आजकल पूरे भारत में चुनाव हावी है लेकिन उससे भी ज्यादा अगर कुछ हावी है तो वो है आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला। सभी राजनीतिक दल विकास के मुद्दे को अलग ताक पर रखकर एक दूसरे को नीचा दिखाने में लगे हुए हैं। एक दूसरे पर बयानबाजी से लेकर राजनीति का सफर अब थप्पड़ तक भी आ चुका है। पहले राजनीतिक पार्टियां एक-दूसरे पर आरोप लगा रही थी लेकिन ये आरोप अब निजी तौर पर लगने शुरु हो गए हैं। राहुल गांधी ने पीएम मोदी से राफेल मामले में जवाब मांगा तो पीएम मोदी ने राहुल गांधी के पिता राजीव गांधी के उपर ही सवाल उठा दिए।

राजीव गांधी और नरेन्द्र मोदी, फोटो सोर्स: गूगल
राजीव गांधी और नरेन्द्र मोदी, फोटो सोर्स: गूगल

पीएम मोदी ने राजीव गांधी को अब तक का सबसे भ्रष्ट प्रधानमंत्री बता दिया जो कि काफी शर्मनाक है। अब राजनीति का स्तर इतना गिर चुका है कि जो अब इस दुनिया में नहीं है उनके नाम पर भी राजनीति खेली जा रही है।

खैर, राजीव गांधी के बाद राहुल गांधी की नागरिकता पर भी सवाल उठने शुरु हो गए। राहुल गांधी पर दोहरी नागरिकता का आरोप लगाया गया और फिर इसके लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दायर कर दिया गया। राहुल गांधी के खिलाफ जिस तरह से दोहरी नागरिकता के लिए सुप्रीम कोर्ट में शिकायत की गई उस पर सुप्रीम कोर्ट का जवाब भी आ गया है। इस मामले में शीर्ष कोर्ट ने राहुल गांधी को राहत दी है।

रंजन गोगोई, फोटो सोर्स: गूगल
रंजन गोगोई, फोटो सोर्स: गूगल

राहुल गांधी के खिलाफ याचिका दाखिल करते हुए आरोप लगाया गया कि राहुल गांधी के पास ब्रिटेन की भी नागरिकता है लिहाजा उन्हें लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए आयोग्य करार दिया जाए। याचिकाकर्ता के इस शिकायत के बाद सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता से पुछा कि आप कौन हैं? इस पर याचिकाकर्ता ने कहा कि वह भारत का नागरिक है। साथ ही समाजिक कार्यकर्ता और राजनीति करते हैं। दरअसल, राहुल गांधी के खिलाफ यह याचिका यूनाइटेड हिंदू फ्रंट के कार्यकारी अध्यक्ष जय भगवान शर्मा और अखिल भारतीय हिंदू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सीपी कौशिक के तरफ से दायर की गई थी।

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में क्या कहा? 

याचिका की सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायधिश रंजन गोगोई ने कहा, हम इस याचिका को खारिज करते है क्योंकि इसमें कोई मेरिट नहीं है। कोर्ट ने फैसला सुनाते वक्त याचिकाकर्ता से पुछा कि आपको इस बात की जानकारी कैसे हुई कि राहुल गांधी के पास ब्रिटेन की भी नागरिकता है?

राहुल गांधी, फोटो सोर्स: गूगल
राहुल गांधी, फोटो सोर्स: गूगल

इस पर याचिकाकर्ता ने कहा कि ब्रिटेन की एक कंपनी के दस्तावेज से खुलासा हुआ कि राहुल गांधी ब्रिटिश पासपोर्ट धारक हैं। राहुल गांधी सांसद हैं और पीएम बनना चाहते हैं। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने जवाब में कहा कि कौन पीएम नहीं बनना चाहता है? क्या आप ऐसा अवसर ठुकरा देंगे? सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता से कहा कि सिर्फ किसी विदेशी कंपनी के दस्तावेज लाकर आप ऐसा दावा कर रहे हैं, तो आप सही नहीं हैं। लिहाजा इस याचिका को खारिज किया जाता है।

सुब्रह्मण्यम स्वामी, फोटो सोर्स: गूगल
सुब्रह्मण्यम स्वामी, फोटो सोर्स: गूगल

इससे पहले भी राहुल गांधी की नागरिकता को लेकर बीजेपी ने भी आरोप लगाया था। जिसपर गृह मंत्रालय ने राहुल गांधी को नोटिस जारी किया था। गृह मंत्रालय ने अपने नोटिस में राहुल गांधी से पुछा था कि आपकी नागरिकता को लेकर शिकायत की गई है। इस पर आप अपनी रुख स्पष्ट करें और तथ्य सामने रखें। गृह मंत्रालय ने यह नोटिस बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी की शिकायत पर भेजा था।

वहीं, इस नोटिस के जवाब में कांग्रेस ने कहा था कि राहुल गांधी जन्मजात भारतीय हैं और पूरी दुनिया यह जानती है। साथ ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने राहुल गांधी की नागरिकता के विवाद को बकवास बताया था। उन्होंने कहा था कि पूरा हिंदुस्तान जानता है कि राहुल गांधी जन्मजात हिंदुस्तानी हैं।

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद राहुल गांधी को जरुर राहत मिली होगी। काफी लंबे समय से चलते आ रहे इस मामले ने अब जाकर अंतिम रुप ले लिया है। राहुल गांधी के पक्ष में आए इस फैसले से बीजेपी को जोर का झटका लगा होगा।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here