‘अब की बार ट्रंप सरकार।’ 22 सितम्बर पीएम मोदी ने यह लाइन अमेरिका के ह्यूस्टन में 50,000 लोगों के सामने बोली। इस लाइन का बोलना था कि कांग्रेस के अलावा सभी तमाम विपक्षी पार्टियों ने पीएम मोदी पर धावा बोल दिया था। इस बारे में जब राजनीति तेज़ होती गई तो विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस पर सफाई देकर मामले को दबाने की जरुर कोशिश की लेकिन, इस बीच राहुल गांधी ने ट्वीट कर मजे ले लिए।

पहले जानिए विदेश मंत्री ने क्या कहा था?

विदेश मंत्री एस जयशंकर 3 दिन के लिए वाशिंगटन की यात्रा पर गए हुए हैं। जहां उन्होंने कई सारे मुद्दों पर बात किया। इसी बीच उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने ह्यूस्टन में जो ‘अब की बार ट्रंप सरकार का नारा’ दिया उसका सिर्फ एक ही मतलब था कि डॉनल्ड ट्रंप ने अपने राष्ट्रपति चुनाव प्रचार अभियान के दौरान भारतीय-अमेरिकी समुदाय का प्यार हासिल करने के लिए कहा था।

एस जयशंकर, फोटो सोर्स गूगल
एस जयशंकर, फोटो सोर्स गूगल

पहले ही और अभी भी हमारा अमेरिका के घरेलू राजनीति में निर्दलीय रुख रहा है। ऐसे में बातों को उसी अर्थ में समझने की ज़रुरत है जिस अर्थ में वो कही गई हैं । अगर मेरी यादाश्त कमजोर नहीं है तो यह लाइन पीएम मोदी से पहले ट्रंप खुद कह चुके थे। पीएम मोदी ने तो बस उनकी बातों को दोहराया है।

विदेश मंत्री के इसी बयान पर राहुल गांधी ने चुटकी ले ली है। राहुल गांधी ने पीएम मोदी को तो नहीं लेकिन, एस जयशंकर के द्वारा यह ख़बर जरुर पीएम तक पहुंचा दी कि पीएम मोदी को कूटनीति सीख लेनी चाहिए।

राहुल गांधी, फोटो सोर्स: गूगल
राहुल गांधी, फोटो सोर्स: गूगल

दरअसल, एस जयशंकर ने बयान दिया, उसी बयान के बाद राहुल गांधी ने ट्वीट किया और एस. जयशंकर का नाम मेंशन करते हुए लिखा-

हमारे पीएम की अक्षमता को कवर करने के लिए जयशंकर जी आपका धन्यवाद। पीएम मोदी के इस समर्थन ने भारत के लिए डेमोक्रेट के साथ गंभीर समस्याएं पैदा की। मुझे आशा है कि यह आपके हस्तक्षेप से सही हो जाएगा। इस पर काम करने के दौरान आप उन्हें थोड़ी बहुत कूटनीति के बारे में सिखाएं।

कांग्रेस पहले ही लगा चुका है आरोप

राहुल गांधी शायद इस बारे बयान देने से लेट हो गए हो लेकिन, कांग्रेस उनसे पहले ही पीएम मोदी के उस बयान पर सवाल पूछ चुका है। कांग्रेस के प्रवक्ता हैं आनंद शर्मा। उन्होंने पीएम मोदी पर आरोप लगाया है कि पीएम ने भारत की विदेश नीति सिद्धांतों का उल्लंघन किया है। आनंद शर्मा ने यह दावा किया है कि पीएम मोदी का यह बयान भविष्य में भारत की कूटनीति को प्रभावित करेगा।

साथ ही साथ आनंद शर्मा ने पीएम मोदी को नसीहत भी दे दी है कि,

पीएम मोदी आपको याद दिलाना चाहता हूं कि आप अमेरिकी चुनाव में स्टार प्रचारक की तरह नहीं, बल्कि भारत के प्रधानमंत्री के तौर पर गए हैं।

आनंद शर्मा ने यह भी ट्वीट किया कि,

अमेरिका के साथ हमारा रिश्ता हमेशा से दोनों पार्टियों (रिपब्लिकन और डेमोक्रेट) को लेकर एक जैसा रहा है। आपका खुल कर ट्रंप के लिए प्रचार करना भारत और अमेरिका जैसे संप्रभु और लोकतांत्रिक देशों में दरार पैदा करने वाला है।

ऐसे में कांग्रेस और राहुल गांधी ने तो पीएम मोदी के बयान पर तो अपना बयान दे दिया है लेकिन, इस बारे में अभी तक एस जयशंकर का ट्वीट या बयान नहीं आया है। पीएम मोदी भी इस राहुल गांधी या आनंद शर्मा के ट्वीट का कोई जवाब नहीं दिया है।

ये भी पढ़े- हाउडी मोदी में पीएम मोदी ने ट्रंप को सच्चा मित्र बताने के अलावा कई अहम बातें कही हैं