भारतीय क्रिकेट टीम का फिलहाल अभी तक का विश्व कप सफर शानदार रहा है। इस विश्व कप में खेले गए अपने दोनों ही मैच भारत ने जीते हैं। पहला साउथ अफ्रीका के खिलाफ और दूसरा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ। इन दोनों मैचों में अगर जीत की वज़ह तलाशी जाए तो बॉलिंग तो अहम है ही लेकिन भारत के टॉप ऑर्डर का शानदार फॉर्म भी सबसे बड़ा फैक्टर है। ऐसे में आने वाले मैचों में भारतीय टीम हर हाल में अपने टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों पर निर्भर होने वाली है।

शिखर धवन, फोटो सोर्स: गूगल
शिखर धवन, फोटो सोर्स: गूगल

इस बीच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हुए अपने दूसरे मैच में भारत के ‘गब्बर’ यानि शिखर धवन चोटिल हो गए। चोट कोई मामुली नहीं है। इस चोट ने ना ही सिर्फ शिखर धवन के लिए बल्कि, भारत के लिए भी खतरे की घंटी बजा दी है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हुए मैच में शिखर ने शानदार 109 गेंदों में 117 रनों की पारी खेली थी। इसी पारी के दौरान कुल्टर नाइल की एक गेंद शिखर के अंगुठे पर जाकर लगी और उनका अंगुठा फ्रैक्चर हो गया। जिसके बावजुद शिखर बेबाक अंदाज में खेलते रहे और फिर शतक ठोक दिया।

इंडिया जब फिल्डिंग के लिए आई तो शिखर धवन फिल्ड में नहीं दिखे। उनकी जगह पर रविन्द्र जडेजा ने 50 ओवर फिल्ड पर गुजारे। अपनी पारी के दौरान शिखर पवेलियन में बैठे रहे और बर्फ से अपने अंगुठे की सिकाई करते रहे। शिखर की अंगुली में चोट लगने की वजह से उन्हें अब तीन हफ्तों तक टीम से बाहर रहना पड़ेगा। बताया तो यह भी जा रहा है कि शिखर के अंगुठे में लगी चोट को पहले गंभीरता से नहीं लिया गया लेकिन, जब अंगुठे की सुजन कम नहीं हुई तब नॉटिंघम में स्कैन कराया गया। स्कैन के बाद अंगुली के फ्रेक्चर होने की बात सामने आई।

रविन्द्र जडेजा और विजय शंकर, फोटो सोर्स: गूगल
रविन्द्र जडेजा और विजय शंकर, फोटो सोर्स: गूगल

शिखर की जगह ओपनर कौन?

शिखर को चोट लगने के बाद सबसे बड़ा प्रश्न तो यही है कि रोहित शर्मा के साथ टीम का सलामी बल्लेबाज कौन होगा?  वैसे देखें तो भारत के पास के एल राहुल के रुप में एक ऑप्शन है जो रोहित शर्मा के साथ मिलकर टीम को शुरुआत दिला सकता है।

तो फिर चौथे नंबर पर कौन खेलेगा?

लेकिन मामला तो यहां भी फंसने वाला है कि अगर सलामी बल्लेबाज के रुप में राहुल दिखेंगे तो फिर चौथे नंबर पर कौन होगा? ऐसे में दो विकल्प है- विजय शंकर और रविन्द्र जडेजा। दोनों में काफी सिमिलरीटी है। दोनों का खेल थ्री डाइमेंसनल है। लेकिन अगर के एल राहुल की जगह पर किसी को फिट बैठना हो तो फिर बैंटिंग में गहराई होनी चाहिए। ऐसे में विजय शंकर ज्यादा फिट बैठते हैं। लेकिन अगर रविन्द्र जडेजा को धवन के जगह फिल्डिंग के लिए भेजा गया है तो हो सकता है कि कोहली के दिमाग में रविन्द्र जडेजा हो।

शतक जमाने के बाद शिखर धवन, फोटो सोर्स: गूगल
शतक जमाने के बाद शिखर धवन, फोटो सोर्स: गूगल

जैसा भी हो लेकिन आने वाले तीन हफ्तों में अब भारत धवन के बिना ही उतरने वाला है। ऐसे में 13 जून को न्यूजीलैंड और 16 जून को पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले मैच में धवन नहीं दिखने वाले हैं। शिखर धवन ने अपने करियर के दौरान आईसीसी टूर्नामेंट्स में शानदार प्रदर्शन किया है। धवन ने 2015 के वर्ल्ड कप में 51.50 की औसत से 412 रन बनाए थे, जिसमें उनके दो शतक शामिल रहे। आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी (2013-2017) में भी धवन का जोरदार प्रदर्शन रहा है। उन्होंने 77.88 की औसत से तीन शतकों के साथ 701 रन बनाए। ऐसे में धवन के बिना इंडिया कैसा खेलती है यह देखना दिलचस्प होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here