कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर तरह-तरह की खबरें आते रही हैं। कोविड 19 वैक्सीन को लेकर कभी भारत में तो कभी रूस तो कभी कहीं और सफलता की बात सामने आते रही है। फिलहाल जो खबर सामने आ रही है, मालूम हो कि यह खबर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से आ रही है। खबर है कि ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी को कोरोना वायरस के वैक्सीन बनाने में बड़ी कामयाबी मिली है।

यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित एक कोरोना वायरस वैक्सीन को इंसानों के लिए सुरक्षित पाया गया है। यूनिवर्सिटी ने ह्यूमन ट्रायल के दौरान यह पाया कि इस वैक्सीन से लोगों में कोरोना वायरस से लड़ने की इम्युनिटी यानि वायरस से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता विकसित हुई। कोविड-19 महामारी के ख़िलाफ़ दुनिया भर में चल रहे वैक्सीन निर्माण के कार्य में इसे बड़ी उपलब्धि कहना ग़लत नहीं होगा। यूनिवर्सिटी के अनुसार, इस टीके के ट्रायल में 1077 लोगों को शामिल किया गया था। ह्यूमन ट्रायल के दौरान जिन लोगों को यह टीका लगाया गया था, उनके शरीर में कोरोना वायरस से लड़ने वाले व्हाइट ब्लड सेल और एंडीबॉडी विकसित होने के सबूत मिले हैं। 

source: google

source: google

10 करोड़ डो़ज का ऑडर भी दे दिया गया है:

हालांकि यह कहना थोड़ी जल्दबाजी होगी कि इस वैक्सीन के तहत संक्रमण को पूरी तरह रोक सकते हैं। उधर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक इन नतीजों से खुश हैं। उनका कहना है कि इस सफलता के बाद वो बेहद उत्साहित हैं साथ ही इससे उन्हें अब बड़े स्तर पर ह्यूमन ट्रायल करने में हिम्मत मिलेगी। जबकि यूके सरकार ने पहले ही इस वैक्सीन की 10 करोड़ डोज ऑडर कर दी है।

वहीं अब सवाल यह भी है कि क्या यह वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है? इसका जवाब हां में है लेकिन इसके साइड इफेक्ट्स भी हैं। हालांकि इसके कोई भी साइड इफेक्ट्स बहुत नुकसानदायक नहीं है। लेकिन वैक्सीन लेने वाले 70 प्रतिशत लोगों में बुख़ार और सिरदर्द की शिकायत देखी गई है। शोधकर्ताओं का कहना है कि इन समस्याओं को पैरासिटामोल से दूर किया जा सकता है। कुल मिलाकर फिलहाल इस वैक्सीन को लेकर अभी जो जानकारी मिल रही है उससे यही पता चला है। वैसे आपको मालूम होगा कि पिछले कई दिनों से कोरोना वायरस के वैक्सीन को लेकर खबर आती रही हैं। पर अभी तक की जितनी भी खबरें आई हैं उन सबमें ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की तरफ से फिलहाल जो खबर आ रही है वो काफी उत्साहवर्धक है। जैसे ही इसमें कुछ नया अपडेट आता है, हम आपको जरूर बताएंगे, बने रहिए द कच्चा चिट्ठा क साथ।