पीरियड यानि कि मासिक धर्म. आसान भाषा में या यू कहूं कि आप लोगों की भाषा में गर्ल्स प्रॉब्लम. महिलाओं को लेकर महिलाओं की समस्याओं को लेकर हमारे समाज का रवैय्या हमेशा से दोगला रहा है. एक तरफ समाज उसे देवी बनाकर पूजता है वहीं दूसरी ओर पीरियड के दौरान मंदिर में नहीं जाने देता.

पीरियड हमारे समाज का एक बहुत बड़ा टैबू है. इस पर बहुत बातें हो चुकी हैं, फिल्में बन चुकी हैं, किताबें लिखी जा चुकी है. लेकिन इस पर जितना भी बोला जाए उतना ही कम हैं. पीरियड पर हमारा समाज एक अलग ही स्टीरियोटाइप में जी रहा है.

पैड खरीदने के लिए भी वो दुकानें ढ़ूढ़ी जाती हैं जहां औरते बैठी हों. लड़कियां शर्म के मारे आदमियों से पैड खरीद ही नहीं पाती. जो एक-आधी लेने चली भी जाए उसे दुकानदार ऐसे देखता है जैसे कोई बम मांग लिया हो. कागज़ में लपेट कर, काली पन्नी में डालकर कायदे से पैक कर के देते हैं जैसे कि ये कोई ज़रूरत की चीज़ न होकर कुछ ऐसा हो जिसे सबसे छुपाना बेहद ज़रूरी है.

ये सब तो हुई ज्ञान की बात. अब बात करते हैं उन मिथकों की जो पीरियड को लेकर आम लोगों में बने हुए हैं.

1. पीरियड में निकलने वाला खून गंदा होता है.

पीरियड में निकलने वाला खून वजाइना से निकलता है, वजाइना लड़कियों के शरीर का एक नॉर्मल बॉडी पार्ट है. इससे निकलने वाला खून भी उतना ही नॉर्मल है जितना बाकि शरीर का. बस फर्क इतना है कि पारियड के दौरान यूटेरस यानि गर्भाशय की परत के कुछ हिस्से पीरियड ब्लड के साथ निकलते हैं जिसे लोग गंदा खून समझ लेते हैं.

2. पीरियड के दौरान सिर नहीं धोना चाहिए.

ये एक ऐसा मिथक है जिसे मैं सुन-सुन कर बड़ी हुई हूं. कहा जाता है कि अगर पीरियड के दौरान सिर धो लिया जाए तो ब्लीडिंग ज़्यादा होगी. लेकिन ये एक सिरे से गलत बात है. ऐसा कुछ नहीं है. आप पीरियड के दौरान निश्चिंत होकर अपना सिर धो सकती हैं.

3. पीरियड में अगर गर्म पानी से नहाएंगी तो ब्लड फ्लो ज़्यादा होगा.

लड़कियों को अक्सर ये कहा जाता है कि पीरियड की दौरान गर्म पानी से न नहाएं. ब्लड फ्लो ज़्यादा होगा. जबकि ऐसा कुछ नहीं है, जो चीज़ आपके ब्लड फ्लो पर असर डाल सकती है वो है आपका अपना शरीर. उसके अलावा कुछ नहीं. बल्कि गर्म पानी से शॉवर लेना या गर्म पानी की बोतल से पेट को सेकने से पीरियड के दौरान होने वाले क्रैम्पस में काफी मदद होती है.

4. पीरियड के दौरान लड़किया सेक्स नहीं कर सकती

पीरियड के दौरान सेक्स करने का फैसला अपना होता है, अगर आप इस दौरान सेक्स करने में कम्फर्टेबल हैं तो इसमें कोई दिक्कत नहीं है. बहुत से लोग पीरियड के दौरान सेक्स करते हैं. कहा जाता है कि पीरियड के दौरान सेक्स करते हैं तो प्रेग्नेंट होने के चांसेज़ नहीं होते लेकिन इस बात की कोई पुष्टि नहीं की जा सकती है तो थोड़ा ध्यान रखें.

5. PMS सिर्फ लड़कियों के दिमाग में होता है.

प्रीमेनस्ट्रुअल सिंड्रोम. ये पीरियड के दौरान होने वाले हॉर्मोन बदलाव के कारण होता है. पीएमएस में लड़कियों को उदासी, फीलिंग्स का तूफान, चिड़चिड़ापन, ब्रेस्ट मे सूजन जैसी कुछ चीज़े महसूस होती हैं. तो अगली बार जब आपकी दोस्त या गर्लफ्रेंड पीरियड में अलग बिहेव करे तो गुस्सा करने के बजाय उसे प्यार से गले लगा लीजियेगा. उसका थोड़ा सा ज्यादा ध्यान रख लीजियेगा.

तो अब इन सब बातों को अपने दिमाग से निकाल कर कचरे के डब्बे में फेक दीजिए और बाकि लोगों तक भी ये जानकारी पहुंचाइये.

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here