7 नवंबर और राजकोट का मैदान, दो टीमें आमने-सामने होंगी, भारत और बांग्लादेश। दोनों टीमों के लिए यह मैच इम्पॉर्टेंट होने वाला है। मेहमान यानि बांग्लादेश की यह मैच जीत कर सीरीज पर कब्जा करने की कोशिश होगी तो रोहित शर्मा की टीम मैच जीत कर सीरीज में बराबरी करना चाहेगी। लेकिन, यह कैसे होगा, यह सबसे बड़ा सवाल है।

भारतीय टीम में इस वक्त विराट नहीं हैं और न ही जसप्रीत बुमराह। भुवनेश्वर कुमार और रविन्द्र जडेजा को भी आराम दिया गया है। ऐसे में गेंदबाजी थोड़ी कमजोर है भारतीय टीम की। इसका एक नमूना दिल्ली में खेले गए पहले मैच में देख चुके हैं। खलील अहमद, जो भारत के इस वक्त मुख्य गेंदबाज हैं, दिल्ली में उनकी खूब कुटाई की गई थी। मुश्फिकुर ने उनके एक ही मैच में भारत के जीत की उम्मीद खत्म कर दी थी। ऐसे में राजकोट का मुकाबला भी भारत के लिए आसान नहीं होगा।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान रोहित शर्मा, फोटो सोर्स: गूगल
प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान रोहित शर्मा, फोटो सोर्स: गूगल
भारत के कप्तान रोहित शर्मा के लिए राजकोट मैच काफी खास होने वाला है। जब रोहित शर्मा बांग्लादेश के खिलाफ दूसरे टी-20 मैच में खेलने उतरेंगे तो, यह उनके करियर का 100वां टी-20 मैच होगा। 100वां टी-20 मैच खेलने वाले रोहित शर्मा पहले भारतीय बन जाएंगे। विश्व में वह दूसरे खिलाड़ी होंगे, जिन्होंने 100 से ज्यादा टी-20 मैच खेले हैं। रोहित शर्मा ने अभी तक खेले गए 99 टी-20 मुकाबलों में 136.7 की स्ट्राइक रेट से 2,452 रन बना चुके हैं। जिसमें 17 अर्धशतक और और चार शतक शामिल हैं।

रोहित शर्मा के अलावा पाकिस्तान के शोएब मलिक ने अभी तक 111 टी-20 मैच खेले हैं। जिनमें 2,263 रन बनाए हैं। भारत के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी, दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्होंने सबसे ज्यादा टी-20 मैच खेले हैं। धोनी अभी तक 98 टी-20 मैच खेल चुके हैं। विराट कोहली ने अभी तक 72 टी-20 मैच खेले हैं लेकिन, रोहित शर्मा से केवल 2 रन पीछे हैं। उन्होंने 72 टी-20 मुकाबलों में 2,450 रन बनाए हैं जबकि, हैरानी ये है कि टी-20 में विराट के नाम अभी तक कोई शतक नहीं है।

राजकोट के मैच से पहले रोहित शर्मा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इसमें एक पत्रकार के फोन बज जाने पर उन्होंने कहा कि,

प्लीज़ अपने फोन को साइलेंट रखो बॉस

इसके बाद उन्होंने कहा कि जो दिल्ली में टीम थी उसमें कुछ बदलाव देखने को मिल सकते हैं। क्योंकि दिल्ली में हम लोग पिच के मुताबिक खेल रहे थे और राजकोट में हमारा अप्रोच अलग होगा। अपने करियर के बारे में बात करते हुए रोहित शर्मा ने कहा कि जब आप युवा खिलाड़ी के तौर पर टीम में आते हैं तो आप चीजों को सीखने की कोशिश करते हैं। फिर कुछ उतार चढ़ाव के बाद मैं मजबूत खिलाड़ी बन गया और तब मैंने अपने खेल को अच्छी तरह समझना शुरू किया।

2007 टी-20 वर्ल्ड कप जीतने के बाद भारतीय टीम, फोटो सोर्स: गूगल
2007 टी-20 वर्ल्ड कप जीतने के बाद भारतीय टीम, फोटो सोर्स: गूगल
रोहित शर्मा ने साल 2007 में टी-20 मैच में डेब्यू किया था। उसी साल जब टीम इंडिया टी-20 वर्ल्ड कप जीती तो, उस चैंपियन टीम का रोहित शर्मा हिस्सा थे। राजकोट में भारत मैच जीत कर सीरीज बराबरी करने की सोचेगा, वहीं बांग्लादेश इस मैच को जीत कर भारत से पहली बार टी-20 सीरीज जीतेगा। बांग्लादेश के महमुदुल्लाह रियाद भी रिकार्ड्स बनाने के करीब हैं। अगर वह दो और छक्के जड़ देंगे तो वह टी-20 में 50 छक्के लगाने वाले पहले बांग्लादेशी बल्लेबाज बन जायेंगे।

ये भी पढ़े:- बांग्लादेश से हार के बाद भारतीय सेलेक्टर्स को हटाने की बातें शुरु हो गई हैं