एक विडियो काफी वायरल हो रही है जिसमें कुछ लोग ‘भगवा वस्त्र’ पहने हुए हैं और कुछ अन्य लोगों पर अपनी गुंडागर्दी दिखा रहे हैं. भारत ऐसा देश है जहां कई प्रकार के प्राणी पाय जाते हैं. इन्हीं प्राणियों में कुछ बुद्धिजीवी आज कल भगवा रंग को अपना पेटेंट रंग मान चुके हैं. वह इसी रंग के कपड़े पहन कर सड़कों पर उतर जाते हैं. उसके बाद इनके अंदर जो ऊर्जा का उत्पादन होता है उसका कोई लिमिट नहीं होता. भगवा रंग हिंदुओं का औपचारिक रंग नहीं है. सूर्य देव जब उगते हैं तब उनका रंग भगवा होता है. सूर्य देव को हिन्दू परंपरा में एक ऊंचा स्थान मिला है और उन्हे भगवान का दर्जा दिया गया है. यह भी एक कारण है कि हिन्दू भगवा रंग को पाक मानते हैं.

यह सब इतना डीटेल में बताने का मकसद यह है कि लोग जब भगवा रंग पहन कर लोगों को माँ और बहन की गालियां देते हैं तब हमें शर्म आती है.

भगवाधारी लोग कश्मीरियों को पीटते हुए /फोटो सोर्स गूगल

इनसे पूछा जाना चाहिए कि क्या मंदिरों में जा कर भी यह ऐसी भाषा का प्रयोग करते हैं?

शर्म इसलिए आती है क्योंकि एक तरह से वह गाली खुद के ही लोगों को दे रहे हैं. इस देश मे सभी नागरिक एक दूसरे से उड़े हुए हैं तो उनको गाली देने से वह गाली खुद पर रिफ्लैक्ट होती है.

पहले नीचे विडियो देखिये, यहाँ दो विडियो है पहले में देख सकते हैं कि कैसे एक कश्मीरी को बेरहमी से पीटा जा रहा है और माँ की गाली भी दी जा रही है तो दूसरे में विडियो में देखा जा सकता है कि लोग एक अन्य कश्मीरी को मारना शुरू  हीं करते हैं कि आसपास के लोग आकर उन्हे रोक लेते हैं.

लखनऊ में बुधवार को ड्राई फ्रूट बेचने वाले दो युवकों को दो भगवा वस्त्र पहने वीएचपी के सदस्यों ने बेरहमी से पीटा. पीटे गए दो युवकों में से एक भाग गया जबकि दूसरे को वहाँ के कुछ लोकल युवकों ने बचा लिया. यह वाकया लखनऊ के डालीगंज इलाके की है. इस मामले में जो मुख्य आरोपी है वह खुद को विश्व हिन्दू दल का मेम्बर बता रहा है.

मीडिया से बात करते हुए एसएसपी कलानिधि नैयथनी ने बताया –

“लखनऊ में एक कश्मीरी स्ट्रीट वेंडर को पीटते हुए वायरल वीडियो में एक व्यक्ति को देखा गया था, विक्रेता को बाद में स्थानीय लोगों ने बचा लिया. अपराधी बजरंग सोनकर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. सोनकर की आपराधिक पृष्ठभूमि है और उसके खिलाफ हत्या के मामले सहित 12 मामले और भी दर्ज़ है.”

यह बयान एसएसपी द्वारा कल दिया गया था. आज के अपडेट आने तक 4 और लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है. सभी आरोपी विश्व हिन्दू दल के हैं. इस घटना पर जम्मू एंड कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुलाह ने ट्वीट करते हुए घटना पर खेद जताया.

कुछ दिनों में लोग शायद इस रंग से डरने लगेंगे. उन्हे डर रहेगा कि क्या पता कब इन गुंडों का दिमाग घूम जाये और किसी को भी पकड़ कर पीटना शुरू कर दें. इस देश में लोगों को रहने में डर नहीं लगता. किसी को यहाँ किसी से डर नहीं है. खुद को हिन्दू संगठन का हिस्सा बताने वाले इन लोगों को डर है कि हिन्दू धर्म खतरे में हैं. पर भाई साहब बता दें आपको कि खतरे में इनकी दुकानें हैं. इनकी ये दुकानें कहीं बंद न हो जाये इसलिए समय-समय पर यह खुद को देश भक्त प्रूव करने के लिए निकल पड़ते हैं और बेकसूर को पीट देते हैं. दरअसल ये वो लोग हैं जिन्हे खूबसूरत वादियों वाला कश्मीर तो चाहिए लेकिन उन वादियों मे रहने वाले कश्मीरी नहीं चाहिए। 

 

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here