सबीना पार्क जमैका में आज होने वाला भारत और वेस्टइंडीज के बीच दूसरा टेस्ट मैच लेकिन, इससे ज्यादा जरुरी कि दाव पर लगे हैं पूरे 60 प्वाइंट्स। मतलब अगर भारत यह मैच जीतता है तो उसके पूरे 120 प्वाइंट्स हो जाएंगे और वह टेस्ट वर्ल्ड चैंपियनशिप के प्वाइंट्स टेबल में सबसे टॉप पर पहुंच जाएगा। विराट कोहली के दिमाग में यह जरुर चल रहा होगा कि हमनें वेस्टइंडीज को टी-20 में हरा दिया, वन-डे में हरा दिया और अब यह टेस्ट मैच जीतकर क्लीन स्वीप करके भारत लौटना अच्छा होगा। विराट कोहली का यह विचार एक तरह से सही भी है क्योंकि जिस तरह से पिछले मैच में वेस्टइंडीज को 318 रनों से हराया था उसको देखते हुए यह बिल्कुल कहा जा सकता है कि भारत यह मैच भी बड़ी आसानी से जीत जाएगा। लेकिन, कहते हैं न कि क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है यहां कभी भी कुछ भी हो सकता है। ऐसे में भारत वेस्टइंडीज टीम को हल्के में लेने की गलती बिल्कुल नहीं करने वाली है।

Image result for india vs west indies 2nd test
भारतीय क्रिेकेट टींम, फोटो सोर्स: गूगल

भारत के दिमाग में ये जरुर होगा कि वेस्टइंडीज के पास केमर रोच और रोस्टन चेज जैसे गेंदबाज भी हैं जिनका सामना करने में भारत के बल्लेबाज काफी परेशान दिखे थे। ऐसे में भारत इन दोनों के खिलाफ एक रणनीति की तहत उतरने की कोशिश करेगा। अब देखना ये होगा कि वेस्टइंडीज इस अंतिम टेस्ट में कैसे खेलता है। क्योंकि पिछले टेस्ट में कभी ऐसा लगा ही नहीं कि वह भारत के आस-पास भी है। ऐसे में वेस्टइंडीज के सामने एक सबसे बड़ा सवाल यह है कि वह भारतीय गेंदबाजों का कैसे सामना करेगी?

इन पर रहेगी निगाहें

भारत पहला मैच जीत गया लेकिन, कही न कही इसमें उसकी कमियां भी खुल कर सामने आ गईं। भारत की बल्लेबाजी को देखेंगे तो जो गहराईयां है उसके अनुरुप अभी भी प्रदर्शन नहीं हो पा रहा है। अभी भी भारत को अपनी ओपनिंग जोड़ी को लेकर माथापच्ची करने की ज़रुरत है। मयंक अग्रवाल उम्मीद के अनुसार नहीं खेल पा रहे हैं जबकि पंत के आउट होने का तरीका सबके लिए चिंता का विषय है। पंत का हालिया प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा है। पंत के पिछले कुछ पारियों पर नज़र दौड़ाएं तो 00, 04, 65, 20, 00, 24 और 07 रन बनाए हैं। ऐसे में उन्हें यह बिल्कुल भी नहीं भूलना चाहिए कि ड्रेसिंग रुम में ऋद्धिमान साहा भी हैं।

हालांकि आजिंक्य रहाणे और हनुमा विहारी ने पिछले टेस्ट मैच में जिस तरह का प्रदर्शन किया था उसे देखते हुए कहा जा रहा है कि भारत का मध्यक्रम मजबूत है। टॉप के बल्लेबाजों में के एल राहुल के साथ दिक्कत ये है कि वह पारी की शुरुआत अच्छी कर रहे हैं लेकिन, अपनी पारी को बड़ी पारी में तब्दील करने में अभी तक नाकाम रहे हैं। ऐसे में विराट कोहली को इस टेस्ट मैच में उनसे एक बड़ी पारी की उम्मीद जरुर होगी।

मयंक अग्रवाल का प्रदर्शन काफी अहम हो जाता है कि क्योंकि उनको यह समझना चाहिए कि रोहित शर्मा जैसा बल्लेबाज इस वक्त ड्रेसिंग रुम में बैठा हुआ है। वहीं दूसरी तरफ एक बार फिर वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों के लिए इम्तिहान होने वाला है। पिछले टेस्ट मैच की पहली पारी में ईशांत शर्मा के सामने और दूसरी पारी में जसप्रीत बुमराह के सामने वेस्टइंडीज के बल्लेबाज जिस तरह से जुझते हुए नज़र आए थे अगर वैसा ही रहा तो इसमें कोई शक नहीं है कि भारत को सीरीज के पूरे-पूरे 120 अंक मिलने वाले हैं। लेकिन, नई गेंद के साथ वेस्टइंडीज एक बार फिर केमार रोच और शेनन ग्रैबिएल से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद करेगी। जहां तक उम्मीद यही की जा रही है कि पहले टेस्ट में जो प्लेइंग 11 था उसमें कोई बदलाव नहीं होने वाला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here