इंडियन क्रिकेटर में अगर इस वक्त किसी खिलाड़ी की सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है तो, वो हैं महेन्द्र सिंह धोनी। धोनी के बारे में कई तरह के सवाल सामने आ रहे हैं। या ये कहें कि धोनी को लेकर हर कोई अलग-अलग सवाल किए जा रहा है। पहला सवाल ये है कि एम एस धोनी अब क्रिकेट मैदान पर दिखेंगे या नहीं? इसके साथ एक और सवाल किया जा रहा है कि क्या धोनी का क्रिकेट करियर खत्म हो चुका है? इसी बात को और तूल उस वक्त मिल गया जब एक इवेंट के दौरान धोनी से रिटायरमेंट को लेकर सवाल किए गए। धोनी का कहना था कि अभी जनवरी तक मत पूछना। 

एक इवेंट के दौरान एम एस धोनी, फोटो सोर्स: गूगल

एक इवेंट के दौरान एम एस धोनी, फोटो सोर्स: गूगल

आखिरी बार धोनी को इंग्लैंड में खेले गए विश्व कप के सेमीफाइनल में देखा गया था। इसके बाद धोनी आराम के नाम पर बाहर चल रहे हैं। अगस्त महीने में धोनी ने भारतीय सैनिकों के साथ कुछ समय बिताया। उस वक्त तक उनके क्रिकेट मैदान से दूर होने की वजह साफ समझ भी आ रही थी और दिख भी रही थी। लेकिन, अब किस बात को लेकर वो मैदान से बाहर हैं, इसकी कोई खास वजह सामने नहीं आ पा रही है।

जब BCCI के अधिकारी या किसी क्रिकेटर की प्रेस कॉन्फ्रेंस होती है जिसमें धोनी को लेकर सवाल भी पूछे जाते हैं। लेकिन, जवाब क्या आता है कि धोनी का खेलना या क्रिकेट को अलविदा कहना, सब उनका फैसला होगा। क्योंकि वो एक बड़े प्लेयर हैं और उन्होंने भारतीय क्रिकेट को बहुत कुछ दिया है। वहीं दूसरी तरफ एमएस के प्रसाद ने  बयान दिया था कि अब भारतीय टीम धोनी से आगे का सोच रही है इसलिए टीम में नए चेहरों को मौका दिया जा रहा है। इस बयान के बाद से ही यह बात भी होने लगी थी कि शायद अब धोनी का क्रिकेट करियर खत्म होने वाला है।

इन सब के बाद हेड कोच रवि शास्त्री ने भी जो बयान दिया है उसके और धोनी के बयान के बीच कनेक्शन देखा जा रहा है। रवि शास्त्री का कहना था कि,

यह निर्भर करता है कि धोनी कब खेलना शुरु करते हैं। वहीं दूसरे खिलाड़ी विकेटकींपिग में क्या करते हैं और धोनी के मुकाबले उनका प्रदर्शन कैसा रहता है। 

फोटो सोर्स: गूगल

फोटो सोर्स: गूगल

धोनी ने भी जनवरी तक का समय तय किया है। अब इस वक्त से जनवरी तक क्या होने वाला है उसके बारे में एक नज़र डाल लेना जरुरी है। दिसंबर में भारत का दौरा करने के लिए वेस्टइंडीज की टीम इंडिया आ रही है। भारत के साथ वेस्टइंडीज की टीम तीन टी-20 और 3 वनडे खेलने वाली है। इस सीरीज में भारतीय विकेटकीपर के तौर पर संजू सैमसन और ऋषभ पंत को शामिल किया गया है। इसके बाद भारतीय टीम श्रीलंका जाएगी जहां तीन टी-20 मैच खेले जाने हैं। उसके बाद ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत आने वाली है। 3 वनडे मैचों की सीरीज होनी है। यानि, जनवरी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली वनडे सीरीज तक धोनी उपलब्ध नहीं रहने वाले हैं।

धोनी और उनकी पत्नी साक्षी, फोटो सोर्स: गूगल

धोनी और उनकी पत्नी साक्षी, फोटो सोर्स: गूगल

धोनी की चर्चा इस बात से भी ज्यादा हो रही है क्योंकि टी-20 वर्ल्ड कप होने वाला है और भारतीय टीम में विकेटकीपिंग के लिए कोई ऑप्शन ऐसा फिलहाल नहीं है जो धोनी की जगह को भरता हुआ दिख रहा हो। क्योंकि ऋषभ पंत की लाचार विकेटकीपिंग और बल्लेबाजी चल ही रही है और संजू सैमसन को तो, अभी मौका ही नहीं दिया गया है। पंत को अपने आप को साबित करने के लिए 6 टी-20 मैच हैं। धोनी के बयान को देखें तो, जनवरी के बाद आईपीएल की धूम शुरु हो जाएगी। यानि, आईपीएल में धोनी जिस अंदाज में दिखेंगे, उनका वही अंदाज भारतीय टीम के लिए दरवाजा खोलेगा।

सौरव गांगुली भी बयान दे रहे हैं कि वह धोनी से बात करेंगे। लेकिन, जैसा चीफ सेलेक्टर एम एस के प्रसाद ने कहा था कि वह अब धोनी से आगे देख रहे हैं उसी बयान से धोनी के इस बयान को जोड़ा जा रहा है। मतलब धोनी को भी पता है कि IPL में प्रदर्शन करने के बाद ही तय होगा कि वह टी-20 में टीम का हिस्सा होंगे या नहीं। इसलिए आने वाला IPL काफी अहम होने वाला है। बस अब इंतजार कीजिए IPL का, शायद धोनी विकेट के पीछे कोहली को सलाह देते हुए नज़र आ सकते हैं।

ये भी पढ़े:-  विराट कोहली ने धोनी के रिटायरमेंट को लेकर क्या कहा है?