चुनाव का मौसम चल रहा है ऐसे में गर्मी का बढ़ना लाज़मी है. हर दिन आपको कुछ नया देखने, सुनने और पढ़ने को मिलता होगा. ऐसे में कई ऐसे नेता हैं जिनपर आपराधिक मामले चल रहे हैं. आपराधिक मामले वाले तो 80% नेता है मगर हम आज आपको बताएँगे कि जमानत पर कौन-कौन नेता हैं. जमानत का मतलब ये होता है कि ये कभी भी अंदर जा सकते है ‘अंदर’ मतलब जेल के अंदर.

सबसे पहले बात करेंगे साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की क्योंकि उनकी वजह से ही मुझे ये खबर लिखने की प्रेरणा मिली है. ऐसा इसलिए क्योंकि उनके विरोधी लगातार ये कह रहे हैं कि वो जमानत पर बाहर हैं. बीजेपी ने उनको टिकट कैसे दिया? जबकि जो लोग ये सवाल कर रहे हैं उनकी पार्टी के बड़े-बड़े भी बड़े-बड़े घोटालों में शामिल होने के बाद चुनाव लड़ रहे हैं. ये लोग भी जमानत पर हैं.

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

साध्वी प्रज्ञा ठाकुरफोटो सोर्स- गूगल

बीजेपी ने साध्वी प्रज्ञा को भोपाल लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाया है. साध्वी प्रज्ञा सिंह को टिकट मिलने से विपक्ष में भी काफ़ी हलचल है. साध्वी प्रज्ञा पर मालेगाँव ब्लास्ट में शामिल होने का आरोप है. साध्वी प्रज्ञा ने अपनी बिगड़ी तबियत के कारण जमानत ली है. विपक्ष का सवाल है कि बीमार होने के बावजूद चुनाव प्रचार में प्रज्ञा ठाकुर इतनी सक्रिय कैसे हैं? वैसे सवाल तो बिलकुल ठीक है.

राहुल गाँधी

राहुल गांधीफोटो सोर्स- गूगल

इस सूची में दूसरा नाम है कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी का. दरअसल राहुल गांधी नेशनल हेराल्ड वाले केस में जमानत पर चल रहे हैं. उन्होने इस केस के कारण खूब आलोचनाएँ भी झेली हैं. इस बार के चुनाव के लिए राहुल गांधी वायनाड और अमेठी से मैदान में होंगे. अब भला जिस पार्टी का सर्वे-सर्वा ही जमानत पर घूम रहा हो उस पार्टी के सांसद उम्मीदवार कितने दूध के धुले होंगे इस बात का अंदाज़ा तो लगाया ही जा सकता है.

सोनिया गाँधी

सोनिया गांधीफोटो सोर्स- गूगल

इस सूची में अब नाम आता है राहुल गांधी जी की माँ सोनिया गांधी का. पता तो होगा ही आपको? सोनिया जी हमेशा की तरह इस बार भी रायबरेली से चुनाव लड़ेंगी. सोनिया गाँधी भी नेशनल हेरॉल्ड केस में जमानत पर चल रही हैं.

कन्हैया कुमार

कन्हैया कुमारफोटो सोर्स- गूगल

अगला नाम है जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार का. अरे वही, लेके रहेंगे आजादी वाले. आजादी मिली लेकिन जेल से और फिलहाल जमानत की वजह से. कन्हैया पर साल 2016 में देशविरोधी नारेबाजी करने का आरोप है. 11 फरवरी 2016 को उन पर ये मामला दर्ज हुआ था. 12 फरवरी 2016 को गिरफ्तारी हुई और 26 अगस्त को कन्हैया को जमानत मिल गई.

शशि थरूर

शशि थूरूरफोटो सोर्स- गूगल

इस लिस्ट में अगला नाम है कांग्रेस के नेता और जिनकी इंग्लिश सर के ऊपर से निकल जाती है उनका. पूरी दुनिया इनको शशि थरूर के नाम से जानती है. शशि थरूर पर उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर की हत्या के मामले में केस दर्ज है. सुनंदा पुष्कर की दिल्ली के एक बड़े से होटल में मौत हो गई थी. पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक उन्हें ज़हर देकर मारा गया था.  इस मामले में थरूर से पूछताछ भी चलती ही रहती है. दिल्ली पुलिस ने शशि थरूर के न्यायिक हिरासत की माँग की थी. जिसके बाद शशि थरूर ने तू डाल-डाल और मैं पात-पात वाला सिस्टम फॉलो करते हुए अग्रिम जमानत की माँग की थी और उनको वो जमानत मिल भी गई. फिलहाल साहेब मौज काट रहे हैं.

पप्पू यादव

पप्पू यादव- फोटो सोर्स- गूगल

लास्ट नाम है पप्पू यादव का. जन अधिकार पार्टी ने उनको इस बार बिहार की मधेपुरा लोकसभा सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है. पप्पू जी का तो अपराधों से चोली दामन का रिश्ता है. फिलहाल ये भाई साहब दो मामलों में ज़मानत पर हैं. 25 साल पहले पप्पू यादव ने पुलिस अधिकारी से बदसलूकी की थी और दूसरा मामला चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का है.

फिलहाल अभी इतना ही है अपना प्यार बना कर रखिए मिलते रहेंगे.

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here