राजनीति अच्छी चीज होती है और ज़रूरी भी। ऐसा इसलिए क्योंकि इसी के सहारे आप अपने विपक्ष को चित्त कर सकते हो। पर राजनीति के दो पहलू होते हैं, एक अच्छी और एक बुरी। ये एक बेहद ही अफसोस की बात है कि हमारे देश में बुरी राजनीति ज्यादा होती है। पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने एयर स्ट्राइक किया। पूरे देश ने इसका समर्थन किया। यहाँ तक कि विपक्ष में बैठे राहुल गांधी ने भी आतंकवाद जैसे मुद्दों पर सरकार का साथ देने की बात की। ऐसा लगा कि इस नाज़ुक मौके पर पूरा देश एक साथ खड़ा है। ये अच्छी राजनीति थी।

पाकिस्तान के साथ चल रहे गरमा-गरम माहौल में हमारा एक पायलट पाकिस्तान की सेना के कब्ज़े में चला जाता है और फिर छूट जाता है। इसके बाद भसड़ शुरू हो जाती है। गंदी वाली राजनीति शुरू हो जाती है जोकि चल ही रही है। सभी पार्टियां पाकिस्तान पर हुए हमले को लेकर अपना-अपना क्रेडिट लेने की होड़ में लग जाती है।

अब इसमें एक नया नाम जुड़ा है और वो है कांग्रेस के नेता सलमान खुर्शीद का। सलमान खुर्शीद ने 2 मार्च को एक ट्वीट किया। इस ट्वीट में उन्होने लिखा –

‘दुश्‍मन की आक्रामकता के सामने भारतीय प्रतिरोध के चेहरे विंग कमांडर अभिनंदन को बहुत बधाई. हमें इस बात का गर्व है कि वह वर्ष 2004 में एयरफोर्स में शामिल हुए और यूपीए के शासनकाल के दौरान एक मैच्‍योर फाइटर पायलट बने।’

यह रहा वो ट्वीट –

इस ट्वीट में साफ झलक रहा है कि बड़ी चालाकी से विंग कमांडर अभिनंदन की बहादुरी का क्रेडिट किसी पार्टी विशेष को दिया जा रहा है। ये घटिया है सलमान खुर्शीद साहब। हमारी सलाह है कि आपको ट्विटर चलाना बंद कर देना चाहिए। अगर नहीं तो कम से कम कोई ढंग का ‘समझदार’ व्यक्ति ही रख लीजिये जिसे मालूम हो कि किस बात पर क्रेडिट लेना चाहिए और किस पर नहीं, तब इस पर ट्वीट किया जाए। न कि सरकार के कार्यकाल के दौरान हुई घटनाओं को कहीं भी जोड़कर ओछी राजनीति की जाए।

यह राजनीति का निम्नतम स्तर है। यह दिखाता है कि आपके लिए भावनाएं मायने नहीं रखती हैं, आपके लिए बस आपकी पार्टी मायने रखती है। लोकतांत्रिक देश के एक राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टी के बड़े चेहरे के मुंह से अगर इस तरह की बातें सामने निकल कर आ रही हो तो यह उस पार्टी के लिए तो शर्मनाक है ही, हमारे लिए भी कम शर्मनाक नहीं है कि हम वैसे देश में रह रहें हैं, जहां देश की राजनीति का घिनौना खेल सेना के साथ भी खेला जाता है।

राजनीति के इस खेल में क्या देश की 130 करोड़ जनता कम पड़ गई है जो इस तरह की जुमलेबाज़ी अब देश के निस्वार्थ सैनिकों के लिए की जाने लगी है। लोकसभा चुनाव नज़दीक है. सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी-अपनी पार्टी के प्रचार में लगी हुई हैं। चुनाव जीतने का जुनून इस तरह सर चढ़ा है कि इन राजनेताओं को किसी भी स्तर पर जाना पड़े तो ये जाने के लिए तैयार हो सकते हैं। क्योंकि जिस तरह से सलमान खुर्शीद ने ट्वीट कर सेना के बारे में कहा है उससे तो एक ही बात ससझ आ रही है कि अपनी पार्टी के द्वारा किए गए कार्यों की उपलब्धियों को गिनवाने में अब भारतीय सेना की प्रशिक्षण व्यवस्था को भी शामिल कर लिया गया है।

सलमान खुर्शीद के इस ट्वीट के बाद राजनीति के गलियारों में चर्चाएं शुरु हो गई है। कुमार विश्वास ने उन पर तंज कसते हुए लिखा –

‘मैंने 2004 में मारुति जेन ख़रीदी थी। इसके चारों टायर की ओर से UPA और मडगार्ड की ओर से सलमान साहब आभार’

ये रहा वो ट्वीट –

वैसे देखा जाए तो सलमान खुर्शिद साहब ही नहीं बल्कि उनकी पार्टी भी इस तरह के मामलों में कई बार ट्रोल हो चुकी हैं। 2018 में जब बॉलीवुड की श्रीदेवी की हुई अचानक मौत के बाद कांग्रेस ने ट्वीट किया था। जिसके बाद कांग्रेस को काफी आलोचना का सामना करना पड़ा था। कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा था कहा था,

‘श्री देवी की खबर सुनकर हमें दुख है। वह एक बेहतरीन अदाकारा थी। उनके चाहने वालों के प्रति हमारी संवेदना। उन्हे 2013 में युपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान पद्मश्री से नवाजा गया था।’

ये रहा ट्वीट –

कहा जाता है कि लोग गलतियों से सीखते हैं लेकिन सलमान खुर्शीद और उनकी पार्टी ने गलती करने को एक पेशा बना लिया है। लेकिन चुनाव के इस दौर में कौन-कौन से हथकंडे अपनाए जा रहे हैं ये देखने के लिए हमें और आपको तैयार रहना होगा।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here