14 फरवरी को हुये पुलवामा अटैक के बाद देश का माहौल थोड़ा सही हुआ है लेकिन खेल जगत में तो अलग ही बयानबाजी चल रही है। हर रोज कोई फैसला आता है और फिर उस पर बयान आते हैं। कहा जा रहा था कि BCCI ने ICC को पाकिस्तान को वर्ल्ड कप से बाहर करने के लिये खत लिखेगी। लेकिन अब BCCI ने कहा है कि सरकार जो कहेगी वैसा ही हम करेंगे। अब तक चुप रहे दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने भी इस पर अपनी बात कही है।

Image result for sachin tendulkarवर्ल्ड कप में भारत को पाकिस्तान से खेलना चाहिये, इस पर सचिन तेंदुलकर ने कहा है, हमने वर्ल्ड कप में हमेशा अच्छा प्रदर्शन किया है। हमने हर बार पाकिस्तान को हराया है। अब फिर से उन्हें हराने का वक्त आ गया है। हमको मुकाबले से हटने की पाकिस्तान को बुरी तरह से हराना चाहिये। मेरा निजी तौर पर मानना है कि पाकिस्तान को दो अंक ऐसे ही नहीं देना चाहिये। क्योंकि ऐसा होता है तो वर्ल्ड कप में पाकिस्तान को फायदा हो सकता है।

सचिन तेंदुलकर ने कहा, ये मरे खुद के विचार हैं। मेरे लिये देश सबसे पहले है। देश का जो फैसला होगा, उसका मैं तहेदिल से समर्थन करूंगा। सचिन तेंदुलकर की तरह ही सुनील गावस्कर ने भी यही बात कही थी कि भारत को पाकिस्तान से खेलकर हराना चाहिये। इन खिलाड़ियों के अलावा सौरव गांगुली, वीरेन्द्र सहवाग, हरभजन सिंह भी अपनी-अपनी बात कह चुके हैं। हरभजन सिंह वो खिलाड़ी हैं। जिन्होंने पहली बार कहा था कि भारत को पाकिस्तान से मैच नहीं खेलना चाहिये।

Image result for sarfraz ahmedवर्ल्ड कप 30 मई से शुरू हो रहा है। भारत-पाकिस्तान मैच 16 जून को है। जिस पर बयानबाजी और कयासबाजी हो रही है। पाकिस्तान के कप्तान सरफराज ने भी बयान दिया है। पाकिस्तानी कप्तान ने कहा, भारत-पाकिस्तान का मैच होना चाहिये। लाखों लोग चाहते हैं कि ये मैच हो। मेरा मानना है कि राजनीतिक हितों के लिये क्रिकेट का निशाना नहीं बनाना चाहिये। ये निराशाजनक है कि पुलवामा घटना के बाद क्रिकेट को निशाना बनाया जा रहा है। मुझे याद नहीं है कि पाकिस्तान ने कभी खेलों के साथ राजनीति को जोड़ा हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here