ऋषभ पंत के लिए दो ख़बरें हैं। एक अच्छी तो एक बुरी। अच्छी ये कि BCCI ने अपनी नई कंट्रैक्ट लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट ने क्रिकेट जगत में काफी शोर मचा रखा है क्योंकि इस लिस्ट में महेन्द्र सिंह धोनी, दिनेश कार्तिक और अंबाती रायडू का नाम नहीं है। जिसके बाद यह बताया जा रहा है कि शायद इन तीनों क्रिकेटर्स का करियर खत्म हो गया है। वहीं लिस्ट में पंत के नाम को लेकर भी काफी चर्चा हो रही है। बीसीसीआई की इस लिस्ट में पंत को ग्रेड A में रखा गया है। इस लिस्ट में रहने का मतलब यह है कि उन्हें सलाना लगभग 5 करोड़ रुपये मिलेंगे। इसी को लेकर बवाल हो रहा है।

लोगों का कहना है कि पंत का जिस तरह का प्रदर्शन पिछले कुछ दिनों में रहा है, उसे देखते हुए वह ग्रेड A डिजर्व नहीं करते हैं। एक ओर पंत के बारे में ये चर्चा हो रही है तो, दूसरी ओर पंत अब वानखेड़े से सीधे NCA पहुंच गए हैं। पंत को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए पहले वनडे में कमिंस के ओवर में चोट लगी थी। बैटिंग तो उन्होंने पूरी की लेकिन, फील्डिंग करने के लिए वो नहीं आए। उनकी जगह के एल राहुल ने विकेट कीपिंग की। ऐसे में आज यानि शुक्रवार को राजकोट में होने वाले दूसरे वनडे में पहला प्रश्न यही है कि पंत की जगह किसको टीम में शामिल किया जाएगा?

ऋषभ पंत, फोटो सोर्स: गूगल

ऋषभ पंत, फोटो सोर्स: गूगल

राजकोट वनडे से पहले विराट कोहली के सामने पहला सवाल यही है कि वो ऑस्ट्रेलिया से जीते कैसे? क्योंकि जिस तरह का प्रदर्शन पहले वनडे में था उसके बाद तो उन्हें बैटिंग और गेंदबाजी दोनों में मजबूती की जरुरत है। ऐसे में ऋषभ पंत की जगह अगर टीम इंडिया को किसी बल्लेबाज को लेने की बात होगी तो उसमें दो नाम शामिल हैं। पहला नाम केदार जाधव हैं और दूसरा मनीष पाण्डेय। दोनों में केदार जाधव के नाम पर मुहर लग सकती है क्योंकि वानखेड़े में जिस तरह से भारतीय गेंदबाज एक विकेट लेने के लिए तरसते दिखे थे, उसे देखकर जाधव मजबूत दावेदार हैं क्योंकि जाधव का नंबर 6 पर खेलते हुए 50 से ऊपर का औसत है और साथ ही टीम को एक गेंदबाज का ऑप्शन भी देते हैं। वहीं भारतीय टीम का टॉप ऑर्डर ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजी के सामने जिस तरह से फेल हुआ, उसको देखा जाए तो मनीष पाण्डेय का भी नाम प्लेइंग इलेवन में शामिल हो सकता है।

मनीष पाण्डेय और चहल, फोटो सोर्स: गूगल

मनीष पाण्डेय और चहल, फोटो सोर्स: गूगल

पहले वनडे में देखा गया था कि ऑस्ट्रेलिया के दोनों सलामी बल्लेबाज कुलदीप यादव के सामने परेशान होते हुए दिखे थे। इस नजरिए से देखें तो युजवेंद्र चहल को भी प्लेइंग इलेवन में मौका मिल सकता है। 50 मैचों में 85 वनडे विकेट झटकने वाले युजवेंद्र चहल का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अच्छा रिकॉर्ड है। इस लेग स्पिनर ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 7 मैचों में 15 विकेट झटके हैं। साथ ही ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को भारतीय तेज गेंदबाज ज्यादा परेशान नहीं कर सकते, खासकर शार्दुल ठाकुर गेंदबाजी में थोड़ा कमजोर दिख रहे हैं। ऐसे में चहल को उनकी जगह मौका दिया जा सकता है।

टॉप ऑर्डर को लेकर भी भारतीय टीम के मैनेजमेंट के बारे में सोचना पड़ सकता है। के एल राहुल ने नंबर तीन पर आकर रन जरुर बनाए थे लेकिन, विराट कोहली का नंबर चार पर प्रदर्शन पिछले कुछ दिनों से ठीक नहीं है। उन्होंने नंबर 4 पर पिछली 7 पारियों में महज 62 रन बनाए हैं। ऐसे में कोहली एक बार फिर से अपने नंबर को लेकर सोचेंगे। अगर नंबर तीन पर विराट कोहली बैटिंग करते हुए देखे जाते हैं तो, शायद नंबर चार पर राहुल को देखा जा सकता है। श्रेयस अय्यर फिर भी नंबर 5 पर ही खेलते हुए दिखेंगे।