भारत में हर रोज़ किसी न किसी का दिया हुआ बयान चर्चा में बना ही रहता है। हाल ही में बीबीसी से हुई बातचीत में तिब्बत के आध्यात्मिक नेता दलाई लामा ने एक बात कही, जो कि एक विवादित बयान बन कर सामने आया।
दलाई लामा ने अपने इंटरव्यू में कहा कि अगर कोई महिला दलाई लामा बनती हैं तो उनका आकर्षक होना ज़रूरी है।

अब सुनने में तो बयान विवादित लगता है। तो विवाद भी हो ही गया और देश भर में महिलाओं ने इसका विरोध भी किया। किसी भी मुद्दे पर तेज़ी से आवाज़ उठाने वाले लोग हमारे देश में सकारात्मक रूप से अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं, ये हमारे लिए गर्व की बात है। अगर कोई भी उंगली उठाने वाली बात हमें दिखाई या सुनाई दे तो उसके पीछे के सही गलत के बारे में जानने से पहले, यह ज़रूरी है की आवाज़ उठाई जाए।

अब जब दलाई लामा ने इंटरव्यू दे दिया और उस पर विवाद हो गया तो उन्हें अपनी सफाई पेश करने के लिए दोबारा जवाब देना पड़ा।

 दलाई लामा, फोटो सोर्स: गूगल

दलाई लामा के कार्यालय ने उनके कहे शब्दों के लिए माफी मांगी और कहा कि वो मज़ाक कर रहे थे।

“उनकी बात से लोगों की भावनाएं आहत हुई उन्होंने इसके लिए माफी मांगी है”

माफी मांगते हुए कहा गया है कि –

“कभी-कभी इस तरह की टिप्पणियां संदर्भ से अलग होती हैं, इनके सांस्कृतिक संदर्भ अलग होते हैं। फिर मज़ाकियां बात जब किसी एक भाषा से दूसरी भाषा में अनुवादित हो तो वो अपना हास्य खो देती है। दलाई लामा को इस बात से बेहद खेद है”

आगे दलाई लामा की सफाई में ये भी बताया गया कि उन्होंने पूरे जीवन में महिलाओं को वस्तु मानने वाले विचारों का विरोध किया है और महिला-पुरुष समानता का समर्थन किया है।

वैसे विवादित इंटरव्यू में दलाई लामा ने और भी विषयों पर टिप्पणी की। जैसे दलाई लामा ने रिफ्यूज़ियों पर भी टिप्पणी करते हुए कहा था कि यूरोपीय यूनियन के रिफ्यूजियों को अपने घर लौट जाना चाहिए।

इस टिप्पणी पर भी सफाई देते हुए कहा गया है कि उनकी इस बात को गलत समझा गया।

बयान के मुताबिक,

“वो इसकी प्रशंसा करते हैं कि ज़्यादातर लोग जिन्होंने अपना देश छोड़ा है अब वापस जाना नहीं चाहते हैं।”

उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लेकर भी बयान दिया। उन्होंने कहा कि

“डोनाल्ड ट्रंप के विचारों में नैतिकता नहीं है और वो जिस मुकाम पर हैं उन्हें सिर्फ अमेरिका के नहीं बल्कि सारे विश्व के बारे में सोचना चाहिए।”

अमेरिका के राष्ट्रपति, डोनाल्ड ट्रंप, फोटो सोर्स: गूगल

लेकिन इस बात पर उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। वैसे महिलाओं को लेकर जो बयान दलाई लामा ने दिया था वो बेशक सुनने में तो विवादात्मक लगता है लेकिन अगर इंटरव्यू देखा जाए तो उसमें दलाई लामा इसकी वजह पूछे जाने पर हंसते हुए कहते हैं कि –

“अगर कोई महिला दलाई लामा बने और वो खुश दिखेगी तो लोग भी उसे देख कर खुश होंगे, अगर वो दुःखी दिखेगी तो दुःखी व्यक्ति को कोई क्यों देखना पसंद करेगा।”

खैर इस बात को लेकर माफी मांगी जा चुकी है और आगे इस बात पर कोई और टिप्पणी नहीं की गयी है।