मोदी जी जब सत्ता में आने वाले थे उससे पहले उन्होंने देश को किये अनेक वादों में से एक वादा यह भी किया था कि वे देश से काला धन मिटा देंगे. नोटबंदी वाले कदम को उनकी सरकार ने यही कह कर लागू किया था. हालांकि उसका कुछ फायदा हुआ नहीं और धीरे धीरे नोटबंदी का लक्ष्य भी बदलता चला गया. खैर, हालिया सरकार ने काला धन ख़त्म किया हो या न हो लेकिन रंगीन धन जरुर देश में ला दिया है. हम बात कर रहे हैं रंग बिरंगे नोटों की. हाल ही में रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने नए 100 रुपये के नोट की तस्वीर भी शेयर की थी और कहा था कि बहुत जल्द ही ये चलन में आयेंगे.

आरबीआइ द्वारा जारी किये गए नए 100 रुपये के नोट की तस्वीर. फोटो साभार: इन्टरनेट

अब इसी नए 100 रुपये नोट से जुडी एक खबर है जो आपके पसीने छुड़ा देगा.जी, खबर यह है कि नए वाले 100 रुपये के नोट का आकार पुराने वाले नोट के आकार से अलग होगा. एटीएम ऑपरेशन इंडस्ट्री के मुताबिक़ इस नए नोट को एटीएम से निकालने के लिए मौजूदा सभी एटीएम को रिकैलिब्रेट करना होगा जिसमे लगभग 100 करोड़ रुपये लगेंगे.

आपको बता दें कि हाल ही में सरकार नए 200 रुपये का नोट लेकर आई थी जिसके लिए सभी एटीएम को दुबारा कैलिब्रेट करना पड़ा था. अभी 200 के नए नोट के लिए सारे एटीएम पूरी तरह से रिकैलिब्रेट हुए नहीं थे सरकार नए 100 रुपये के नोट लेकर आ गयी है.

प्रतीकात्मक तस्वीर. फोटो साभार: इन्टरनेट.

इंडस्ट्री लॉबी कैटमी के डायरेक्टर और एफएसएस के प्रेसिडेंट वी बालासुब्रमण्यन ने मीडिया को बताया:

‘हमें 100 रुपये के नए नोट के लिए एटीएम को रीकैलिब्रेट करना होगा. भारत में करीब 2.4 लाख एटीएम हैं और हमें सभी को रीकैलिब्रेट करना होगा. नए और पुराने दोनों नोटों की मौजूदगी भी एक चुनौती है।’

हिताची पेमेंट सर्विसेज के मैनेजिंग डायरेक्टर लोनी एंटनी ने कहा है कि 100 रुपये के नए नोटों के लिए सभी एटीएम को रीकैलिब्रेट करने में 100 करोड़ रुपये की लागत आएगी और इसमें 12 महीने का समय लग सकता है.

ऐसे में सवाल है कि नए रंग बिरंगे नोट को लाने की जरुरत ही क्या है? क्या हमारा देश इतना अमीर हो चुका है कि हम 100 करोड़ रुपये ऐसे कामों पर खर्च दें जिसका कोई मतलब ही नहीं है. या फिर सरकार को यह देश एक फैशन इंडस्ट्री नजर आती है जिसमे कलर और ट्रेंड बहुत मायने रखता है. हमारी हालिया सरकार से गुजारिश है कि नोट के रंगों के बदलने की कोशिश से अच्छा है की सरकार यह सुनिश्चित करे की भले ही नोट पुराना हो लेकिन हर इंसान के जेब में हो. क्योंकि नोट के रंगों से किसी की गरीबी नहीं मिटने वाली है. आपके पास जो पैसा है वो जनता का पैसा है, आपसे उम्मीद है कि आप इसका सोच समझ के इस्तेमाल करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here