश को कंपा देती है. जिस तरह से ISIS ने ईराक और सीरिया के अलावा दुनिया के कई देशों में कोहराम मचा रखा है, इसके आतंक से दुनिया का हर देश परेशान है. लेकिन हाल के समय में ईराक और सीरिया से इसका लगभग सफाया हो चुका है. इस संगठन के प्रमुख अबु बकर अल-बगदादी का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है जो कि चिंता का विषय है. हालांकी अमेरिका और रुस कई बार दावा कर चुके है की बगदादी मारा गया है, लेकिन अब तक इस बात की पुख्ता तौर पर पुष्टि नहीं हो पाई है. इसी बीच आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) ने भारत में नई शाखा स्थापित करने का दावा किया है.

प्रतीकात्मक तस्वीर, फोटो सोर्स- गूगल

आतंकी संगठन ISIS ने भारत के लिए क्या कहा है?

ISIS के द्वारा भारत में इस तरह की शाखा खोलने की उसकी तरफ से पहली घोषणा 10 मई को आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच झड़पों के बाद की गई है. IS की समाचार एजेंसी अमाकके अनुसार नई शाखा का अरबी नाम विलायाह ऑफ हिंद” (भारतीय प्रांत) रखा गया है. हालांकि जम्मू-कश्मीर के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने इस तरह के दावे को सिरे से खारिज कर दिया है. पर इस्लामिक चरमपंथियों पर नजर रखने वाले SITE इंटेल ग्रुप की निदेशक रीता काट्ज ने कहा कि ISIS ने अमशिपुरा में भारतीय बलों के साथ झड़पों का दावा करते हुए अपना नया हिंद प्रांत घोषित किया है.

रीता काट्ज ने ट्वीट किया कि बेशक एक ऐसे क्षेत्र में एक प्रांत की स्थापना, जहां इसके वास्तविक नियंत्रण जैसा कुछ नहीं है; बेतुका हैलेकिन इसे हल्के में नहीं लिया जाना चाहिये.

ISIS ने इस नई ब्रांच के भौगोलिक नियंत्रण के बारे में विस्तार से जानकारी नहीं दी है. ISIS के द्वारा नयी शाखा की घोषणा को पश्चिम एशिया में अपनी जमीन खिसकने के बाद वैश्विक स्तर अपने दबदबे को बरकरार रखने की रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है. इस तरह की रणनीति का जिक्र पिछले दिनों ISIS प्रमुख अबू बकर अल-बगदादी ने किया था.

ISने इस खबर की जानकारी मैसेजिंग ऐप ‘टेलीग्राम’ के जरिए 10 मई को संक्षिप्त बयान में दी थी कि मशीनगनों से लैस इस्लामिक स्टेट के आतंकवादी कश्मीर के शोपियां जिले के अमशिपुरा गांव में भारतीय सुरक्षा बलों के साथ भिड़ गए थे, जिसमें उनमें से कई मारे गए या घायल हुए. हालांकि, इस बयान में यह उल्लेख नहीं किया गया कि झड़प कब हुई थी. 10 मई की मीडिया की खबरों में कहा गया था कि कश्मीर के शोपियां जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया था.

भारत में ISIS द्वारा इस खबर को फैलाने का मकसद लोगो में डर पैदा करना भी हो सकता है, लेकिन भारतीय सेना ऐसे किसी भी आतंकी संगठन को समाप्त करने की भरपूर क्षमता रखती है.

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here